भारत में शादियों में भव्य आयोजन करने की प्रथा है। और इसी प्रथा को चलाये रखने के लिए हर बेटी का पिता उसी दिन से उसकी शादी के लिए पैसे जोड़ने लग जाता है जिस दिन बेटी का जन्म होता है। महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर के रहने वाले उद्योगपति मनोज मुनोत ने भी अपनी बेटी श्रेया की शादी के लिए पैसे जोड़े थे। पर ये सारे पैसे एक शानदार आयोजन में खर्च करने के बजाय उन्होंने एक बहुत ही नेक काम में लगाये।

मनोज मुनोत ने अपनी बेटी श्रेया की शादी पर खर्च किये जाने वाले पैसे 90 गरीब परिवारों को घर बनाकर दिए।

house

मनोज ने पहले अपनी बेटी की शादी पर 70 से 80 लाख रुपए खर्च करने का विचार किया था लेकिन बाद में एक दोस्त की सलाह पर उन्होंने शादी में फिजूल खर्च करने की बजाए गरीब लोगों के लिए घर बनाने का फैसला किया और अपनी बेटी की शादी बेहद सादे ढंग से की।

मनोज ने लासूर स्थित अपनी 60 एकड़ जमीन में से 2 एकड़ जमीन पर बेघर लोगों के लिए कॉलोनी तैयार की।

श्रेया ने भी अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा कि वह अपने पिता के इस फैसले से खुश हैं और ये उनकी शादी का सबसे बेहतरीन तोहफा है।

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें contact@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter (@thebetterindia) पर संपर्क करे।

शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.