Search Icon
Nav Arrow
Plants That Grow From Leaves

5 पौधे, जिन्हें आप पत्तियों से भी उगा सकते हैं

क्या आपको पता है कि बहुत से पौधों को आप सिर्फ पत्ती से भी उगा सकते हैं।

Advertisement

पौधे लगाने के कई तरीके हैं, जैसे बीज से पौधे लगाना या फिर कटिंग से। लेकिन क्या आपको पता है कि आप पत्तों से भी पौधे लगा सकते हैं? बहुत से पौधों को किसी टहनी की कटिंग से प्रोपेगेट किया जाता है। लेकिन ऐसे भी बहुत से पौधे हैं जिन्हें आप उनकी पत्तियों से भी उगा सकते हैं (Plants Grow From Leaves)। उत्तराखंड के हरिद्वार जिले के रहने वाले दीपांशु धरिया कहते हैं कि इन पौधों में ज्यादातर सक्यूलेन्ट और कैक्टस प्रजाति के अंतर्गत आने वाले पेड़-पौधे शामिल होते हैं। 

दीपांशु धरिया पिछले 6 वर्षों से बागवानी कर रहे हैं। उनका अपना एक यूट्यूब चैनल भी है, जिसके जरिए वह लोगों को बागवानी से संबंधित जरूरी टिप्स देते हैं। द बेटर इंडिया से बात करते हुए उन्होंने ऐसे पौधों के बारे में बताया जिन्हें आप उनकी पत्तियों से प्रोपेगेट कर सकते हैं। 

दीपांशु कहते हैं, “पत्तियों से पौधे लगाना लोगों को इसलिए मुश्किल लगता है क्योंकि इसमें काफी समय लगता है। साथ ही, इनकी बहुत देखभाल करनी पड़ती है। लेकिन अगर आप धैर्य रखें और सही से लगाएं तो आप पत्तियों से बहुत ही खूबसूरत पौधे लगा सकते हैं।” 

Deepanshu Dhariya Showing Plants that grow from leaves
Deepanshu

स्नेक प्लांट बहुत ही कॉमन पौधा है जिसे पत्तियों से प्रोपेगेट किया जाता है। अगर आपके पास इसकी एक इंच की भी पत्ती है तो भी आप इससे पौधा लगा सकते हैं। इसके अलावा, स्पाइडर प्लांट, एलोवेरा, जेड प्लांट, मनी प्लांट, क्रोटन, एचिवीरिया, कैलेंचो, कैक्टस, पत्थरचट्टा, रबर प्लांट आदि को भी आप पत्तियों से लगा सकते हैं। 

किन बातों का रखें ख्याल 

  • पत्तियों को प्रोपेगेट करने के लिए आपका पॉटिंग मिक्स बहुत ही हल्का और भुरभुरा होना चाहिए। 
  • पॉटिंग मिक्स के लिए आप मिट्टी में खाद, कोकोपीट या रेत मिला सकते हैं। इसके अलावा, अगर चाहें तो परलाइट, वर्मीक्युलाइट जैसी पोषक चीजें भी मिला सकते हैं।
  • पॉटिंग मिक्स तैयार करते समय, इसमें हल्का-सा फंजीसाइड मिला लें ताकि पत्तियां फंगस लगने से खराब न हों। 
  • पत्तियों को पॉटिंग मिक्स में लगाने के बाद ऐसी जगह रखें, जहां रौशनी हो लेकिन सीधी धूप न पड़े। 
  • पानी का विशेष ध्यान रखें। पानी हमेशा स्प्रे करके दें और सिर्फ उतना, जितने में पॉटिंग मिक्स में नमी बने रहे। 
  • अगर ज्यादा पानी होगा तो पत्तियां गलने लगती हैं। 

1. एलोवेरा 

Aloe Vera Plant in Pot
Aloe Vera (Source)

देश के अलग-अलग क्षेत्रों में एलोवेरा को घृतकुमारी, ग्वारपाठा, घीग्वार जैसे नामों से जाना जाता है। यह ऐसा औषधीय पौधा है, जिसे गमले में भी काफी आसानी से उगाया जा सकता है। इसे आप इसकी पत्ती की कटिंग से भी लगा सकते हैं। 

*सबसे पहले आप एलोवेरा की पत्ती की कटिंग लें। 

*इसे सूखने के लिए किसी छांव वाली जगह पर रख दें ताकि इसमें जो कट लगा है, वह सूख जाए। 

*सूखने के बाद इसे पॉटिंग मिक्स में लगाएं और स्प्रे करके पानी दें। 

*इसमें जड़े बनने में लगभग एक महीने तक का समय लग सकता है। इसलिए धैर्य रखें। 

*लेकिन जब आपकी पत्ती ऊपर की तरफ बढ़ने लगे तो आप समझ सकते हैं कि जड़ बनने की शुरुआत हो चुकी है। 

2. स्नेक प्लांट

Snake plant in pots can be grow from leaves
Snake Plant (Source)

हवा को शुद्ध करनेवाला यह पौधा एक ही कटिंग से विकसित हो जाता है। इसे आप मिट्टी या पानी में लगा सकते हैं। सबसे पहले आप एक पत्ते को लें, साफ़ करके इसे नीचे से सीधा काट लें। अब इस बड़ी पत्ती में से आप और एक-दो कटिंग कर सकते हैं। बस ध्यान रखें कि नीचे का हिस्सा कौनसा है।

*आप कोई छोटा/मध्यम आकार का गमला ले लें।

*गमले के तले में छेद होना चाहिए, जिस पर आप कोई कंकड़ या दिया रख दें और इसमें पॉटिंग मिक्स भरें।

*अब इसमें पौधे से ली हुई कटिंग लगा दें। 

*स्प्रे करके पानी दें। यह इंडोर प्लांट है तो इसे छांव वाली जगह पर ही रखें। 

*इसकी पत्तियों को विकसित होने में एक महीने या इससे ज्यादा समय लग सकता है। 

3. जेड प्लांट

Jade Plant
Jade Plant (Source)

जेड प्लांट सक्यूलेंट की किस्म है और इसे पत्तियों से लगाना बहुत ही आसान है। सक्यूलेंट पौधों की कुछ प्रजातियां, सजावटी पौधों के तौर पर उपयोग में आती हैं, तो कुछ घर की हवा को शुद्ध करने में सहायक होती हैं।

*सबसे पहले आप जेड प्लांट की पत्तियां लें और इन्हें एक-दो दिन छांव में सुखाएं।

*अब किसी चौड़े कंटेनर को लें, जिसके तले में छेद हों। इसमें पॉटिंग मिक्स भर दें। 

Advertisement

*कंटेनर में पॉटिंग मिक्स भरने से पहले, छेद पर आप कोई पत्थर रख सकते हैं।

*पॉटिंग मिक्स भरने के बाद, आप पत्तियों को इसके ऊपर रख दें। 

*इसके ऊपर से थोड़ा सा पानी स्प्रे कर दें।

*कंटेनर को ऐसी जगह रखें, जहां सीधी धूप न पड़े, लेकिन रौशनी अच्छी आती हो।

*पानी देते समय भी आपको ध्यान रखना है कि पानी बहुत ज्यादा न हो, क्योंकि ज्यादा पानी से पत्तियां गल जाएंगी।

*पत्तियों को विकसित होने में 15 दिन से एक महीने तक का समय लग सकता है। 

4. पत्थर चट्टा

Pattharchatta Plant
Pattharchatta Plant (Source)

पत्थर चट्टा भी औषधीय पौधों की सूची में शामिल होता है। यह दिखने में अच्छा लगता है और स्वास्थ्य के लिए भी बहुत गुणकारी होता है। इसकी पत्तियों के किनारे पर छोटी-छोटी बड्स आती हैं। जिन्हें आप अगर गमले में ही डाल दें तो इनसे भी पौधे लग जाते हैं। इसके अलावा आप किसी पत्ती की कटिंग ले लें। 

*पत्ती की कटिंग लेकर इसे एक-दो दिन छांव में सूखा लें ताकि जहां से काटी गयी है, वह जगह सूख जाए।

*अब एक छोटा गमला लें और इसमें पॉटिंग मिक्स भरें। 

*कटिंग को लगाएं और स्प्रे करके पानी दें। 

*ध्यान रहे कि पानी जरूरत के हिसाब से हो ताकि पत्ती गले नहीं। 

*कटिंग को विकसित होने में 15 से 20 दिन लग जाते हैं। 

5. रबर प्लांट

Rubber Plant
Rubber Plant (Source)

यह इंडोर प्लांट है, जो सजावटी होने के साथ-साथ हवा को शुद्ध भी करता है। इसकी ज्यादातर दो किस्में आपको मिल जाएंगी। इसे भी आप पत्तियों से लगा सकते हैं। 

*इसके लिए आप एक मध्यम आकार का गमला लें। 

*इसमें पॉटिंग मिक्स भरें और रबर प्लांट की पत्ती को लगा दें। 

*ध्यान रहे कि हमेशा स्प्रे करके पानी दें। 

*इसे रौशनी वाली जगह में रखें, लेकिन उस जगह सीधी धूप न पड़ती हो। 

*इसे विकसित होने में 15 से ज्यादा दिन का समय लग सकता है। 

तो देर किस बात की, अगर आपके आसपास ये सभी पौधे उपलब्ध हैं तो आज ही इनकी पत्तियां ले आइये और अपने घर में लगाएं। 

हैप्पी गार्डनिंग!

संपादन- जी एन झा

कवर फोटो

यह भी पढ़ें: न बीज खरीदें, न पौध, मुफ्त में लाये कटिंग और उगा दिए 400 पेड़-पौधे

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

Advertisement
close-icon
_tbi-social-media__share-icon