Search Icon
Nav Arrow
Summer Gardening Tips

Summer Gardening Tips: इन तरीकों से गर्मियों में रखें, अपने बगीचे को हरा-भरा

गर्मियों के मौसम में, देश के कई इलाकों का तापमान 40 डिग्री को भी पार कर जाता है। जिसका असर न सिर्फ हम लोगों बल्कि पेड़-पौधों पर भी पड़ता है। इसलिए, गर्मियों के मौसम में अपने पेड़-पौधों का ख्याल रखने के कुछ जरूरी टिप्स सीखिए, गार्डनिंग एक्सपर्ट एनेट मैथ्यू से।

गर्मियां शुरू होते ही देश के कई इलाकों का तापमान, 40 डिग्री को भी पार कर जाता है। इस तापमान को सहन कर पाना जहाँ लोगों के लिए मुश्किल होता है, वहीं पेड़-पौधों तथा पशु-पक्षियों के लिए भी इसे सहन करना बहुत मुश्किल हो जाता है। इस मौसम में, जिस प्रकार हमें ज्यादा धूप और गर्मी से अपना बचाव करना होता है, वैसे ही पेड़-पौधों का भी खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। बहुत से पेड़, ज्यादा गर्मी से मुरझाने लगते हैं। ऐसे में, आपको गर्मियों की शुरुआत से ही अपने बगीचे की देखभाल पर ध्यान देना चाहिये। अगर आप पहली बार बागवानी कर रहे हैं या बागवानी में आपको ज्यादा अनुभव नहीं है तो आज हम आपको बता रहे हैं कि कैसे आप गर्मियों में, अपने बगीचे को हरा-भरा (Summer Gardening Tips) रख सकते हैं। 

गर्मियों में पेड़-पौधों का ख्याल कैसे रखा जाए, इस बारे में हमने ठाणे की रहने वाली एक गार्डनिंग एक्सपर्ट, एनेट मैथ्यू से बात की। एनेट कहती हैं कि गर्मियों में पौधों को सिर्फ ज्यादा पानी देना ही काफी नहीं होता बल्कि आपको यह भी पता होना चाहिए कि पानी देने का सही समय क्या है। क्योंकि, अगर आप गलत समय पर पौधों को पानी देंगे तो उनके लिए फायदेमंद नहीं होगा। 

गर्मियों में कैसे रखें पेड़-पौधों का ख्याल: 

Summer Gardening Tips
एनेट मैथ्यू

1. पौधों की जगह बदलें: 

गर्मियों में ज्यादा समय के लिए कड़ी धूप पड़ती है। इसलिए जो पौधे तेज धूप नहीं झेल सकते हैं, उन्हें आपको किसी छांव वाली जगह पर रखना चाहिए। अगर आपके यहाँ कुछ बड़े छांवदार पेड़-पौधे हैं तो छोटे पौधों को आप इनकी छांव में भी रख सकते हैं।

2. पौधों के लिए लगा सकते हैं ‘बागवानी शेडनेट‘: 

पेड़-पौधों को कड़ी धूप से बचाने के लिए, आप अपनी बालकनी या छत के बगीचे के ऊपर, शेडनेट भी लगा सकते हैं। इससे तेज धूप सीधे पौधों पर नहीं पड़ेगी और पौधों को कोई नुकसान नहीं होगा। इसके साथ ही, ध्यान रखें कि आपके पौधे छत या बालकनी में, किसी मेटल की जाली को न छूते हों। क्योंकि, धूप से मेटल बहुत ज्यादा गरम हो जाता है। ऐसे में, अगर पौधों की शाखाएं या पत्ते लंबे समय तक, इस मेटल के संपर्क में रहें तो ये सूखने लगते हैं। इसलिए, आप कोशिश करें कि आपकी बालकनी या छत की जाली भी ‘ग्रीन नेट’ की छांव में हो या फिर आप इन पर अलग से कपड़ा डाल सकते हैं। 

3. पानी देने का रखें खास ख्याल

गर्मियों में पेड़-पौधों को ज्यादा पानी की जरूरत होती है और गमलों की मिट्टी जल्दी सूखने लगती है। इसलिए, आप पौधों को दिन में कम से कम दो बार पानी जरूर दें। लेकिन, यह भी ध्यान रखें कि हर पौधा दूसरे से अलग होता है। कुछ पौधों को ज्यादा पानी की तो कुछ को सामान्य मात्रा में पानी की जरूरत होती है। इसलिए, आप पानी अच्छे से दें लेकिन, यह इतना ज्यादा न हो कि आपके पौधे खराब होने लगें। 

ध्यान रखने योग्य बात है कि आप पौधों में सही समय पर पानी दें। गर्मियों में हमेशा सुबह और शाम में पानी देना उपयुक्त रहता है। अगर आप दोपहर में पानी देंगे तो तेज धूप और गर्मी के कारण, यह पानी जल्दी सूख जाएगा और पौधों को नहीं मिलेगा। लेकिन सुबह और शाम में दिया हुआ पानी, लम्बे समय तक मिट्टी में नमी बनाए रखता है। 

Summer Gardening Tips
पानी देने का एक तरीका

इसके अलावा, अगर आपको इतना समय नहीं मिल पाता है कि आप पौधों में बार-बार पानी दे सके तो आप कुछ #DIY तरीके अपना सकते हैं। जैसे- पुरानी प्लास्टिक की बोतल के ढक्कन में, छोटे-छोटे छेद करें और बोतल में पानी भरकर उसमें ढक्कन लगा दें। अब इस बोतल को गमले में पौधे के पास, उल्टा करके मिट्टी में लगा दें। ऐसा करने से, गमले की मिट्टी में लंबे समय तक नमी बनी रहेगी और बार-बार पानी देने की जरूरत नहीं होगी। 

4. पेड़-पौधों की शाखाओं और पत्तों पर भी करें पानी का छिड़काव

पौधों को पानी देने के साथ-साथ, इनकी शाखाओं और पत्तों पर भी पानी का छिड़काव करना अच्छा रहता है। इस काम के लिए आप कोई ‘स्प्रेयर’ ले सकते हैं। आप इससे पौधों पर, एक बार सुबह और दोपहर बाद तीन से चार बजे के बीच, पानी का छिड़काव कर सकते हैं। हालांकि, यह जरूर ध्यान रखें कि आप हर तरह के पौधों पर छिड़काव नहीं कर सकते हैं जैसे- सक्यूलेंट पौधों पर छिड़काव करने की जरूरत नहीं होती है। इसलिए, अपने पौधों की जरूरतों को समझने की कोशिश करें। 

5. पौधों के पास मटके या जार में पानी भरकर रखें

गर्मियों में अगर आप किसी खुले बर्तन में पानी रखते हैं तो उसमें वाष्पीकरण होता है। जिससे वातावरण में नमी बन जाती है। जब गर्मियां अपने चरम पर होती हैं तो आप अपने पौधों के पास, किसी कांच के जार, टब या मटके में पानी भरकर रख सकते हैं। इससे पौधों के आसपास के वातावरण में नमी बनी रहेगी और पौधों को हरा-भरा रहने में मदद मिलेगी। हालांकि, आपको हर दिन यह पानी बदलते रहना होगा ताकि इसमें कीट न पनपे। साथ ही, जिन पौधों को ज्यादा नमी की जरूरत होती है, उन्हें भी आप एक जगह साथ में रख दीजिए। ये पौधे एक-दूसरे की नमी बनाये रखने में मदद करते हैं। 

Summer Gardening Tips
इस तरह से ट्रे में पत्थर और पानी डाल कर, इसके ऊपर रखें गमला

इसके अलावा, आप किसी बड़ी ट्रे में कुछ छोटे-छोटे पत्थर डालकर, इसमें पानी भरें। पानी भरने के बाद, आप इन पत्थरों के ऊपर पौधों के गमलों को रख सकते हैं। इससे पौधों को लगातार नमी मिलती रहेगी। 

6. मल्चिंग 

गर्मियों के मौसम में पौधों के लिए ‘मल्चिंग’ काफी फायदेमंद रहती है। इसके लिए, आप सभी गमलों में पौधों को अच्छी तरह से पानी दें। फिर सभी गमलों में पौधों के चारों तरफ, सूखे पत्ते, घास-फूस या कोई गीला कपड़ा रख दें। इससे गमलों की मिट्टी में, लंबे समय के लिए नमी बनी रहेगी और बार-बार पानी देने की जरूरत नहीं पड़ेगी। लेकिन, मल्चिंग करते समय आप ध्यान रखें कि आप घास-फूस या पत्तों की परत हल्की रखें और इसके ऊपर आप लकड़ी की राख डाल सकते हैं। 

7. हर एक पौधे पर दें ध्यान 

मैथ्यू कहती हैं कि हर दो-तीन दिन में आपको, अपने बगीचे के सभी पौधों का निरीक्षण करते रहना चाहिए। इससे अगर किसी पौधे के पत्ते सूख रहे हैं या फिर कोई अन्य समस्या है तो आप उसका समय से हल निकाल पाएंगे। साथ ही बहुत से ऐसे पौधे होते हैं, जो पूरी देखभाल के बाद भी गर्मी सहन नहीं कर पाते हैं और मुरझा जाते हैं। अगर आपके कुछ पौधे खराब हो जाते हैं तो आप और कई नए पौधे लगाएं ताकि आपका बगीचा हरा-भरा रहे। 

हर पौधे पर दें ध्यान

क्या नहीं करना चाहिए

  • कोशिश करें कि आप गर्मियों के मौसम में ‘ठोस खाद’ पौधों को न दें। 
  • गर्मियों में पौधों को कभी भी ‘रीपॉट’ नहीं करना चाहिए। 
  • इसके अलावा, पौधों की छंटाई भी गर्मियां शुरू होने से पहले या गर्मियां खत्म होने पर करें। 

बनाएं लिक्विड खाद 

गर्मियों में हमेशा कोशिश करें कि आप लिक्विड खाद पौधों को दें। आप चाहें तो ‘सीवीड एक्सट्रेक्ट’ खाद, पानी में मिलाकर पौधों को दे सकते हैं। इसके अलावा, आप किचन से निकलने वाले जैविक कचरे जैसे- फल-सब्जियों और अंडे के छिल्कों से भी लिक्विड खाद बना सकते हैं। उन्होंने बताया, “कभी भी गमलों में छिल्कों को सीधा न डालें। हमेशा इनकी खाद बनाकर ही, पौधों में डालें। इससे पौधों को जल्दी पोषण मिलेगा।” 

इसके साथ ही, आप अपने बगीचे में पक्षियों के लिए खाना और अलग से पानी भी रखें। आपके घर में बड़े पेड़ हैं तो आप इनकी शाखाओ पर पक्षियों लिए ‘बर्ड फीडर’ लगा सकते हैं या फिर, अपनी छत और बालकनी में, किसी बर्तन में खाना और अलग से पानी भी रख सकते हैं। अंत में वह सिर्फ यही सुझाव देती हैं कि गर्मियों के लिए पौधों की देखभाल के नियम, आप अपने इलाके के तापमान के हिसाब से बनाएं। क्योंकि, कई बार ज्यादा देखभाल के चक्कर में भी, हम पौधों को खराब कर देते हैं। इसलिए, तापमान को ध्यान में रखकर और पौधों की जरूरत के हिसाब से ही उनकी देखभाल करें। 

पेड़-पौधों की देखभाल से जुडी अधिक जानकारी के लिए आप एनेट का यूट्यूब चैनल भी देख सकते हैं। 

हैपी गार्डनिंग!

संपादन- जी एन झा

यह भी पढ़ें: गार्डनिंग एक्सपर्ट ब्रह्मदेव कुमार से सीखें, घर पर जैविक NPK खाद बनाने के आसान तरीके

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

Summer Gardening Tips, Summer Gardening Tips, Summer Gardening Tips, Summer Gardening Tips

close-icon
_tbi-social-media__share-icon