Placeholder canvas

द बेटर इंडिया के वीडियो का धमाल, 3डी घर बनाने वाले IITian को मिला आनंद महिंद्रा का साथ!

Anand Mahindra Helps IITian Adithya Vs

IIT Madras के पूर्व छात्र आदित्य वीएस ने अपनी कंपनी ‘Tvasta Manufacturing Solutions’ के तहत, देश के पहले 3डी घर को अंजाम दिया था। अब उनकी इस कोशिश में आनंद महिंद्रा ने भी मदद करने की इच्छा जताई है।

द बेटर इंडिया पर हम हर दिन बदलाव की सच्ची कहानियां लिखते हैं। हर कहानी के साथ, हमारे पाठकों की ज़िन्दगियों में जो बदलाव आ रहे हैं, उन्हें जानकार हमें बहुत ख़ुशी होती है।

सोनी टीवी के स्टार्टअप शो Shark Tank India को जिस तरह से लोगों का प्यार मिल रहा है, उसे देखकर भी हमें बेहद प्रसन्नता होती है, क्योंकि द बेटर इंडिया भी तो यही काम सालों से करता आ रहा है। हम बदलाव की इन कहानियों से आंत्रप्रेन्योर्स और इंवेस्टर्स के बीच की दूरी को मिटा रहे हैं।

इसी तरह, हमने अप्रैल 2021 में अपने पाठकों को भारत के पहले 3-डी प्रिटेंड घर से रू-ब-रू कराया था। जब यह कहानी महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन और पद्म भूषण से सम्मानित आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) तक पहुंची, तो वह इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने इसे फंड करने का मन बना लिया।

Anand Mahindra ने खुद मांगी स्टार्टअप में जगह

इस डिजाइन को IIT Madras के पूर्व छात्र आदित्य वीएस ने, संस्थान के परिसर में ही एक 1BHK घर बनाकर अंजाम दिया था। इस घर को उन्होंने सिर्फ 21 दिनों में ही बना लिया था। आदित्य डीप टेक स्टार्टअप, ‘Tvasta Manufacturing Solutions’ के फाउंडर और सीईओ हैं।

उनकी कहानी को हमने एक वीडियो के जरिए लोगों के सामने रखा था। जब यह वीडियो, सोशल मीडिया पर नई प्रतिभाओं को बढ़ावा देने के लिए लोकप्रिय आनंद महिंद्रा तक पहुंचा, तो उन्होंने भी आदित्य की इस कोशिश में साथ देने की इच्छा जाहिर की।

आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने हाल ही में, अपने ट्विटर पर हमारे वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “मैं काफी समय से विदेशों में बने 3डी प्रिंटेड घरों को फॉलो कर रहा हूं। इस दिशा में भारत के बढ़ते क़दमों को देखकर खुशी हो रही है। मैं जानता हूं कि आपको सीड फंडिंग मिल गई है, लेकिन क्या मेरे लिए इसमें शामिल होने की कोई जगह है?” इस प्रतिक्रिया ने Tvasta कंपनी को भी चौंका दिया।

द बेटर इंडिया को कहा शुक्रिया

कंपनी के प्रतिनिधि ने इस बारे में बताया, “हमें आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) के ऑफिस से फोन आया था। एक स्टार्टअप के तौर पर, इस तरह से प्रोत्साहन और ध्यान मिलना, हमें एक नई ऊर्जा देता है। हमें तब और भी ज्यादा हैरानी हुई, जब दिन खत्म होते-होते उनके प्रतिनिधि हमारी टीम से मिलने पहुंच गए। इससे हमें काफी कुछ सीखने को मिला है। फिलहाल बातचीत शुरुआती दौर में है और सबकुछ तय हो जाने के बाद, हम पूरी जानकारी साझा करेंगे। हम द बेटर इंडिया के आभारी हैं, जिनकी मदद से हमारी राह काफी आसान हो गई है।”

आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) के ट्वीट ने नेटिजन्स का ध्यान तेजी से अपनी ओर खींचा और IIT Madras से लेकर स्टार्टअप इंडिया तक ने इसको रीट्वीट करना शुरू कर दिया। 

इसे लेकर Tvasta के प्रतिनिधि ने कहा, “हमारे प्रोजेक्ट को जिस तरह से सराहा जा रहा है, वह हमारे लिए काफी उत्साहजनक है। हमें खुशी है कि लोग हम पर भरोसा जता रहे हैं और वे नई तकनीक के लिए बिल्कुल खुले हैं।”

वह अंत में कहते हैं, “अपना घर बनाना हर किसी का सपना होता है। अधिकांश लोग घर एक बार बनाते हैं, जो शायद उनकी जिंदगी का सबसे बड़ा और सबसे महत्वपूर्ण निवेश होता है। हमें यकीन है कि हम ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को उनके सपने को पूरा करने में मदद करेंगे।”

मूल लेख – हिमांशु नित्नावरे

संपादनः मानबी कटोच

यह भी पढ़ें – केरल : बाढ़ के बाद, इस टेक्नोलॉजी से बनें मात्र 5 लाख रूपये में घर!

We at The Better India want to showcase everything that is working in this country. By using the power of constructive journalism, we want to change India – one story at a time. If you read us, like us and want this positive movement to grow, then do consider supporting us via the following buttons:

Let us know how you felt

  • love
  • like
  • inspired
  • support
  • appreciate
X