Search Icon
Nav Arrow
AI Device to Cook Food and Rice

साउथ इंडियन से लेकर बटर चिकन तक, अब चुटकियों में ताजा खाना बना देगी यह मशीन

इन Ready to Cook प्रॉडक्ट्स और AI डिवाइस से आपका खाना चुटकियों में बन जाएगा।

Advertisement

बहुत से लोग अक्सर सोचते हैं कि ऐसी कोई मशीन हो, जिससे हर तरह की डिश झट-पट बन जाए। खासकर, ऐसे लोग जिनके पास ज्यादा समय नहीं होता। या फिर पढ़ाई-नौकरी के सिलसिले में दूसरे देशों में रहनेवाले युवा, जिन्हें भारतीय खाना आसानी से नहीं मिल पाता है। इसी सोच पर काम करते हुए, बेंगलुरु का एक स्टार्टअप न सिर्फ कुछ मशहूर व्यंजनों के Ready to Cook उत्पाद बना रहा है, बल्कि एक ‘Plug and Play’ डिवाइस भी बनाया है। इस डिवाइस में आपको सिर्फ इन Ready to Cook उत्पाद की सामग्री रखनी होगी और यह आपको पारंपरिक विधि से व्यंजन पकाकर देगा। 

आपको भले सुनने में यह अजीब लग रहा होगा, लेकिन यह सच है। बेंगलुरु स्थित रकाका फूड टेक्नोलॉजीज ने यह अनोखा डिवाइस बनाया है, जो ऑटोमैटेड मोड में काम करता है। साल 2018 में इस स्टार्टअप को जयकृष्णन गणेशन ने अपने पिता आर. के. गणेशन के साथ शुरू किया था। द बेटर इंडिया के साथ बात करते हुए, उन्होंने अपने इस सफर के बारे में बताया। 

स्वीडन में पढ़ाई के दौरान आया आईडिया 

जयकृष्णन ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। 2014 में मास्टर्स की डिग्री के लिए वह स्वीडन गए। उन्होंने स्वीडन की लिंकोपिंग यूनिवर्सिटी से मास्टर्स की पढ़ाई की है। स्वीडन में उन्हें भारतीय भोजन की काफी समस्या हुई। उन्होंने बताया कि स्वीडन में भारतीय व्यंजन तो मिलते थे, लेकिन इनका स्वाद यूरोपियन लोगों के हिसाब से ही होता है। इस कारण, उन्हें बहुत बार परेशानी हुई।

Father and Son Duo Startup
Father-Son Startup Making Cooking Easy

जयकृष्णन कहते हैं, “इस बारे में मैंने अपने दोस्तों और जानने वालों से विचार-विमर्श किया। किसी ने आईडिया दिया कि खाना पकाने के लिए रोबोट बना लिया जाए, तो किसी ने कहा कि ग्रेवी बनाने के लिए कोई डिवाइस। लेकिन आखिरकार मैंने खुद कुकिंग सीख ली। पर वहां से दिमाग में यह आ गया कि इस कमी को हल करने के लिए कुछ किया जाना चाहिए।” 

साल 2017 में जयकृष्णन भारत लौट आए और एक फ़ूडटेक स्टार्टअप के साथ काम करने लगे। लेकिन उनका पूरा ध्यान इसी बात पर था कि कैसे वह कुकिंग को आसान बना सकते हैं और ग्लोबल लेवल पर ले जा सकते हैं। उन्होंने कहा, “काफी रिसर्च के बाद मुझे समझ में आया कि किसी भी व्यंजन को बनाने की तैयारी में सबसे ज्यादा मेहनत और समय जाता है। इसकी सभी सामग्री इकट्ठा करने में काफी समय लगता है। जैसे कि पास्ता बनाने के लिए आपको कई अलग-अलग चीजें चाहिए और इन्हें आपको ज्यादा मात्रा में ही खरीदना पड़ता है। आप सिर्फ उतनी ही चीज़ें नहीं खरीद सकते हैं, जितनी आपके डिश में लगेंगी। सबसे पहले मैंने इस पर काम करने की सोची।”  

जयकृष्णन ने यह आईडिया, अपने पिता के साथ साझा किया। उनके पिता, आर. के गणेशन इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हैं और उन्हें लगभग 40 सालों का इंडस्ट्रियल अनुभव है। वह बताते हैं कि साल 2018 में उन दोनों ने मिलकर ‘रकाका फ़ूड टेक्नोलॉजीज’ की नींव रखी। सबसे पहले उन्होंने ‘Ready to Cook’ प्रोडक्ट्स पर काम किया। उन्होंने अलग-अलग देशों की लगभग 200+ रेसिपीज के हिसाब से मिक्स तैयार किए हैं। इन्हें आप चाहे तो सामान्य तरीके से पका सकते हैं। इन प्रोडक्ट्स में सभी सामग्री, उतनी ही मात्रा में रखे गए हैं जितनी जरूरत है। इसलिए इनका स्वाद भी बढ़िया रहता है। 

Ready to Cook Bisibele Bath
Ready to Cook Products

उनके इन प्रोडक्ट्स का ट्रायल ले चुके वेंकटेश कहते हैं कि इन प्रोडक्ट्स को पकाने में न ज्यादा मेहनत लगती है और न ही समय। साथ ही, स्वाद में भी कोई बदलाव नहीं आता है। इसलिए ये बनाने में आसान होने के साथ-साथ, खाने में भी स्वादिष्ट हैं।

बनाया ‘प्लग एंड प्ले डिवाइस’ 

उन्होंने प्रोडक्ट्स और रेसिपी तो तैयार कर ली और इनके ट्रायल भी लिए। लेकिन इसके साथ ही, जयकृष्णन एक ऐसा डिवाइस भी बनाना चाहते थे, जिसमें सिर्फ लोगों को यह सामग्री रखनी पड़े और बाकी काम खुद हो जाए। अपनी इसी सोच पर काम करते हुए, उन्होंने कुछ समय पहले अपने पहले ‘प्लग एंड प्ले’ डिवाइस का मॉडल तैयार किया है।

Advertisement

“इसकी प्रेरणा हमें वीसीडी प्लेयर से मिली। जैसे वीसीडी प्लेयर में आपको सीडी लगानी होती है और आप किसी भी देश का गाना सुन सकते हैं। वैसे ही यह डिवाइस हमने बनाया, जिसमें आपको सिर्फ ये रेडी टू कुक प्रोडक्ट्स रखने हैं और कुछ समय बाद आपको तैयार डिश मिलेगी,” उन्होंने कहा। 

इस डिवाइस को बनाने के लिए जयकृष्णन ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) और क्लाउड कंप्यूटिंग जैसी तकनीकों का इस्तेमाल किया है। उन्होंने बताया कि इसमें आपको डिश सिलेक्ट करके इसकी सामग्री रखनी है। यह डिवाइस क्लाउड सर्वर में पहले से अपलोड रेसिपीज के हिसाब से सामग्री का इस्तेमाल करके डिश तैयार करेगा। इस तरह से आप कोई भी व्यंजन बना सकते हैं। अपनी इस तकनीक के लिए रकाका फ़ूड टेक्नोलॉजीज को पेटेंट भी मिल चुका है। अक्टूबर 2021 तक उनका यह डिवाइस, बाजार में लॉन्च के लिए तैयार होगा। 

Device to Cook Food
Device

जयकृष्णन कहते हैं, “शुरुआत में हमने अपनी बचत से ही काम शुरू किया था। लेकिन लगभग छह-सात महीने बाद, जब हमने अपने डिवाइस पर काम करना शुरू किया, तो हमें तीन एंजेल इन्वेस्टर से डेढ़ करोड़ रुपए की फंडिंग मिली। हमारे स्टार्टअप को आगे बढ़ाने में चंद्रशेखर जी का भी अहम् योगदान रहा है, जो पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं। फिलहाल, हमारे रेडी टू कुक प्रोडक्ट्स और डिवाइस का मॉडल तैयार है। जल्दी ही हम लोगों को यह डिवाइस उपलब्ध कराएंगे।” 

अपने डिवाइस को लोगों तक पहुंचाने के लिए जयकृष्णन सब्सक्रिप्शन मॉडल पर काम करेंगे। उनका कहना है कि यह डिवाइस लोगों को रेडी टू कुक प्रॉडक्ट्स के साथ किराए पर दिया जाएगा। अगर कोई दस प्रोडक्ट्स का सब्सक्रिप्शन लेता है, तो उन्हें ढाई हजार रुपए और 25 प्रोडक्ट्स का सब्सक्रिप्शन लेनेवालों को चार हजार रुपए देने होंगे। उनकी कोशिश अपने डिवाइस और प्रोडक्ट्स को ऐसे लोगों के बीच मार्केट करने की है, जो पढ़ाई कर रहे हैं या फिर नौकरी की शुरुआत और अपने घरों से दूर रह रहे हैं। इस डिवाइस की मदद से आप बिरयानी, आलू पोस्तो, मटर पनीर, मटन रोगन जोश, चेट्टीनाड चिकन, तिरुनेलवेली सोढ़ी कूझंबू, गुजराती कढ़ी, अमृतसरी पनीर आदि बना सकते हैं। 

अगर आप इस डिवाइस के बारे में अधिक जानकारी चाहते हैं या प्री-बुक करना चाहते हैं तो उन्हें jaikrishnan@rakaka.in पर ईमेल कर सकते हैं। 

संपादन- जी एन झा

यह भी पढ़ें: IIT कानपुर के ड्रोन ‘विभ्रम’ ने अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में जीते तीन अवार्ड

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

Advertisement
close-icon
_tbi-social-media__share-icon