Placeholder canvas

घर पर ही उगाएं ये 10 मसाले, जानें गमले में इन्हें उगाने का सही तरीका

spices in pot (1)

एक्सपर्ट से सीखें किचन के लिए कौन से मसाले आसानी से घर पर एक गमले में भी उगाए जा सकते हैं।

ज़रा सोचिए, कैसा हो अगर घर के किचन गार्डन से किचन के लिए मसाले भी मिल जाएं तो! यह सुनने में तो अच्छा लगता ही है साथ ही ऐसा करना भी ज्यादा मुश्किल नहीं है। जी हाँ! जिस तरह से आप अपने टेरेस या बालकनी गार्डन में फल और सब्जियां उगाते हैं, उसी तरह किचन के लिए कुछ जरूरी मसाले भी आराम से उगा सकते हैं। ज़रूरत है बस अच्छी धूप, पानी और थोड़ी सी देखभाल की।  

गुजरात, सूरत में टेरेस गार्डनिंग करनेवाली मीनल पंड्या कहती हैं कि जब से उन्हें गार्डेनिंग का शौक हुआ है, तब से वह कोशिश करती हैं कि ज्यादा से ज्यादा चीजें अपने गार्डन में ही उगा लें। उन्होंने बताया कि कुछ जरूरी मसाले उगाना तो इतना आसन है कि आप उसे एक पॉट में भी उगा सकते हैं।  

कई मसालों में तो कीड़े भी नहीं लगते, इसलिए ज्यादा ध्यान देने की जरुरत ही नहीं पड़ती। बस अच्छी धूप मिले, तो आप अपने परिवार के लिए जरूरी मसाले आराम से उगा सकते हैं।  

तो चलिए जानें किन मसालों को लगाना आसान है और क्या इसका प्रॉसेस…  

1. हल्दी- 

turmeric spice in pot
हल्दी

हल्दी एक ऐसी चीज़ है, जिसके बिना आपका किचन अधूरा माना जाता है। कई लोग ऐसे भी हैं, जो अपने गार्डन में गमले या फिर ग्रो बैग में हल्दी उगा रहे हैं।सर्दियों में आपको बाज़ार में आसानी से कच्ची हल्दी की गांठ मिल जाएगी। यह सबसे सही समय है हल्दी लगाने के लिए राइजोम इकट्ठा करने का। अगर अप्रैल में आप हल्दी लगाते हैं, तो मई या जून में स्प्राउटिंग होगी। हल्दी के पौधे को अच्छी धूप चाहिए होती है, इसलिए छत या बालकनी, जहाँ भी आप हल्दी लगाएं, ध्यान रहे कि वहाँ कम से कम 5-6 घंटे की अच्छी धूप मिले।

2. अदरक 

मार्च-अप्रैल में लोगों को अदरक लगाना चाहिए, क्योंकि इसके लिए थोड़ा गर्म मौसम अच्छा रहता है। दूसरी ज़रूरी बात है कि कभी भी बहुत ताज़ा अदरक उगाने के लिए न लें, बल्कि थोड़ी पुरानी अदरक लें, जिसमें हल्की-हल्की जड़ें आ रही हों। इसे बढ़ने के लिए ज्यादा जगह की जरूरत होती है।  इसलिए बड़ा गमला लें। अदरक की उपज आने में 6 से 8 महीने तक का समय लग जाता है। इसलिए अदरक उगाने में बहुत ही ज्यादा धैर्य और संयम की ज़रूरत होती है । जब हार्वेस्टिंग सीजन आता है, तो अदरक के पौधों की पत्तियाँ पीली पड़ जाती हैं और सूखने लगती हैं। इसका मतलब होता है कि आपकी अदरक तैयार है और आप इसे निकाल सकते हैं।

Ginger plant in pot
अदरक

3. जीरा

जीरा का पौधा ज्यादा बड़ा नहीं होता, इसलिए अगर आप चाहें तो इसे घर पर भी उगा सकते हैं। इसके लिए आपको अच्छे किस्म के बीज की ज़रूरत होगी। अगर अच्छे बीज होंगे, तो पौधा अच्छा होगा। मिट्टी, कोकोपीट, रेत और ऑर्गेनिक कम्पोस्ट से बढ़िया पॉटिंग मिक्स बनाएं और 10 इंच के गमले में इसका पौधा लगा सकते हैं। इसके पौधे को बड़ा होने दें, जिससे इसमें अच्छे फूल आएं और बीज तैयार हों। थोड़ी-थोड़ी कटिंग करते रहें, ताकि ज्यादा डालियां बनें और फूल भी ज्यादा हों। 

4. धनिया 

growing coriander in pot
धनिया

धनिया उगाना बेहद आसान है। मीनल कहती हैं कि गार्डनिंग करनेवाला हर इंसान धनिया जरूर उगाता है। इसे उगाने के लिए आप धनिया के बीज का इस्तेमाल करें। आप अगर इसे बढ़ने देंगे तो इसके फूल भी निकलेंगे और बीज भी बनेंगे। अगर आपको लम्बे समय के लिए धनिया उगाना है, तो बड़े गमले का चुनाव करें।  

5. मिर्च

मिर्च का पौधा उगाने के लिए आप पॉटिंग मिक्स में मिट्टी के साथ खाद, कोकोपीट और नीमखली भी मिला लें। अब मिर्च के बीज लें और इन्हें गमले में चारो तरफ छिड़क दें, ताकि ये थोड़ी-थोड़ी दूरी पर गिरें। अब इन बीजों को एकदम हल्की-हल्की मिट्टी डालकर ढक दें। पानी हमेशा स्प्रे से दें, ताकि बीज इधर-उधर न हो जाएं। एक बार बीज अंकुरित हो जाएं फिर इसे अच्छी धूप में रख दें। 20 दिनों में मिर्ची का पौधा बड़ा हो जाएगा और करीब दो महीने में इसमें मिर्च उगने लगेंगी।  

6. सौंफ 

fennel seed plant in pot
सौंफ 

मिट्टी, कोकोपीट, रेत और ऑर्गेनिक कम्पोस्ट मिलाकर आप घर में इस्तेमाल होने वाली सौंफ से ही इसके पौधे लगा सकते हैं। हाथ से मसलकर सौंफ के बीज को  मिट्टी में डालें और पानी का छिड़काव कर दें। सर्दियों में इसे लगाना अच्छा होगा।  इसे अच्छी धूप लगने दें, लेकिन गर्मयों में इसे तेज धूप से बचाएं। सौंफ का इस्तेमाल मुखवास के अलावा, छौंक देने में और मसाले के रूप में भी होता है।

7. सरसों

Mustard plant  in home kitchen garden
सरसों

सरसों के पीले फूल गार्डन में प्राकृतिक पॉलिनेशन को बढ़ाने में मदद करते हैं, साथ ही इससे गार्डन की खूबसूरती भी बढ़ती है। सरसों का साग उगाने के लिए आप घर के किचन में रखे राई के दाने भी उपयोग में ले सकते हैं। ठंड में इसके ताज़ा पत्तों का आनंद लें और अगर इसे बड़ा करते हैं, तो इसके फूल से दाने भी निकलते हैं। इसे आप किसी पुराने टायर या छिछले गमले में भी लगा सकते हैं। आप 60% साधारण मिट्टी, 20% रेत और 20% वर्मीकंपोस्ट या गोबर की खाद मिलाकर इसकी पॉटिंग मिक्स बनाएं।  

8. लहसुन

garlic plants in grow bags

लहसुन का पौधा आराम से सर्दियों में उग जाता है। इसे उगाने के लिए ज्यादा मेहनत भी नहीं करनी पड़ती। घर में पड़ें लहसुन की कलियों से ही इसे उगाया जा सकता है। आप छोटी सी ट्रे या चार इंच के पॉट में भी इसे लगा सकते हैं।  इसके हरे पत्त्ते भी रसोई में इस्तेमाल किए जाते हैं। वहीं, इसकी जड़ में बनी कली भी काफी इस्तेमाल होती है। इसे सामान्य मिट्टी या फिर कोकोपीट में भी उगा सकते हैं।   

9. तेजपत्ता

भारतीय किचन में मसाले के रूप में तेजपत्ते का इस्तेमाल काफी किया जाता है। तेजपत्ता एक ऐसा पत्ता है, जिसका उपयोग हर तरह के व्यंजन का स्वाद बढ़ा देता है और खाने में एक खास फ्लेवर आता है। इसे बीज से ही लगाया जाता है। यूं तो ये एक बड़ा पेड़ होता है, जिसे गर्म वातावरण पसंद है। लेकिन अगर आपके घर में धूप अच्छी आती है और जगह भी काफी है, तो आप इसे बड़े ग्रो बैग में आराम से लगा सकते हैं। ये साल भर आपको पत्ते देता रहेगा। गर्मियों में इसे लगाना अच्छा होगा। 

Indian spice bay leaf in home garden

10. रोज़मेरी

आप आसानी से गमले में रोजमेरी का पौधा उगा सकते हैं। इसके बीज आपको आसानी से बीज भंडार या ऑनलाइन  मिल जाएंगे। इससे आपके गार्डन में एक अच्छी खुशबू तो आएगी ही, साथ ही इसके पत्तों में कई तरह के औषधीय गुण होने के कारण आपके घर की हवा भी शुद्ध हो जाएगी। आप मिट्टी और खाद को बराबर मात्रा में मिलाकर इसे ठंड की शुरुआत के समय छह इंच के गमले में भी लगा सकते हैं। 

तो देर किस बात की आप भी अपने गार्डन में उपलब्ध जगह के अनुसार, एक दो मसाले जरूर लगाने की कोशिश करें। आप अपने अनुभव हमसे भी जरूर साझा करें।  

हैप्पी गार्डनिंग!

संपादनः अर्चना दुबे

यह भी पढ़ेंः Grow Coleus Plant Indoor: ऐसे उगाएं रंग-बिरंगा, रफ एंड टफ और सबसे आसानी से उगने वाला यह पौधा

We at The Better India want to showcase everything that is working in this country. By using the power of constructive journalism, we want to change India – one story at a time. If you read us, like us and want this positive movement to grow, then do consider supporting us via the following buttons:

Let us know how you felt

  • love
  • like
  • inspired
  • support
  • appreciate
X