in ,

मुंबई: ड्यूटी पर न होते हुए भी पुलिस अधिकारी ने बचाई घायलों की जान!

फोटो: मिड-डे

पने अक्सर सुना होगा कि एक पुलिस वाला कभी भी छुट्टी पर नहीं होता है। इसी बात को मुंबई में पुलिस सब-इंस्पेक्टर वाई.एस मुल्ला और डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस (डीसीपी) शिवदीप लांडे ने साबित कर दिखाया है।

दरअसल, रविवार की रात वानखेड़े स्टेडियम के पास हुए एक एक्सीडेंट में मुल्ला और लांडे ने दो घायल लड़कियों को समय रहते अस्पताल पहुंचाया।

रविवार को ड्यूटी खत्म कर मुल्ला अपने परिवार के साथ मरीन ड्राइव घूमने गयी थीं। “रात के लगभग साढ़े बारह बजे मैंने एक बाइक के फिसलने की आवाज सुनी और देखा कि दो लड़कियां एक्टिवा से गिर गयी हैं। उनका खून बह रहा था,” मुल्ला ने बताया

मुल्ला ने तुरंत लड़कियों के पास पहुंचकर उनकी मदद की। तभी डीसीपी लांडे भी वहां से गुजर रहे थे। उन्होंने सड़क के किनारे भीड़ देखी तो कारण पता करने आगे आये। उन्होंने लड़कियों को इस हालत में देख, तुरंत एक टैक्सी रुकवाई और खुद उन लड़कियों को अस्पताल लेकर गए।

इधर मुल्ला ने देखा कि डीसीपी के साथ कोई भी महिला पुलिसकर्मी नहीं है। इसलिए उन्होंने अपने परिवार को घर जाने के लिए कहा और खुद स्कूटी पर टैक्सी के पीछे-पीछे अस्पताल पहुंची। ताकि, किसी भी परिस्थिति में घायल लड़कियों की मदद हो सके।

Promotion

दोनों लड़कियों को जीटी अस्पताल में भर्ती कराया गया। लड़कियों की पहचान नेहा कनेकर (21 वर्षीय) और निशा वाघेला (18 वर्षीय) के रूप में हुई। बाद में पता चला कि दोनों लड़कियां अपने दोस्त तुषार गोले (24 वर्षीय) के साथ घूमने निकली थीं। तुषार बाइक चला रहा था और दोनों लड़कियां पीछे बैठी थीं।

हालाँकि, नेहा और निशा को दुर्घटना में काफी चोटें आयी हैं, लेकिन तुषार को कोई चोट नहीं आयी। इस मामले में कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गयी है क्योंकि यह आकस्मिक हुई घटना थी।

“हमारी मदद के लिए मैं पीएसआई मुल्ला और डीसीपी लांडे का पुरे दिल से शुक्रिया अदा करना चाहती हूँ। मैंने सुना कि मुल्ला ने ऑफ-ड्यूटी होते हुए भी हमारी मदद की,” नेहा कनेकर ने कहा

हम इन पुलिसवालों के हौसलों की सराहना करते हैं और उम्मीद करते हैं कि बहुत से लोग इनसे प्रेरणा लेंगें।


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर भेज सकते हैं।

 

शेयर करे

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है. निशा की कविताएँ आप https://kahakasha.blogspot.com/ पर पढ़ सकते हैं!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

अब रेलवे को भेजिए ट्रेन कोच और स्टेशन पर गंदगी की तस्वीरें, होगी तुरंत कार्यवाई!

यह अनोखा फैशन शो आपको बताएगा असली खूबसूरती के मायने!