ऑफर सिर्फ पाठकों के लिए: पाएं रू. 200 की अतिरिक्त छूट ' द बेटर होम ' पावरफुल नेचुरल क्लीनर्स पे।अभी खरीदें
X
छुट्टियों पर जा रहे हैं तो कैसे दें पौधों को पानी और कैसे करें देखभाल, जानिए आसान तरीके

छुट्टियों पर जा रहे हैं तो कैसे दें पौधों को पानी और कैसे करें देखभाल, जानिए आसान तरीके

महाराष्ट्र में ठाणे की रहने वाली गार्डनिंग एक्सपर्ट, 37 वर्षीया एनेट मैथ्यू बता रही हैं कि आप छुट्टियों के दौरान, घर से दूर रहकर भी पौधों को पानी देने के साथ-साथ, उनकी देखभाल भी कर सकते हैं। पढ़िए ये लेख!

हम सभी छुट्टियां बिताने अक्सर घर से दूर जाते हैं। ऐसे में, बागवानी करने वाले लोगों के मन में, अपने पौधों को पानी न देने की चिंता बनी रहती है। एक-दो दिन की बात हो तो लोग ज्यादा नहीं सोचते हैं। लेकिन, अगर हफ्ते-दस दिन के लिए कहीं जाना पड़े तो आपको सोचना पड़ता है कि पौधों के लिए पानी (How To Water Plants) का इंतजाम कैसे किया जाए? आज हम आपको एक ऐसी गार्डनिंग एक्सपर्ट से रू-ब-रू करवाने जा रहे हैं, जो आपको इन समस्याओं के समाधान के लिए कुछ आसान टिप्स बताने वाली हैं। 

महाराष्ट्र में ठाणे की रहने वाली 37 वर्षीया एनेट मैथ्यू, लगभग आठ सालों से अपने घर में बागवानी कर रही हैं। उनके यहाँ अलग-अलग किस्म के लगभग 300 पेड़-पौधे हैं। इस काम में, परिवार के अन्य सदस्य भी उनका हाथ बंटाते हैं। इसके साथ ही, वह ‘गीक्स ऑफ़ ग्रीन‘ नाम से अपना गार्डनिंग यूट्यूब चैनल भी चलाती हैं।

मैथ्यू ने द बेटर इंडिया को बताया, “मेरी माँ और सास, दोनों को ही पेड़-पौधों से खास लगाव है। वे दोनों ही घर में पेड़-पौधे लगाती हैं। लेकिन, पहले मुझे बागवानी का कोई शौक नहीं था। शादी के बाद, अब से लगभग सात-आठ साल पहले, मैं अपने परिवार के साथ मसूरी गई थी। वहां एक रिश्तेदार के घर में मैंने बहुत ही खूबसूरत और अलग-अलग तरह के पेड़-पौधे देखे। उनके बगीचे से मुझे इतना प्यार हो गया कि मैंने भी अपने घर में पौधे लगाने का मन बना लिया और वहां से लगभग 40 सक्युलेंट पौधे लेकर लौटीं।”

How To Water Plants
एनेट मैथ्यू

हालांकि, शुरुआत में उन्हें जो भी पौधा खूबसूरत दिखता था, वह उसे अपने गार्डन में लगा देती थीं। लेकिन, जैसे-जैसे गार्डनिंग में उनक रूचि बढ़ी तो उन्होंने जाना कि उन्हें अपने घर के हिसाब से, पेड़-पौधे लगाने चाहिए ताकि उनका कोई भी पौधा खराब न हो। 

वह बताती हैं, “मैंने हर तरह के पेड़-पौधे लगाने की कोशिश की लेकिन, कुछ सब्जियों के पौधे पनप नहीं सके। क्योंकि, उन्हें अच्छी धूप की जरूरत होती है और मेरे घर में धूप बहुत ही सीमित समय के लिए आती है। इसलिए, मैंने तय किया कि मैं अपने घर के हिसाब से पौधे लगाऊंगी।” 

साल 2018 में, उन्होंने अपने गार्डनिंग यूट्यूब चैनल की शुरुआत की थी। हालांकि दो-चार वीडियो के बाद, उन्होंने लगभग आठ महीनों तक इस पर कुछ पोस्ट नहीं किया। क्योंकि, उस वक्त उन पर अपने छोटे बच्चों की जिम्मेदारी थी। लेकिन, एक दिन उन्होंने देखा कि उनकी एक वीडियो पर, लोगों ने काफी अच्छी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने फिर से एक बार कोशिश करने के बारे में सोचा और आज उनके चैनल के 60 हजार से अधिक सब्सक्राइबर हैं। 

आज द बेटर इंडिया के माध्यम से वह बता रहीं हैं कि अगर आपको छुट्टियों पर, कभी अपने घर और गार्डन से दूर जाना पड़े तो आप अपने पौधों के लिए पानी की व्यवस्था कैसे कर सकते हैं। मैथ्यू कहती हैं, “सबसे अच्छा हो, अगर आप अपने आसपास कोई ऐसा दोस्त या साथी बनाएं, जो आपकी तरह ही पेड़-पौधों से लगाव रखता हो। जो आपके न होने पर आपके गार्डन की देखभाल कर सके और जरूरत पड़ने पर, आप उनकी मदद कर सकें। इसलिए, हमेशा अपने आसपास के लोगों से मिलजुल कर रहें और बागवानी के लिए प्रेरित करते रहें।” 

How To Water Plants
छुट्टियों पर जाने से पहले अच्छी तरह से दें पौधों को पानी

इसके अलावा, उन्होंने और भी कई #DIY टिप्स साझा की हैं, जिनसे पौधों के लिए पानी की व्यवस्था की जा सकती है:

1. बनाएं कोई पौधा-प्रेमी दोस्त: 

मैथ्यू कहती हैं कि अगर आपकी गैरमौजूदगी में, कोई आपके पौधों को पानी दे सकता है तो उसके लिए, इस काम को आसान बनाने की कोशिश करें। 

  • सबसे पहले अपने पौधों को अलग-अलग श्रेणी में बांटे। जिन पौधों को बहुत ही कम पानी की जरूरत होती है, उन्हें साथ रखें, जिन्हें हफ्ते में दो-तीन बार पानी की जरूरत होती है, उन पौधों को साथ में रखें और जिन पौधों को नियमित पानी चाहिए, उन्हें भी छांट कर एक साथ रख दें। साथ ही, पौधों की पानी की जरूरत के हिसाब से, उन पर नोट लिखकर चिपका दें ताकि आपके दोस्त के लिए, उन पौधों पर पानी देना आसान हो जाये। 
  • अगर आपके पौधे सीधी धूप में हैं तो इन्हें उठाकर ऐसी जगह रखें, जहाँ इन्हें रोशनी मिले ताकि मिट्टी की नमी जल्दी खत्म न हो। कोशिश करें कि आपके घर में जितने भी पौधे हैं, उन्हें आप एक जगह रख दें ताकि आपके दोस्त को पेड़-पौधों में पानी डालते वक्त कोई परेशानी न आये। 
  • पानी देने के सभी उपकरणों को एक जगह तैयार करके रख दें ताकि आपके दोस्त को इन्हें ढूँढना न पड़े। 
  • अगर आप ज्यादा लम्बी छुट्टी पर हैं तो बीच-बीच में, अपने दोस्त से पौधों का हालचाल लेते रहें और उनका भी धन्यवाद करते रहें। 

2. #DIY वाटरिंग सिस्टम

  • जाने से पहले, अपने सभी पौधों को अच्छी तरह से पानी दें और इन्हें किसी छांव वाली जगह पर एक साथ रख दें। जहाँ इन्हें हल्की रोशनी मिले और ज्यादा समय तक पौधों में नमी बनी रहे। छुट्टियों पर जाने के एक हफ्ते पहले से ही, आप इन #DIY तरीकों को आजमाना शुरू कर दें ताकि आपको पता चले कि ये कितने कारगर हैं। 
  • आप पुरानी प्लास्टिक की कोई बोतल लें। इसके ढक्कन में सुई से कुछ छेद कर लें। अब इसमें पानी भरें और ढक्कन लगा दें। बोतल को उल्टा करके, गमले में पौधे के पास मिट्टी में गाड़ दें। इससे आपके पौधे को नियमित पानी मिलता रहेगा। लंबे समय तक मिट्टी में नमी रहेगी और पौधे सूखेंगे नहीं। 

How To Water Plants
बोतल को उल्टा करके लगाएं
  • अगर आपके घर में चौड़े टब हैं तो इनमें पानी भरें और अपने मिट्टी के गमलों पर लगे पौधों को इसमें रख दें। इससे गमलों की मिट्टी में नमी बनी रहेगी और अगर आप कुछ दिन पानी नहीं भी देंगे, तब भी पौधे सूखेंगे नहीं। हालांकि, खुले पानी में मच्छरों की समस्या हो सकती है इसलिए, आप एक कप पानी में 3% हाइड्रोजन पेरॉक्साइड और 3 बूंद बर्तन धोने वाला लिक्विड (डिशवॉश लिक्विड) मिला लें। इस घोल का स्प्रे, टब में भरे पानी पर कर दें। इससे पानी में मच्छर नहीं आएंगे। 
  • आप कोई रस्सी लीजिए या किसी पुराने सूती कपड़े को काटकर रस्सी बना लीजिये। अब किसी बर्तन में पानी भरें और गमले के पास रख दें। रस्सी का एक सिरा पानी के बर्तन में और दूसरा सिरा, गमले में पौधे की जड़ों के पास डालें। इससे भी आपके पौधों को लगातार पानी मिलता रहेगा।

How To Water Plants When on Vacation
रस्सी की मदद से दें पौधों को पानी

3. पॉटिंग मिक्स में करें बदलाव

*मैथ्यू कहती हैं कि अगर आपने अपने पौधों के लिए ऐसी मिट्टी बनाई हुई है, जिसमें से पानी बहुत जल्दी निकल जाता है तो आप मिट्टी में बदलाव करें। ऐसी मिट्टी बनाएं, जिसमें पानी को सोखने की क्षमता ज्यादा हो। इसके लिए, आप सभी गमलों की मिट्टी में कोकोपीट मिला सकते हैं। कोकोपीट मिलाने के बाद, पौधों को अच्छी तरह से पानी दें और इन्हें छांव में रख दें ताकि ज्यादा से ज्यादा दिनों तक नमी बनी रहे। 

*पौधों में नमीं बनाये रखने का एक अच्छा तरीका है मल्चिंग। इसके लिए, आप सभी गमलों में पौधों को अच्छी तरह से पानी दें और फिर सभी गमलों में पौधों के चारों तरफ, सूखे पत्ते, घास-फूस या कोई गीला कपड़ा रख दें। इससे गमलों की मिट्टी में, लंबे समय के लिए नमीं बनी रहेगी और बार-बार पानी देने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

4. रेडीमेड सिस्टम

Self watering system
Rep Image (Source)

मैथ्यू बताती हैं कि अमेज़न जैसे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर, पौधों को पानी देने के लिए बहुत से ‘रेडीमेड सिस्टम’ उपलब्ध हैं, जिनसे आपको खुद पौधों को बार-बार पानी देने की जरूरत नहीं पड़ती। जैसे कि टाइमर के साथ आने वाला ड्रिप इरिगेशन सिस्टम। इस सिस्टम को लगाने के लिए, आपको एक बार की लागत और अपना कुछ समय खर्च करना पड़ेगा। लेकिन फिर, आप अपने हिसाब से पौधों को पानी देने का समय निश्चित कर सकते हैं। टाइमर की मदद से पौधों को अपने आप, समय-समय पर पानी मिलता रहेगा। 

अगर आपको ज्यादा समय के लिए बाहर जाना पड़ता है तो आप एक बार की लागत लगाकर, अपने गार्डन के लिए ड्रिप इरीगेशन सिस्टम का सेटअप भी कर सकते हैं। 

तो देर किस बात की, आज ही आजमा कर देखिए इन तरीकों को। 

अधिक जानकारी के लिए आप मैथ्यू का यह वीडियो भी देख सकते हैं!

हैपी गार्डनिंग!

संपादन- जी एन झा

यह भी पढ़ें: Grow Air Plant: इस तरह से उगाएं घर में एयर प्लांट और करें देखभाल

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

How To Water Plants How To Water Plants How To Water Plants How To Water Plants How To Water Plants How To Water Plants How To Water Plants How To Water Plants

निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है.
Let’s be friends :)
सब्सक्राइब करिए और पाइए ये मुफ्त उपहार
  • देश भर से जुड़ी अच्छी ख़बरें सीधे आपके ईमेल में
  • देश में हो रहे अच्छे बदलावों की खबर सबसे पहले आप तक पहुंचेगी
  • जुड़िए उन हज़ारों भारतीयों से, जो रख रहे हैं बदलाव की नींव