ISRO: मात्र 11 दिन में कर सकते हैं से यह Free Certificate Course

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (इसरो) ने छात्रों, शोधकर्ताओं, और प्रोफेशनल्स के लिए एक फ्री-सर्टिफिकेट कोर्स लॉन्च किया है। इस कोर्स का नाम है- Geo-processing using Python.

यह कोर्स इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ रिमोट सेंसिंग द्वारा संचालित किया जाएगा और जो भी छात्र इसे पूरा करेंगे, उन्हें इसरो द्वारा एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा। इस कोर्स के लिए कोई फीस नहीं है लेकिन सीट सीमित हैं और इसलिए पहले रजिस्ट्रेशन करने वालों को पहले मौका दिया जाएगा।

कौन कर सकता है आवेदन:

वैसे तो यह प्रोग्राम सभी के लिए अच्छा है लेकिन इन कोर्स से जुड़े लोगों के लिए यह काफी फायदेमंद रहेगा:

  • ग्रैजुएशन या पोस्ट-ग्रैजुएशन में अंतिम वर्ष के छात्र
  • केंद्र या राज्य सरकार के साथ टेक्निकल या साइंटिफिक स्टाफ
  • किसी यूनिवर्सिटी के शिक्षक या रिसर्चर
Free ISRO Course
Rep Image

कब से कब तक होगा यह कोर्स:

कोर्स की अवधि 11 दिन है। 18 जनवरी 2021 से 29 जनवरी 2021 तक यह कोर्स चलेगा।

क्या-क्या सिखाया जाएगा:

इस कोर्स के दौरान आप पाइथन से जुड़े अलग-अलग टॉपिक पढ़ेंगे जैसे GIS के बारे में, पाइथन प्रोग्रामिंग के बारे में और भी बहुत से टॉपिक कवर किए जाएंगे। कोर्स का उद्देश्य छात्रों को पाइथन प्रोग्रामिंग लिखना, पढ़ना और अन्य चीज़ों करना सिखाना है। यह कोर्स लेक्चर स्लाइड, वीडियो लेक्चर, ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर आदि के ज़रिए पढ़ाया जाएगा और वीडियो लेक्चर एक लिंक द्वारा ई-क्लास पर उपलब्ध कराए जाएंगे।

इस कोर्स के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

आवेदन करने के लिए यहाँ क्लिक करें

इस कोर्स के कोऑर्डिनेटर रवि भंडारी हैं, जिनसे आप 0135-2524108 पर या फिर ravi.bhandari@irs.gov.in पर संपर्क कर सकते हैं।

इस कोर्स में दाखिला लेने वालों से आग्रह है कि उनके पास कंप्यूटर/लैपटॉप हो और साथ ही एक अच्छा इंटरनेट कनेक्शन भी होना चाहिए।

संपादन – जी. एन झा 

यह भी पढ़ें: iFellowship 2021: IIT दिल्ली और AIIMS फ़ेलोशिप, हर महीने स्टाइपेंड में मिलेंगे रु. 60,000

 

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

Free ISRO Course, Free ISRO Course, Free ISRO Course

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है.
Posts created 1441

Related Posts

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top
सब्सक्राइब करिए और पाइए ये मुफ्त उपहार
  • देश भर से जुड़ी अच्छी ख़बरें सीधे आपके ईमेल में
  • देश में हो रहे अच्छे बदलावों की खबर सबसे पहले आप तक पहुंचेगी
  • जुड़िए उन हज़ारों भारतीयों से, जो रख रहे हैं बदलाव की नींव