Search Icon
Nav Arrow
home business

सास की रेसिपी से बहू ने शुरु किया बिजनेस, हर महीने हो रही है 5 लाख की कमाई

चेन्नई में रहने वाली सोनम सुराना ने अपनी सास की रेसिपीज से Prem Eatacy नामक ऑनलाइन फ़ूड बिज़नेस शुरु किया है, जहाँ वह घर में बनाए गोंगुरा चटनी और मोलागापोडी जैसे उत्पाद बेचती हैं।

Advertisement

स्वर्गीय प्रेम लता देवी के लिए शायद इससे बेहतर श्रद्धांजलि नहीं हो सकती थी, जैसी उनकी बहू, सोनम सुराना और बेटे, टीएस अजय ने उन्हें दी है। सोनम और अजय ने अपनी माँ के नाम पर एक कंपनी, ‘प्रेम इटसी‘ (Prem Eatacy) शुरु किया है। यहाँ से ग्राहक, घर का स्वादिष्ट खाना प्राप्त कर सकते हैं। नवंबर 2020 में शुरू की गई यह कंपनी (home business) अब तक 1500 से अधिक ग्राहकों को सेवा दे चुकी है। सोनम और अजय ने यह कंपनी अपनी माँ के द्वारा बनाए गए लजीज व्यंजनों की याद से प्रेरित हो कर शुरु की है।

द बेटर इंडिया से बात करते हुए अजय कहते हैं, “मैं माँ को स्वादिष्ट खाने से अलग नहीं कर सकता हूँ।” अजय की माँ, प्रेमलता बेहद स्वादिष्ट भोजन पकाती थीं। खाना इतना लज़ीज होता था कि परिवार का हरेक सदस्य उँगलियाँ चाटता रह जाता था।

home business
अजय और उनकी माँ

चाहे वह रोज़ का खाना हो या चटनी, मसाला पाउडर या अचार, प्रेमलता के हाथों में जादू था। वह जो कुछ भी बनाती थी, वह बेहद लजीज होता था।

अजय उस दिन को याद करते हैं, जिस दिन उनकी माँ ने दुनिया को अलविदा कहा था। वह कहते हैं, “जुलाई 2017 की बात है, उस दिन मेरा जन्मदिन था। उन्होंने खास तौर पर मेरे लिए मोलागापोडी (गन पाउडर) बनाया था। नाश्ते के बाद हम सब उनके साथ बैठे थे। अचानक उन्हें बेचैनी हुई और कुछ ही सेकंड में मेरी गोद में उन्होंने दम तोड़ दिया।”

प्रेम लता के निधन के एक साल बाद, अगस्त 2018 में सोनम सास के कमरे की साफ-सफाई कर रही थी, जब उन्हें अपनी सास की एक डायरी मिली, जिसमें उन्होंने कई व्यंजनों की रेसिपी लिखी हुई थी।

home business
प्रेमलता की लिखी एक रेसिपी

सोनम की, खाना पकाने में कुछ खास दिलचस्पी नहीं थी। वह बताती हैं, “लॉकडाउन के दौरान, जब से हम सभी घर में थे, मैंने कुछ व्यंजनों पर हाथ आज़माने और बनाने का फैसला किया। डायरी में उनकी सबसे पसंदीदा गोंगुरा चटनी से लेकर मशहूर मालगोपोडी तक, हर तरह की रेसिपी लिखी थी।” 

इसके बाद उन्होंने अपने पति, अजय के साथ मिल कर खाने को अलग-अलग कंटेनरों में पैक किया और करीबी रिश्तेदारों को बांटने चले गए।

सोनम बताती हैं कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि उनके रिश्तेदार उन्हें फोन करेंगे और उनके व्यंजनों को लेकर अपनी प्रतिक्रिया देंगे। वह बताती हैं, “तकरीबन हर एक रिश्तेदार ने हमें फोन किया और बताया कि उन्होंने खाने के स्वाद का भरपूर लुत्फ उठाया। उनकी प्रतिक्रिया हमें उत्साहित करने वाली थी।” फिर उन्होंने इसे बड़े स्तर पर करने का सोचा। सोनम बताती हैं कि उनके ससुर थे, जिन्होंने उन्हें खुद का कुछ (home business) शुरू करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि यह उनकी सास के लिए एक सच्ची श्रद्धांजलि होगी। एक अच्छी योजना के साथ सोनम और अजय ने अपना बिज़नेस शुरू किया।

बिजनेस की शुरुआत  

home business
सोनम अपनी सास प्रेमलता के साथ

सोनम कहती हैं, “मेरे ससुर के प्रोत्साहन ने मुझे उद्यमी बनने की दिशा में आगे बढ़ाया। इससे पहले, मुझे खाना पकाने में न तो ज़्यादा दिलचस्पी थी और न ही धैर्य था, लेकिन समय के साथ मुझमें बदलाव आया और मुझे खुशी है कि मैंने इसका लाभ उठाया।”

सोनम ने शहर में विभिन्न प्रदर्शनियों में स्टॉल लगाने के साथ शुरुआत की, जहाँ उन्हें काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिली। इससे सोनम को कुछ और ज़्यादा करने का प्रोत्साहन मिला। इससे उन्हें यह भी पता लगाने में मदद मिली कि बाजार क्या चाहता है और किन उत्पादों की बिक्री सबसे ज़्यादा है। 

Advertisement

सोनम कहती हैं, “मुझे रेसिपी और मेरी सास के विस्तृत नोट्स पर, बहुत भरोसा था। मुझे अपनी सारी प्रेरणा और शक्ति उन्हीं से मिलती है।” आज भी जब कोई उनके बनाए हुए उत्पाद की सराहना करता है, तब सोनम इसका सारा श्रेय अपनी सास को ही देती हैं। वह उन्हें इस विरासत को पीछे छोड़ने के लिए धन्यवाद देती हैं, जिसकी बदौलत आज वह ये सबकुछ कर पा रही हैं। 

सोनम कहती हैं, “मुझे लगता है कि वह हर कदम पर मेरे साथ हैं। अपने जीवनकाल में भोजन से संबंधित कुछ करना उनका सपना था, लेकिन वह नहीं कर सकी।”

home business
प्रेम इटसी के प्रोडक्ट्स

‘प्रेम इटासी’ (home business) में शुरुआती निवेश के बारे में पूछे जाने पर, अजय कहते हैं, “चूंकि हम अपने घर की रसोई से काम करते हैं, इसलिए हमें किराए पर जगह लेने के लिए निवेश नहीं करना पड़ा। इसलिए कंपनी को लगभग 10 लाख रुपये के शुरुआती निवेश के साथ शुरू किया गया था।” कंपनी (home business) के लिए सबसे खास यह है कि काफी कम समय में इसने अच्छी रफ्तार पकड़ ली है और ऑनलाइन रिटेल प्लेटफॉर्म से ऑर्डर प्राप्त करने में सक्षम रहे हैं। अजय ने यह भी कहा कि सिंगापुर और अमेरिका तक से ग्राहकों ने उनसे संपर्क किया है और उत्पाद की मांग की है।

कंपनी की शुरुआत महीने में 100 ऑर्डर पूरे करने के लक्ष्य के साथ की गई थी। अजय बताते हैं कि बिक्री के अपने पहले महीने में ही वे 5 लाख रुपये के करीब बनाने में सक्षम थे, यानी हर महीने 2000 से अधिक ऑर्डर मिले थे। सोनम और अजय का कहना है कि वे ग्राहकों के प्यार और प्रशंसा से अभिभूत हैं।

प्रेम इटसी की एक प्रशंसक और ग्राहक हैं नूतन श्रीमाल। नूतन मुंबई में रहती हैं और उन्होंने कई उत्पाद मंगाए हैं। वह कहती हैं, “हमने इस ब्रांड के लगभग हर उत्पाद का स्वाद चखा है, मैं उनकी गुणवत्ता की कायल हूँ। मेरी निराशा केवल एक चीज़ को लेकर हैं, वो ऑर्डर देने के बाद सामान मिलने में लगने वाला समय है।”

वह कहती हैं, “पुदीना-धनिया की चटनी, करी पत्ता पाउडर और मोलागापोडी, मेरे परिवार के साथ-साथ दोस्तों को भी बेहद पसंद है। बेशक यह एक स्टोर से खरीदा गया उत्पाद है, लेकिन इसका स्वाद घर पर बने खाने जैसा ही है। मेरे लिए यह सबसे बड़ी यूएसपी है।”

आज तक, ब्रांड ((home business)) की अपनी सूची में अचार, पोडी (पाउडर) और चटनी की 21 किस्में हैं। 175 रुपये से 225 रुपये के बीच कीमत पर, कुछ बेस्टसेलर में हिंग चटनी, मोलागापोडी और पुदीना धनिया चटनी शामिल हैं।

ये सभी उत्पाद ऑनलाइन रिटेल प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है, आप उनके उत्पादों को खरीदने के लिए उनकी वेबसाइट पर जा सकते हैं।

मूल लेख- विद्या राजा

संपादन- जी एन झा

यह भी पढ़ें – 18 तरह के अनाजों से बनाया हेल्दी मिक्स, अब घर बैठे ही कमा लेती हैं लाखों

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

Advertisement
_tbi-social-media__share-icon