in

घुटनों तक भरा पानी भी पंजाब पुलिस को ड्यूटी करने से नहीं रोक पाया; मिला सीएम से इनाम!

फोटो: दर्पण मैगज़ीन

पंजाब व हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ में बारिश के चलते लोगों को काफी परेशानियां उठानी पड़ रही हैं। सड़कों पर पानी भरने से यातायात तो जैसे थम गया हो। लेकिन हमारे देश में हर एक मुसीबत का सामना करके अपनी ड्यूटी निभाने वाले लोगों की कमी नहीं है।

चंडीगढ़ में भी यही हुआ। पिछले दिनों हुई बारिश के चलते जब ट्रैफिक बहुत बढ़ गया तो दो हैड कॉन्स्टेबल, गुरधेन सिंह और गुरदेव सिंह सड़कों पर घुटनों तक भरे पानी में खड़े होकर यातायात को संभालते नजर आये।

हालाँकि,  इन दोनों के प्रयासों पर उस समय ज्यादा किसी ने ध्यान नहीं दिया। पर सोशल मीडिया के चलते आज न केवल शहर में बल्कि पुरे देश में इनको सराहा जा रहा है।

18 जुलाई को अभिनेत्री व राजनेता गुल पनाग ने हेड कॉन्सटेबल की तस्वीर ट्वीट करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कप्तान अमरिंदर सिंह का ध्यान इनकी तरफ आकर्षित किया।

उनके ट्वीट के बाद कप्तान सिंह ने एडीजीपी को दोनों कॉन्स्टेबलों को सम्मानित करने के निर्देश दिए।

Promotion

दोनों हैड कॉन्स्टेबलों को 1000 रूपये व सर्टिफिकेट के नवाज़ा गया। इस पर दोनों सिपाहियों ने कहा कि हम केवल अपनी ड्यूटी कर रहे थे। उन्होंने गुल पनाग और मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया।


इसी के साथ पंजाब पुलिस ने एक नई पहल शुरू की है। पंजाब पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि नागरिकों द्वारा पुलिस वालों के लिए फीडबैक के आधार पर ‘पुलिस पर्सनेल ऑफ़ द वीक/मंथ’ चुना जायेगा। जिसे सर्टिफिकेट और नकद राशि से सम्मानित किया जायेगा।


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे।

शेयर करे

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है. निशा की कविताएँ आप https://kahakasha.blogspot.com/ पर पढ़ सकते हैं!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

मिलिए मुंबई के इस टैक्सी ड्राइवर से, जिसने अपने बेटे के साथ पास की ग्रेजुएशन!

यूपी का यह गांव है देश का पहला डिजिटल ‘पिंक विलेज’, प्रधान की कोशिशों ने बदली तस्वीर!