क्विक बाइट्स (ख़ास खबरों में से चुनी हुई खबरे) हिंदी

महाराष्ट्र: इस गाँव के किसान तेंदुओं के पानी पीने के लिए बना रहे हैं टैंक!

महाराष्ट्र्र के पुणे में खेड़ा तालुका के रंमाला गाँव में एक किसान, निलेश शिवाजी शिंदे ने बेजुबान जंगली जानवरों के लिए एक पहल की शुरुआत की है। उन्होंने उनके लिए पानी के टैंक बनाये जहाँ हर दो दिन में पानी भरा जाता है ताकि इन जानवरों की प्यास बुझ सके।

क्विक बाइट्स (ख़ास खबरों में से चुनी हुई खबरे)

‘वीमेन ऑन व्हील्स’: 47 महिला पुलिस अफ़सर अब सम्भालेंगी हैदराबाद में सुरक्षा का जिम्मा!

हैदराबाद सिटी पुलिस ने महिला पुलिस अफसरों की एक पुलिस पेट्रोलिंग टीम लॉन्च की है जिसका नाम है ‘वीमेन ऑन व्हील्स।’ इनका मुख्य काम शहर में औरतों की सुरक्षा और उनके प्रति हो रहे अपराधों को कम से कम करना है। इस टीम में कुल 20 महिला अफसर हैं जो बाइक पर सवार होकर शहर में कानून-व्यवस्था का मुआयना करेंगी।

इतिहास के पन्नो से

प्रफुल्लचंद्र चाकी : देश पर मर मिटने वालों में एक नाम यह भी है!

प्रफुल्लचंद्र चाकी का जन्म 10 दिसंबर, 1888 को उत्तरी बंगाल के बोगरा जिला (अब बांग्लादेश में है) के बिहारी गाँव में हुआ था। उन्होंने खुदीराम बोस के साथ मिलकर ब्रिटिश अधिकारी किंग्स्फोर्ड की बग्घी पर बम फेंका। जिसके बाद उन्हें पुलिस ने घेर लिया था और ऐसे में प्रफुल्ल ने खुद को गोली मार ली और शहीद हो गये।

क्विक बाइट्स (ख़ास खबरों में से चुनी हुई खबरे) हिंदी

भारतीय रेलवे का नया प्रोजेक्ट; सिर्फ़ पाँच मिनट में भरा जायेगा ट्रेनों में पानी!

भारतीय रेलवे की ट्रेनों में पानी की समस्या को खत्म करने के लिए रेलवे ने एक नया सिस्टम शुरू करने का फैसला किया है। इसका बजट लगभग 300 करोड़ रूपये है। इस नए सिस्टम से केवल पांच मिनट में ट्रेन में पानी रिफिल हो जाया करेगा। पहले पानी भरने में लगभग 20 मिनट का समय लगता था।

क्विक बाइट्स (ख़ास खबरों में से चुनी हुई खबरे)

फ्लाइट के दौरान भारतीय डॉक्टर ने बचाई सहयात्री की जान; एयर फ्रांस ने किया सम्मानित!

कर्नाटक के मैसूर निवासी डॉक्टर प्रभुलिंगास्वामी संगनालमाथ कुछ समय पहले पेरिस से बंगलुरु की एयर फ्रांस फ्लाइट में सफ़र कर रहे थे। तभी अचानक फ्लाइट में एक यूरोपियन सहयात्री बेहोश हो गया। ऐसे में डॉक्टर ने तुरंत उसकी जान बचाई। डॉक्टर प्रभुलिंगास्वामी की समय रहते मदद के लिए एयरलाइन ने उनका धन्यवाद किया।

इतिहास के पन्नो से

डॉ. कोटणीस: विश्व-युद्ध के सिपाहियों का इलाज करते-करते प्राण त्याग देने वाला निःस्वार्थ सेवक!

डॉ. द्वारकानाथ शांताराम कोटणीस को द्वितीय चीन-जापान युद्ध (1937-1945) के दौरान उनकी सेवाओं के लिए चीन में बहुत सम्मान के साथ याद किया जाता है। भारत और चीन की मैत्री का प्रतीक माने जाने वाले डॉ. कोटणीस को चीन में राहत-कार्यों के लिए भेजा गया था।

क्विक बाइट्स (ख़ास खबरों में से चुनी हुई खबरे)

‘नानी तेरी मोरनी’ : नागालैंड की म्होंबेनी एज़ुंग की बहादुरी की सच्ची कहानी!

गुवाहाटी में आयोजित हुए ब्रह्मपुत्र वैली फिल्म फेस्टिवल में डायरेक्टर अक्षयदित्य लामा की फिल्म ‘नानी तेरी मोरनी’ की स्क्रीनिंग हुई। यह फिल्म साल नागालैंड की म्होंबेनी एज़ुंग की सच्ची कहानी से प्रेरित है। एज़ुंग साल 2015 में सबसे कम उम्र में राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार की प्राप्तकर्ता हैं।

शनिवार की चाय

सत्तर-अस्सी का एलबम!

चुपड़ी, कर्री, भाप उठती रोटी की धूप की बातें संदली शाम, महकी रात का घी पोर पोर में रवाँ रवाँ. ठुमकती भोर दिल के चोर अम्मा के राम पिताजी के सुबह के काम रेडियो पर गाने फुल्ली दीदी के फ़साने छत पर खिलती अचार की बरनियाँ साइकिल सुधारने वाले का स्वैग बनिए की दुकान की […]

इतिहास के पन्नो से

बाघा जतिन, जिनकी ‘जुगांतर पार्टी’ से तंग आकर अंग्रेज़ों ने बदल दी अपनी राजधानी!

जतिंद्रनाथ मुख़र्जी का जन्म बंगाल के कायाग्राम, कुष्टिया जिला (जो अब बांग्लादेश में है) में 7 दिसंबर 1879 को हुआ था। उन्हें सब ‘बाघा जतिन’ पुकारते थे। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में उनके योगदान को कभी नहीं भुलाया जा सकता है। उन्होंने ही ‘जुगांतर पार्टी’ का नेतृत्व किया। अंग्रेज भी बाघा जतिन से खौफ खाते थे।

क्विक बाइट्स (ख़ास खबरों में से चुनी हुई खबरे)

केवल प्लास्टिक के कचरे का सही प्रबंधन करके इस पंचायत ने कमाए 63 हज़ार रूपये!

केरल में इडुक्की जिले के नेदुमग्न्दम पंचायत ने हाल ही में, लगभग 4200 किलोग्राम रीसाइकल्ड प्लास्टिक कचरे को तारकोल बनाने वाली कंपनियों को बेचकर लगभग 63000 रूपये की कमाई की है। इस रीसाइकल्ड प्लास्टिक को तारकोल के साथ मिलाकर सड़क बनाने के लिए ‘क्लीन केरल कंपनी’ द्वारा इस्तेमाल किया जा रहा है।

क्विक बाइट्स (ख़ास खबरों में से चुनी हुई खबरे)

10 साल की सर्विस में 4 मेडल जीत चुकी पुलिस डॉग स्क्वाड की ‘रानी’ को मिला नया परिवार!

10 साल तक पुलिस फ़ोर्स में सेवारत रहने वाली ‘रानी’ को हाल ही में रिटायरमेंट मिली और साथ ही पुणे में रहने के लिए एक प्यारा-सा घर और परिवार।

इतिहास के पन्नो से

कालीमती : वह साहसी महिला जिसने किया था, भारत का पहला कानूनन विधवा-पुनर्विवाह!

ईश्वर चंद्र विद्यासागर जिन्होंने हिन्दू विधवा पुनर्विवाह का कानून पारित करवाया था। यह एक्ट जुलाई 1856 में पारित हुआ था। इसके बाद उन्होंने कोलकाता में 7 दिसंबर 1856 को एक विधवा लड़की कालीमती का पुनर्विवाह अपने एक साथी चंद्र विद्यारतना से करवाया था। यह देश में कानूनन पहला विधवा-विवाह था।

आविष्कार सेना

भारतीय सैनिकों को दुश्मन की नज़र से बचाएगा आईआईटी कानपूर का यह आविष्कार!

आईआईटी कानपूर के शोधकर्ताओं ने एक ऐसा ‘मेटामैटेरियल’ बनाया है जिसकी बनी वर्दी पहनने से या फिर जिसके बने कवर्स से अपनी जीप आदि ढकने से कोई भी राडार भारतीय सेना के जवानों को नहीं पकड़ पायेगा। दरअसल, यह मैटेरियल राडार किरणों को अपने में अवशोषित करने की क्षमता रखता है जिससे कोई भी दुश्मन जवानों का पता नहीं लगा पायेगा।

क्विक बाइट्स (ख़ास खबरों में से चुनी हुई खबरे) चिकित्सा

गाँधीनगर में बैठे डॉक्टर ने किया अहमदाबाद में ऑपरेशन; जानिए कैसे!

गुजरात के अहमदाबाद में कार्डियक सर्जन डॉ तेजस पटेल ने एक मरीज की टेलीरोबोटिक सर्जरी की। यह पूरे विश्व की सबसे पहली टेलीरोबोटिक सर्जरी थी। टेलीरोबोटिक सर्जरी मरीज से दूर एक जगह से रोबोटिकली उपकरणों को नियंत्रित करके की जाती है। यह कंप्यूटर टेक्नोलॉजी और उन्नत रोबोटिक्स द्वारा सक्षम है।

इतिहास के पन्नो से सेना

1971 युद्ध का वह सुरमा जिसे जिवित रहते हुए मिला था परमवीर चक्र!

मेजर होशियार सिंह दहिया का जन्म 5 मई, 1936 को सोनीपत, हरियाणा के एक गाँव सिसाना में हुआ था। साल 1957 में उन्होंने जाट रेजिमेंट में प्रवेश लिया और बाद में वे 3-ग्रेनेडियर्स में अफसर बन गए। साल 1971 में हुए भारत-पाकिस्तान युद्ध में उनके अदम्य साहस और बहादुरी के लिए उन्हें परमवीर चक्र से नवाज़ा गया।