in ,

बेटी की याद में कर्नाटक के स्कूल क्लर्क की पहल, उठा रहे हैं गरीब लड़कियों की शिक्षा का खर्च!

र्नाटक के कलबुर्गी के मकतमपुरा में स्थित एमपीएचएस सरकारी हाई स्कूल के क्लर्क बसवराज आज बहुत सी लड़कियों के लिए मसीहा बन गए हैं।

वह गरीब लड़कियों को शिक्षा के लिए साधन प्रदान कर उनका जीवन संवार रहे हैं। बसवराज की मदद से 45 लड़कियां शिक्षा प्राप्त कर पा रही हैं। वह स्कूल की 45 गरीब लड़कियों की फीस भरते हैं।

इन छात्राओं के माता-पिता फीस देने में असमर्थ हैं। यह लड़कियां पढ़-लिखकर आगे बढ़ सके इसलिए इनकी पढ़ाई का खर्चा बसवराज उठाते हैं।

दरअसल, अपनी बेटी की याद में उन्होंने यह पहल शुरू की है। उनकी बेटी धनेश्वरी का पिछले साल बीमारी के चलते देहांत हो गया था। उसी की याद में बसवराज ने इन गरीब लड़कियों के जीवन को सँवारने का फैसला किया।

एमपीएचएस सरकारी हाईस्कूल की छात्रा फातिमा ने कहा, ‘हम गरीब परिवारों से हैं और हम स्कूल की फीस का भुगतान नहीं कर सकते। बसवराज सर अपनी बेटी की याद में हमारी स्कूल फीस का भुगतान करते हैं। हम चाहते हैं कि उनकी बेटी की आत्मा को शांति मिले।’


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर भेज सकते हैं।

शेयर करे

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है. निशा की कविताएँ आप https://kahakasha.blogspot.com/ पर पढ़ सकते हैं!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

जानिए कौन हैं जादवपुर यूनिवर्सिटी के ‘मिलन दा’, जिनकी मृत्यु पर मिल रही है दुनियाभर से श्रद्धांजलि!

गुजरात: एक ऑटो-ड्राइवर ने 61 वर्षीय दिल के मरीज को लौटाए उसके 4 लाख रूपये!