Search Icon
Nav Arrow
प्रतीकात्मक तस्वीर

#नारी-शक्ति : भारत ही नहीं ‘ऑक्सफ़ोर्ड डिक्शनरी’ ने भी माना यह है ‘वर्ड ऑफ़ द ईयर’!

Advertisement

क्सफ़ोर्ड डिक्शनरीज़ ने ‘नारी-शक्ति’ शब्द को साल 2018 का ‘हिंदी शब्द’ चुना है। इसकी घोषणा शनिवार को जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में की गई। कई भाषा विशेषज्ञों की लंबी चर्चा के बाद इस शब्द को डिक्शनरी में शामिल कर लिया गया है।

इस शब्द का उद्भव संस्कृत भाषा से हुआ है। यह शब्द उन सभी महिलाओं का प्रतिनिधित्व करता है ‘जो अपनी ज़िंदगी की बागडोर खुद संभाल रही हैं।’

ऑक्सफ़ोर्ड डिक्शनरीज़ ने कहा, “मार्च 2018 में जब अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर भारत सरकार ने ‘नारी-शक्ति’ पुरस्कार का आयोजन किया था, तो इस शब्द पर काफ़ी चर्चा हुई और बहुत से लोगों का ध्यान इस शब्द पर गया था।”

इस शब्द का चयन ऑक्सफोर्ड डिक्शनरीज़ (भारत) ने भाषा विशेषज्ञों के एक सलाहकार पैनल की मदद से किया, जिसमें नमिता गोखले, रणधीर ठाकुर, कृतिका अग्रवाल और सौरभ द्विवेदी शामिल हैं।

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल की डायरेक्टर नमिता गोखले ने कहा कि ‘नारी-शक्ति’ शब्द में इस समय हमारे सभी संघर्ष, चुनौतियाँ और इनसे लड़कर मिलने वाली जीत की भावना निहित है।

Advertisement

पिछले कुछ समय में, हमारे देश में तीन तलाक, सबरीमाला विवाद जैसे मुद्दों पर औरतों ने जिस तरह से आवाज़ उठाई है और जिस तरह निडर हो वे आगे बढ़ रहीं हैं, उसके बाद से यह शब्द बहुत प्रयोग में आया है। इस शब्द की महत्वता और बढ़ते प्रयोग को देखते हुए ही यह फैसला लिया गया।

इससे पहले ‘आधार’ को साल 2017 का हिंदी शब्द चुना गया था।

यह भी पढ़ें – देश का अपना सबसे पहला बैंक, जहाँ सबसे पहले खाता खोलने वाले व्यक्ति थे लाला लाजपत राय!


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर भेज सकते हैं।

Advertisement
_tbi-social-media__share-icon