ऑफर सिर्फ पाठकों के लिए: पाएं रू. 200 की अतिरिक्त छूट ' द बेटर होम ' पावरफुल नेचुरल क्लीनर्स पे।अभी खरीदें
X
जानिए जून के महीने में लगा सकते हैं, कौनसी सब्जियां और कैसे करनी है देखभाल

जानिए जून के महीने में लगा सकते हैं, कौनसी सब्जियां और कैसे करनी है देखभाल

भोपाल में होम गार्डनिंग करने वाले शिरीष शर्मा, आज हमें बता रहे हैं कि जून के महीने में कौन-कौनसी सब्जियां लगायी जा सकती हैं।

देश के लगभग सभी कोनों में तापमान बढ़ रहा है। खासकर, गर्म इलाकों में लोग बेहाल हैं। गर्मियों में बागवानी करनेवाले लोगों की परेशानियां भी बढ़ जाती हैं। क्योंकि, बढ़ते तापमान में बहुत से पेड़-पौधे सूखने लगते हैं। लेकिन, क्या आपको पता है कि बहुत सी ऐसी साग-सब्जियां हैं, जिन्हें आप जून के महीने से लगाना शुरू कर सकते हैं।  

भोपाल में होम गार्डनिंग करने वाले शिरीष शर्मा, आज हमें बता रहे हैं कि जून के महीने में कौन-कौनसी सब्जियां लगायी जा सकती हैं। वह कहते हैं कि लोग इन सब्जियों को अपने घर की छत या बालकनी में, गमलों या कंटेनरों में आसानी से उगा सकते हैं। इस मौसम में आप लौकी, पेठा, शिमला मिर्च, बरबटी, सेम की फली, बैंगन, करेला, भिंडी, खीरा, अरबी, अदरक, पालक आदि उगा सकते हैं।

इन चीजों की होगी जरूरत: 

यदि आप सब्ज़ियों के पौधे गमले में लगा रहे हैं, तो सबसे पहले आपको पोषक तत्वों से भरपूर पॉटिंग मिक्स की जरूरत होगी। इसके लिए, आप सामान्य बगीचे की मिट्टी (50%), गोबर की खाद (30%) और कोकोपीट या नदी की रेत (20%) मिला लें। फिर इस पॉटिंग मिक्स में, दो मुट्ठी नीमखली ऊपर से मिला लीजिए। शिरीष कहते हैं कि अगर आप गमले में सब्जी उगाते हैं, तो बीज हमेशा अच्छी क्वालिटी के ही खरीदने चाहिए। इससे नतीजे काफी अच्छे मिलते हैं। आपको किसी भी एग्रीकल्चर स्टोर से, बीज असानी से मिल जाएंगे। 

लगा सकते हैं इन सब्जियों को:

1. बरबटी

शिरीष कहते हैं कि जून-जुलाई का महीना, बरबटी उगाने के लिए सबसे सही समय होता है। 

Grow Vegetables in June
बरबटी

  • सबसे पहले, आप बरबटी के बीजों को रातभर के लिए पानी में भिगोकर रखें। 
  • दूसरे दिन इन्हें सीडलिंग ट्रे में लगा दें। 
  • लगभग एक हफ्ते में बीज अंकुरित होने लगेंगे। 
  • लगभग 20 दिन बाद, पौधे ट्रांसप्लांट करने के लिए तैयार हो जायेंगे। 
  • अब, आप पौधों को 24 इंच के अलग-अलग गमलों या कंटेनरों में लगा सकते हैं। 
  • एक गमले में आप दो-तीन पौधे लगा सकते हैं, जिनके बीच की दूरी आठ इंच होनी चाहिए। 
  • बेलों को बढ़ने के लिए सहारे की जरूरत होती है। इसलिए, आप गमले में बांस की लकड़ियां लगा सकते हैं और इनमें जूट की रस्सियां बांधकर, बेल को सहारा दे सकते हैं। 
  • लगभग एक महीने में ही बेल फैलने लगती है और कुछ समय बाद, इस पर फूल भी आने लगते हैं। 
  • लगभग दो-ढाई महीने में आपको बरबटी मिलनी शुरू हो जाती है। 

सबसे जरूरी है कि आप बीज लगाने के बाद, नियमित तौर पर पानी देते रहें। एक महीने के बाद, आप पौधों में खाद देना भी शुरू कर दें।

2. सेम की फली

Grow Vegetables in June
सेम की फली

  • सबसे पहले, बीजों को रातभर के लिए पानी में भिगोकर रखें। 
  • दूसरे दिन बीजों को सीडलिंग ट्रे में लगा दें। 
  • 10 दिनों के बाद, पौधों को गमलों में लगा दें। 
  • सेम की फली उगाने के लिए 24 इंच का या उससे बड़ा गमला लें।  
  • गमलों में पॉटिंग मिक्स भरकर, पौधों को गमलों में लगाकर पानी दें। 
  • चार-पांच हफ्तों में, बेल अच्छी तरह से फैल जाती हैं और 50 दिनों के बाद, बेल में फूल आना शुरू हो जाते हैं। 
  • 60-70 दिन बाद, आपको बेलों से ढेर सारी सेम की फलियां मिलनी शुरू हो जाती हैं। 

3. खीरा 

Grow Vegetables in June
खीरा

  • सबसे पहले, खीरे के बीजों को कुछ घंटों के लिए भिगोकर रखें और फिर सीडलिंग ट्रे में लगा दें।
  • उनमें नियमित तौर पर पानी दें। 
  • लगभग दो हफ्तों में खीरे के पौधे बढ़ने लगेंगे। 
  • जब पौधों पर चार-पांच पत्तियां आ जाएं, तो आप पौधों को बड़े गमलों में लगा दें। 
  • इसके लिए, आप 24 इंच का या उससे बड़ा गमला ले सकते हैं। 
  • कोशिश करें कि एक गमले में एक ही पौधा लगाएं। 
  • पौधा लगाने के बाद, नियमित रूप से पानी देते रहें। 
  • लगभग एक महीने में खीरे की बेल फैलने लगेंगी। 
  • बेल को सहारा देने के लिए, आप गमले में बांस की लकड़ियां लगा सकते हैं। 
  • 50 दिनों बाद, बेल में फूल आना शुरू हो जाते हैं और छोटे-छोटे फल भी आने लगते हैं। 
  • लगभग 65 दिनों के बाद, आपको खीरे की उपज मिलने लगेगी। 

4. अरबी:

जून का महीना, अरबी उगाने के लिए भी सही होता है। अरबी के पत्तों और ट्यूबर (कंद) की सब्जी बनायी जाती है। अगर आप सिर्फ अरबी के पत्ते चाहते हैं, तो इसे किसी छोटे गमले में भी लगा सकते हैं। लेकिन अगर आप इसके ट्यूबर चाहते हैं, तो आपको इसे बड़े गमलों में लगाना चाहिए। 

Grow Vegetables in June
अरबी

  • सबसे पहले, बाजार से लायी कुछ अरबियों को छह दिनों के लिए एक भीगे हुए तौलिये में लपेटकर रख दें। 
  • इसे किसी अँधेरे वाली जगह पर रखें और बीच-बीच में ऊपर से पानी छिड़कते रहें। 
  • लगभग पांच-छह दिनों में, जब अरबी अंकुरित होने लगें, तब आप इन्हें बड़े कंटेनर में लगा सकते हैं। 
  • अरबी के लिए आपको ऐसा गमला या कंटेनर लेना चाहिए, जिसकी चौड़ाई अच्छी हो और गहराई भी ज्यादा हो। 
  • अब कंटेनर में पॉटिंग मिक्स भरें और अंकुरित अरबी को लगा दें।
  • नियमित तौर पर पानी देते रहें। लेकिन कभी ज्यादा पानी न दें, क्योंकि अगर कंटेनर में पानी ज्यादा होगा, तो पौधे खराब हो जायेंगे। 
  • लगभग दो महीनों में, अरबी के पौधे घने हो जाते हैं और तब आप इसके पत्ते काटकर इस्तेमाल में ले सकते हैं। 
  • लगभग चार-पांच महीनों के बाद, जब अरबी के पौधे बिल्कुल सूख जाएं, तब आप मिट्टी के नीचे से अरबी निकाल सकते हैं। 

5. अदरक: 

जून के महीने में, आप गमले में अदरक भी उगा सकते हैं। अदरक की फसल को तैयार होने में 10 महीने लगते हैं। अदरक लगाने के लिए, बड़े आकार की कुछ अदरक की गांठें आप बाजार से ले आएं। हर एक टुकड़ा, लगभग 20-40 ग्राम का होना चाहिए। साथ ही, ऐसे अदरक लेने की कोशिश करें, जिनमें से छोटे-छोटे अंकुर निकल रहे हों। 

Summer Vegetables
अदरक

  • सबसे पहले, 50% वर्मीकंपोस्ट (केंचुआ खाद) और 50% कोकोपीट मिलाएं और ऊपर से पानी छिड़कें। 
  • इस मिश्रण को छोटे गमले में भरकर, अदरक की गांठों को लगा दें और ऊपर से पॉटिंग मिक्स से ढक दें। 
  • गमले को ऐसी जगह रखें, जहां उसे बस सुबह दो-तीन घंटे की धूप मिले। 
  • एक महीने में अदरक की गांठों से पौधे निकलने लगते हैं। 
  • पौधों में नियमित रूप से पानी देते रहें और लगभग ढाई महीने बाद, पौधों को 20 इंच या उससे बड़े कंटेनर में, पॉटिंग मिक्स भरकर लगा दें। 
  • नियमित पानी देने के साथ-साथ, महीने में एक बार दो मुट्ठी गोबर की खाद भी डालें।  
  • लगभग 10 महीने बाद, आप अदरक की फसल ले सकते हैं। 

ज़मीन के मुकाबले गमलों में सब्ज़ियां, सीमित जगह और कम मिट्टी में उगाई जाती हैं। इसलिए अच्छे नतीजों के लिए, पौधों को पोषण से भरपूर जैविक खाद देने की जरूरत होती है। सभी सब्जियों के पौधों में, हर 15 दिन में एक बार गोबर की खाद, वर्मीकंपोस्ट या घर पर बनी खाद डालें और थोड़ी निराई-गुड़ाई भी करते रहें। पौधों को पानी देने का खास ख्याल रखना चाहिए। गर्मी के मौसम में, गमले की मिट्टी को कभी भी पूरी तरह से सूखने न दें। मिट्टी में हमेशा नमी बनाए रखें। रोजाना सुबह के समय पौधों में पानी डालें। सभी फल-सब्जियों के पौधों को धूप की ज़रूरत होती है, इसलिए गमलों को ऐसी जगह पर रखें, जहां कम से कम छह से आठ घंटे धूप आती हो। 

इस मौसम में सब्ज़ियों के पौधों पर ज़्यादातर सफेद कीड़े मतलब मीली बग्स (mealy bugs), एफिड्स (aphids), और स्पाइडर माइट्स (spider mites) लग सकते हैं। इनसे छुटकारा पाने के लिए, हर 15 दिन में एक लीटर पानी में पांच मिली नीम का तेल मिलाकर, सभी पौधों पर स्प्रे करें। 

अंत में, शिरीष कहते हैं कि इन सब्जियों के अलावा आप दूसरी सब्जियां भी, इसी तरह आसानी से लगा सकते हैं, इसलिए एक बार कोशिश जरूर करें। 

हैपी गार्डनिंग।

संपादन – प्रीति महावर

यह भी पढ़ें: Summer Gardening Tips: इन तरीकों से गर्मियों में रखें, अपने बगीचे को हरा-भरा

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

Let’s be friends :)
सब्सक्राइब करिए और पाइए ये मुफ्त उपहार
  • देश भर से जुड़ी अच्छी ख़बरें सीधे आपके ईमेल में
  • देश में हो रहे अच्छे बदलावों की खबर सबसे पहले आप तक पहुंचेगी
  • जुड़िए उन हज़ारों भारतीयों से, जो रख रहे हैं बदलाव की नींव