Search Icon
Nav Arrow

दुनिया के सबसे छोटे चार्टर्ड अकाउंटेंट बने भारत के १८ वर्षीय रमन!

चार्टर्ड अकाउंटेंसी कोर्स को पास करना काफी कठिन है, जिसे आमतौर पर २० की उम्र के बाद ही छात्र पास कर पाते हैं, लेकिन दुबई में एक भारतीय हाई स्कूल के छात्र रहे- रमन, दुनिया में सबसे कम उम्र में CA बन गए हैं।

रमन ने महज १८ साल की उम्र में इसे पास कर लिया और ये पहले ही प्रयास में सभी १४ पेपर में पास हुए हैं। ऐसा चार्टर्ड एकाउंटेंसी की परीक्षा में होना एक दुर्लभ बात है।

रामकुमार रमन मूलतः चेन्नई में  रहने वाले एक चार्टर्ड अकाउंटेंट के परिवार से हैं। उन्होंने सितंबर २०१२ से CA की कोचिंग और परीक्षा देना शुरू किया था और जून २०१५ में इसकी फाइनल परीक्षा दी।

Advertisement

वर्ष १९०४ में स्थापित ACCA( Association of Chartered Certified Accountants )  एक वैश्विक प्रोफेश्नल अकाउंटिंग संस्था है जो कि युवाओं को चार्टर्ड सर्टिफाइड अकाउंटेंट की योग्यता ऑफर करती है। रमन को अधिकारियों ने ACCA, पश्चिम एशिया में सभी दूसरे उम्मीदवारों में अब तक पंजीकृत होने वाले सबसे युवा ACCA अफिलियेट के तौर पर मान्यता दी है।

raman1

खलीज टाइम्स की खबर के अनुसार दुबई के इंडियन हाई स्कूल से ग्रेजुएट राजकुमार रमन को एसोसिएशन ऑफ चाटर्ड सर्टिफाइड अकाउंटेंट्स की सदस्यता हासिल करने के लिए तीन साल का योग्य कार्य अनुभव पूरा करना होगा।

खलीज टाइम्स को दिए इंटरव्यू में रमन ने अपनी दिनचर्या के बारे में विस्तार से बताया। ये पूछने पर, की किस प्रकार उन्होंने इस कठिन परीक्षा की तैयारी की उन्होंने बताया कि दोपहर में खाना खाने के बाद वह शाम ४ सोकर उठते और साढे चार से रात के सवा आठ तक पढ़ाई करते। इसके बाद ब्रेक लेकर डिनर करते और फिर रात नौ बजे से बारह बजे तक पढ़ाई करते थे। इसके बाद वह सो जाते और अगली सुबह ६ बजे उठ जाते थे।

Advertisement

रमन ने आगे ये भी कहा कि वे एक अंधविश्वास को भी मानते हैं। वह अपनी हर परीक्षा में उन्हीं पैंट्स-शर्ट, जूते और मोजों का उपयोग करते आए हैं, जिन्हें पहली परीक्षा में पहना था। यहां तक की उसी तरह की चावल और कढ़ी को खाते थे।

raman3

हर ओर अपने हुनर के चर्चे करवा रहे रमन स्वयं को एक औसत विद्यार्थी की तरह मानते हैं। रमन ने कहा-

Advertisement

जहां तक मेरी पहले वाली परीक्षाओं का सवाल है, तो मुझे नहीं लगता कि मैंने उनमें इतना अच्छा प्रदर्शन किया था। अगर मार्क्स की बात करूं, तो मैंने ग्रेड १० में ८.६  CGPA स्कोर किया और १२वें में  ८७ फीसदी अंक प्राप्त किए।“

शुरुवात में वह अकाउंट और फाइनेंस में अधिक ज्ञान के लिए ACCA करना चाहते थे, लेकिन उन्होंने यह नहीं सोचा था इतनी तेजी से इस परीक्षा के सभी पेपर्स क्लीयर कर लेंगे। रमन अब अमेरिका के किसी अच्छे कॉलेज से एमबीए की डिग्री करने के बाद इन्वेस्टमेंट बैंकिंग के क्षेत्र में काम करना चाहते हैं।

All pics: Raman Facebook

Advertisement

close-icon
_tbi-social-media__share-icon