in

Grow Tomatoes: जानिए जैसे घर में ही उगा सकते हैं ऑर्गेनिक टमाटर

बाजार से देसी टमाटर लाएं और उसके बीज से घर पर ही टमाटर उगाएं!

हमारी रसोई में टमाटर सदाबहार होते हैं। अगर कोई सब्ज़ी न भी तो तो मम्मी टमाटर की चटनी से खाने का स्वाद बढ़ा देती हैं। चटनी और सब्ज़ी ही क्या आप टमाटर से जैम, कैचअप, अचार और भी न जाने क्या-क्या बना सकते हैं। इस तरह से देखा जाए तो टमाटर बड़े ही काम की चीज़ है।

और भी अच्छा तब हो जब ये काम की चीज़ हमें बार-बार बाहर से न खरीदनी पड़े, यह तभी संभव है जब आपके घर में ही टमाटर का पौधा हो। आज भिवानी से उमेद सिंह हमें बता रहे हैं कि हम कैसे घर में ही टमाटर उगा सकते हैं। यह बहुत ही आसान है।

उमेद सिंह अपनी छत पर 40 से भी ज्यादा किस्मों के टमाटर उगा चुके हैं। उन्हें देशी और विदेशी किस्मों की तरह-तरह की सब्जियां उगाने का शौक है और वह पूरी तरह से जैविक तरीकों से सब्जियां उगाते हैं।

Umed Singh in his Garden

टमाटर उगाने के बार में सबसे पहला सुझाव उमेद सिंह यह देते हैं कि अगर आपको घर पर खरीदकर लाए हुए टमाटर से नए पौधे उगाने हैं तो कोशिश करें कि ये टमाटर हाइब्रिड न हों। हाइब्रिड टमाटर से अगर हम नए टमाटर उगाते हैं तो रिजल्ट अच्छे नहीं मिलते और लोगों को लगने लगता है कि उनसे गार्डनिंग नहीं होगी। आपको हमेशा देसी टमाटर से नए टमाटर लगाने चाहिए।

टमाटर के लिए कैसे करें पॉटिंग मिक्स तैयार:

उमेद सिंह कहते हैं कि अगर आप अपने गार्डन की कोई पुरानी मिट्टी ले रहे हैं या फिर कहीं से भी मिट्टी ला रहे हैं तो इसे कुछ दिन धूप में फैलाकर सूखा लें। 4-5 दिन तक इसे धूप में सुखाएं और बीच-बीच में पलटते रहें। इससे मिट्टी में अगर पुराने कोई रोग होते हैं तो वह खत्म हो जाता है। इसके बाद, आप मिट्टी में कोकोपीट या फिर लकड़ी का बुरादा भी मिला सकते हैं। अब इसमें लगभग 10% गोबर की खाद या वर्मीकंपोस्ट मिला लें।

Potting Mix = Soil+Compost/Vermicompost+Cocopeat/Wood Dust

आपका पॉटिंग मिक्स तैयार है। अब आप इसे गमलों में भर सकते हैं। ज़रूरी नहीं है कि आप बाहर बाज़ार से ही गमला खरीदें, आप पुरानी बाल्टी या प्लास्टिक का कोई बड़ा डिब्बा भी इस्तेमाल कर सकते हैं। ध्यान रहे कि ड्रेनेज के लिए आप इस गमले की तली में नहीं बल्कि नीचे की तरह से साइड में छेद करें। इससे आपको छेद दिखता रहेगा और अगर कभी यह बंद हो जाएगा तो आपके लिए खोलने में भी आसानी रहेगी।

आप इसमें मिट्टी भरकर गमला तैयार कर लें।

पौधे बनाएं:

टमाटर का पौधा तैयार करने के लिए उमेद सिंह सुझाव देते हैं कि आप या तो ताज़ा बीज खरीद लें या फिर देसी टमाटर का इस्तेमाल करें। अगर आप देसी टमाटर का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इससे भी टमाटर उगाना बहुत ही आसान है। आप टमाटर को सीधा वर्टीकल न काटकर, इसे हॉरिजॉन्टल तरीके से काटकर स्लाइस करें। इससे बीजों को नुकसान नहीं पहुंचेगा।

Cut Slices of Tomatoes

अब आपको पहले किसी छोटे गमले में पौधा तैयार करना चाहिए क्योंकि टमाटर का पौधा बढ़ता है और फैलता भी है तो एक बड़े गमले में आप एक ही टमाटर का पेड़ लगा सकते हैं। इसलिए आप पहले पौधा तैयार कर लें और फिर इसे ट्रांसप्लांट करें। पौधे के लिए आप कोई भी छोटे पेपर कप या फिर अखबार के बने प्लांटर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इन छोटे प्लांटर्स में आप पॉटिंग मिक्स डाल लें और अब इनमें टमाटर के स्लाइस सीधा रख सकते हैं या फिर इनमें से सिर्फ बीज निकालकर भी सीधा लगा सकते हैं। बीज लगाने के बाद आप ऊपर से हल्की-हल्की मिट्टी भी डाल दें और पानी छिड़काव करके दें।

Promotion
Banner
How to Grow Tomatoes
Plant slices in a small planter
  • अब इन प्लांटर्स को आप ऐसी जगह रखें जहाँ बहुत ज्यादा धूप न आती हो यानी की हल्की-हल्की छांव में।
  • नियमित रूप से पानी का छिड़काव करते रहें, बहुत ज्यादा पानी न भरें बस ज़रूरत के हिसाब से डालें।
  • 8-10 दिनों में टमाटर का पौधा तैयार हो जाएगा।

ट्रांसप्लांट करें:

पौधा तैयार होने के बाद इसे अलग-अलग थोड़े बड़े गमलों में लगाना होगा। पौधों को बहुत ही ध्यान से निकालें ताकि इनकी जड़ को कोई नुकसान न हो। एक पौधे को एक गमले में लगाएं और पानी दें।

How to Grow Tomatoes
Transplant sapling from the small planter

कैसे करें देखभाल:

  • पानी नियमित तौर पर दें और अगर आपके गमले की मिट्टी में नमी है तो आप एक-दो दिन के अंतराल पर भी पानी दे सकते हैं।
  • वैसे तो सब्ज़ियों के पौधे धूप में ही रखने चाहिए लेकिन अगर बहुत तेज धूप है तो आप हल्की छाँव में रख सकते हैं।
  • जब टमाटर का पौधा थोड़ा बड़ा होने लगे तो आप घर पर बने माइक्रो-न्यूट्रीएंट का स्प्रे करें। माइक्रो-न्यूट्रीएंट बनाने के लिए आप वेस्ट-डीकम्पोजर में गुड़, आंवला, और छाछ को मिलाकर रख दें। लगभग 1 महीने तक रहने दें और हर रोज़ इसे सीधी और उलटी दिशा में हिलाते रहें। एक ही बार में बनाकर आप इसे स्टोर कर सकते हैं।

  • इसके अलावा, आप फल और सब्जियों के छिलकों को भी पानी में भिगोकर रख दें और एक-डेढ़ हफ्ते बाद इस पानी को भी आप पेड़ों पर स्प्रे कर सकते हैं।
  • एक महीने बाद, जब टमाटर के पौधों पर फूल आना शुरू हो जाए तो आप हल्की सी गुड़ाई करके गोबर की या फिर घर पर बनी खाद डाल सकते हैं।
  • लगभग तीन महीने बाद आपको टमाटर मिलने शुरू हो जाएंगे और इसके दो-तीन महीने तक आपको फल मिलेंगे।

उमेद सिंह कहते हैं कि आप अलग-अलग बैच में भी पौधे लगा सकते हैं ताकि आपको ज्यादा समय तक टमाटर मिलता रहे।

वीडियो देखें:

कवर फोटो

यह भी पढ़ें: #गार्डनगिरी: छत पर उगाई 7 किलो की पत्तागोभी और टमाटर की 40 देशी किस्में!


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

Promotion
Banner

देश में हो रही हर अच्छी ख़बर को द बेटर इंडिया आप तक पहुँचाना चाहता है। सकारात्मक पत्रकारिता के ज़रिए हम भारत को बेहतर बनाना चाहते हैं, जो आपके साथ के बिना मुमकिन नहीं है। यदि आप द बेटर इंडिया पर छपी इन अच्छी ख़बरों को पढ़ते हैं, पसंद करते हैं और इन्हें पढ़कर अपने देश पर गर्व महसूस करते हैं, तो इस मुहिम को आगे बढ़ाने में हमारा साथ दें। नीचे दिए बटन पर क्लिक करें -

₹   999 ₹   2999

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है.

Govt. Jobs: 12वीं पास के लिए निकलीं 65 पदों पर भर्तियाँ, करें आवेदन

punjab farmer

सिर्फ पानी में सब्जियाँ उगाता है पंजाब का यह किसान, खेती के लिए छोड़ी लेक्चरर की नौकरी