क्या बीज से सेब का पौधा उगता है? जानें इस पौधे को घर में लगाने से जुड़ी जरूरी बातें

क्या बीज से सेब का पौधा लगाया जा सकता है? क्या उसमें फल उगेंगे? इन सारे सवालों के जवाब जानते हैं, गार्डनिंग एक्सपर्ट अनुपमा देसाई से।

how to grow apple seeds

होम गार्डनिंग और पौधों के शौकीन लोग समय-समय पर नए-नए प्रयोग करते रहते हैं। कुछ प्रयोग सफल होते हैं, तो कुछ नहीं। आमतौर पर कहा जाता है कि हर पेड़ की अलग प्रकृति और स्वभाव होता है। अगर आप उनके गुणों और ज़रूरतों को ध्यान में रखकर पौधा लगाते हैं, तो आप जरूर सफल होते हैं। अगर बात फलों और सब्जियों के पौधों की करें तो, इनके उगने और अच्छी ग्रोथ के लिए परागण, सही तामपान, सूरज की रौशनी, नमी आदि का बहुत बड़ा योगदान होता है। कुछ पौधे गर्म वातावरण में उगते हैं, तो कुछ ठंडे प्रदेश में। अगर इन पौधों को इनकी प्रकृति के विपरीत उगाया जाए, तो ये उग तो जरूर जाते हैं, लेकिन उनका विकास अच्छी तरह नहीं हो पाता और न ही उनमें फल आ पाते हैं। ऐसा ही एक पेड़ है सेब का, जो आमतौर पर ठंडे प्रदेशों में उगता है। कई लोग सेब का पेड़ घर पर ही उगाना चाहते हैं। 

अगर आप ठंडे प्रदेश में रहते हैं, तब तो सेब को गमले मेंं आसानी से उगाया जा सकता है। लेकिन, पिछले 10 सालों से अपने घर में गार्डनिंग करती आ रहीं, सूरत की अनुपमा देसाई को घर में सेब का पौधा लगाने की बड़ी तमन्ना थी। फिलहाल, उनके घर में तीन सेब के पौधे हैं। तो चलिए, उनसे जानें कि उनके पास सेब की कौन-कौन सी किस्में हैं और उन्होंने इसे कैसे लगाया। 

द बेटर इंडिया से बात करते हुए अनुपमा बताती हैं, “चूँकि गुजरात की जलवायु सेब उगाने के लिए अनुकूल नहीं थी। इसलिए मैंने इसे लगाने की हिम्मत कभी नहीं की।” सेब के पेड़ को अधिकतम 10 से 25 डिग्री के तापमान की जरूरत होती है। इसी तापमान में सेब के पेड़, फल भी अच्छे देते हैं। अनुपमा बताती हैं कि सूरत में ठंड या बारिश के समय अगर यह पौधा लगाया जाए, तो आराम से लग जाता है। लेकिन इसमें फल आएंगे, इसकी कोई गारंटी नहीं होती। हां, आपके गार्डन में एक सूंदर बोनसाई पौधा जरूर लग जाएगा। आप कलम या बीज से इस बोनसाई को लगा सकते हैं।  

बीज से कैसे लगाएं सेब का पौधा? 

वह बताती हैं, “बीज से लगे पौधे को बड़ा होने और फल आने में पांच से छह साल लग जाते हैं। वहीं, गर्म जगह पर इसमें फल आने में मुश्किल होती है। अगर सही तापमान मिले, तो बाजार जैसे बड़े सेब तो शायद न आ पाएं, लोकिन घर में लगे पौधों में भी फल आ सकते हैं।”

बीज से इसे लगाने के लिए, आप सेब के बीज को ट्राइकोडर्मा पाउडर की कोटिंग करके गमले में लगा सकते हैं। इससे बीज को अंकुरित होने में मदद मिलेगी।  

  • आप इसके बीज को, फ्रिज में रख कर भी अंकुरित कर सकते हैं।
  • सेब के सभी बीजों को निकाल कर तक़रीबन तीन हफ्तों तक फ्रिज में रखें।
  • तीन हफ्ते या महीने बाद, बीज को निकाल लें और इसे पानी में डुबोकर पांच-छह घंटे रखें। ध्यान दें, जो बीज तैर रहे हैं उसका उपयोग न करें।
  • अब बीज को गीले टावल में तकरीबन एक हफ्ते तक धूप से बचाकर किसी डिब्बे में भरकर रखें।
  • आप देखेंगे, हफ्ते बाद बीज अंकुरित होने लगेंगे। अब इसे गमले में लगाने का समय आ गया है।
  • आप 50% सामान्य मिट्टी, 50% कोकोपीट और वर्मी कम्पोस्ट के मिश्रण वाली पॉटिंग मिक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • आप गमले में एक-एक करके बीज लगाएं और ऊपर से थोड़ी सी मिट्टी और पानी डाल दें।
  • इसे तेज़ धूप से बचाकर रखें, लेकिन इसे तीन से चार घंटे की धूप मिलना भी जरूरी है।
  • करीब 10 दिनों के बाद, आप देखेंगे कि आपके बीज से पौधा निकल आया है।
  • पौधों को तीन से चार घंटे की धूप दें और नियमित पानी डालते रहें। ज्यादा पानी डालने से इसकी जड़ें सड़ जाएँगी, इसलिए जरूरत के हिसाब से ही पानी डालें।
  • अगर 20 से 22 डिग्री का अधिकतम तापमान मिले, तो यह पौधा लगभग पांच साल में फल भी देने लगेगा।

गुजरात की गर्मी में कैसे लगाया सेब का पौधा 

आप सोच रहे होंगें कि अनुपमा ने सूरत की गर्म जलवायु में सेब का पौधा कैसे लगाया और क्या इसमें फल आएंगे? तो इसका जवाब देते हुए, अनुपमा ने बताया कि  उन्होंने HRMN 99 नाम की किस्म के सेब का पौधा घर पर लगाया है। सेब की इस किस्म को हिमाचल के एक किसान, हरिमन शर्मा ने  विकसित किया है। यह 40 से 44 डिग्री की गर्मी में भी उग सकता है और इसमें फल भी आ सकते हैं। हरिमन शर्मा को इस खोज के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिल चुका है। 

हरिमन शर्मा

अनुपमा ने बताया, “जबसे मैंने इस नई किस्म के बारे में पढ़ा, तभी से मैं इस पौधे की खोज में लग गई। इसी साल मई महीने में मुझे यह पौधा सूरत की एक नर्सरी से मिला। जिसे मैंने बड़े ग्रो बैग में लगाया है।”

नर्सरी से लाए इस पौधे को उन्होंने, 50% सामान्य मिट्टी, 50% कोकोपीट और वर्मी कम्पोस्ट के मिश्रण वाली पॉटिंग मिक्स वाले गमले में लगाया है। चूँकि यह गर्म प्रदेश में भी विकसित हो सकता है, इसलिए इसे सामान्य धूप में रखें। वहीं किसी प्रकार के कीट आदि के बचाव के लिए वह नीम के तेल का नियमित छिड़काव करती हैं। उनका कहना हैं कि HRMN सेब के पौधे को अगर ज़मीन पर लगाया जाए, तो तकरीबन दो साल में फल आने लगते हैं।  वहीं गमले में लगे पौधे में फल आने में पांच साल लग सकते हैं। 

अगर आप गर्म प्रदेश में रहते हैं और अपने घर में सेब का पौधा बोनसाई के तौर पर लगाना चाहते हैं, तो बीज से लगा सकते हैं। और अगर घर में उगे सेब का स्वाद चखना है, तो अपने आस-पास की नर्सरी से आप HRMN 99 किस्म के पौधे को लाकर लगाएं। 

साल 2017-2018 में HRMN 99 सेब की किस्म को देश के हर हिस्से में भेजा गया था, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसकी खेती कर सकें और सेब गर्म प्रदेशों में भी उगाया जा सके।

 हैप्पी गार्डनिंग

संपादनः अर्चना दूबे

यह भी पढ़ें: लाल भिंडी, ड्रैगन फ्रूट, तरबूज, स्ट्रॉबेरी समेत 30 तरह की सब्जियां उगाई छत पर

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।