Search Icon
Nav Arrow
Chuka Beach, Uttar Pradesh (2)

एक IFS अधिकारी व सहयोगियों की मदद से टुरिस्ट स्पॉट बना उत्तर प्रदेश का यह इकलौता बीच

भारत में अगर किसी बीच पर घूमने की बात होती है, तो अक्सर गोवा और मुंबई का नाम आता है। लेकिन कभी भी बीच की बात हो, तो उत्तर प्रदेश का नाम दूर-दूर तक नहीं आता। अब आप सोच रहे होंगे कि आए भी क्यों, यहां कहां बीच हैं? लेकिन ऐसा नहीं है, पढ़ें उत्तर प्रदेश के इकलौते बीच के बारे में।

भारत में अगर किसी बीच पर घूमने की बात होती है, तो सबसे पहला नाम आता है गोवा का। इसके अलावा समुद्र तटों की बात हो, तो मुंबई के बीचों का भी नाम आता है। लेकिन कभी भी बीच की बात हो, तो उत्तर प्रदेश का नाम दूर-दूर तक नहीं आता। अब आप सोच रहे होंगे कि आए भी क्यों, यहां कहां बीच हैं? लेकिन ऐसा नहीं है, आज हम आपको बता रहे हैं उत्तर प्रदेश के चूका बीच के बारे में।

यह बीच ‘पीलीभीत टाइगर रिज़र्व’ क्षेत्र में स्थित है। बेहद खूबसूरत और वन्य जीवन से भरपूर पीलीभीत, उत्तर प्रदेश का दिल है। फिर भी यह देश के भीतर और बाहर दोनों जगह कम ही जाना जाता है। चूका बीच, हरे-भरे जंगलों के बीच, शारदा सागर बांध के तट पर है, जो एक मानव निर्मित समुद्र तट है।

लोकप्रिय टूरिस्ट स्पॉट न होने की वजह से लोग इस जगह के बारे में ज्यादा नहीं जानते। हालांकि अब धीरे-धीरे लोग यहां भी छुट्टियां बिताने आने लगे हैं। यहां एक बार आने के बाद आपका मन खुश हो जाएगा। यहां आप घने पेड़-पौधों के बीच ट्री हाउस में रहने का मजा ले सकते हैं। यहां की प्रकृति लोगों को बेहद आकर्षित करती है। आपको बता दें, यह जगह बाघ अभ्यारण्य से भी घिरी हुई है, जिसकी वजह से यहां आपको गीदड़, लोमड़ी और बड़ी बिल्ली देखने को मिल जाएंगे।

Advertisement

चूका बीच का क्या है मुख्य आकर्षण?

stays at Chuka Beach, Uttar Pradesh
stays at Chuka Beach, Uttar Pradesh (Photo Credit)

यह समुद्र तट 2002 में अस्तित्व में आया, जब एक आईएफएस अधिकारी रमेश पांडे ने इस एकांत जगह को पर्यटन स्थल में बदलने के साथ-साथ, बाघ संरक्षण में मदद करने के लिए यहां ईको टूरिज्म को प्रोमोट करने का विचार रखा।

सरकार से किसी भी वित्तीय सहायता के बिना, इस जगह को उनके सहयोगियों ने अपने-अपने वेतन से कुछ सहयोग राशि देकर विकसित किया था। चूका बीच क्षेत्र में उनके कार्यकाल के दौरान, उनके सहयोगियों की मदद से चार ईको हट बनाए गए थे। साल 2004 में उनके ट्रासंफर के बाद, काम को वन विभाग ने आगे बढ़ाया और औपचारिक रूप से 2014 में पर्यटकों के लिए खोल दिया गया था।

शहरों की भीड़-भाड़ से दूर चूका बीच, किसी भी ऑफबीट यात्री के लिए काफी अच्छा विकल्प है। आप खूबसूरत सुबह का आनंद ले सकते हैं, वन्यजीवों की कुछ तस्वीरें ले सकते हैं। यहां आप जंगल की सवारी पर भी जा सकते हैं और हाँ, चूका समुद्र तट की यात्रा के दौरान, आप रेत पर लेटकर सन बाथ भी ले सकते हैं। यहां आप खाने के स्टॉल का आनंद ले सकते हैं, ट्री हाउस व आसपास बने मंदिरों में घूम सकते हैं।

Advertisement

कब और कैसे जाएं चूका बीच?

One & Only Beach of Uttar Pradesh, Chuka in Pilibhit
One & Only Beach of Uttar Pradesh (Photo Credit)

चुका बीच घूमने का सबसे अच्छा समय नवंबर से जनवरी के महीनों के बीच होता है, क्योंकि इस समय पीलीभीत में मौसम सही रहता है। वैसे आप छुट्टियों में बच्चों या फैमिली के साथ गर्मियों के महीने में भी घूमने जा सकते हैं। यहां आप पैडल वाली नाव में बैठकर बोटिंग का मजा ले सकते हैं। इसके अलावा यहां एक कैंटीन भी है, जहां आप थोड़ा बहुत खाना-पीना कर सकते हैं।

इस जगह पर आप गाड़ी से ड्राइव करते हुए बरेली से करीबन एक घंटे में पहुंच सकते हैं। बस ध्यान रखें कि आपको चुका इको टूरिज्म सेंटर की यात्रा की प्री-बुकिंग करनी होगी। अगर आप यहां रुकना चाहते हैं, तो ट्री हाउस के साथ-साथ और भी कई विकल्प हैं।

ट्री हाउस में ठहरने का किराया आपको 1500 रुपए से लेकर 4000 रुपए के बीच पड़ेगा, जहां रुकने के लिए आपको पहले से बुकिंग करानी पड़ेगी। यहां क्लिक करके आप बुकिंग कर सकते हैं।

Advertisement

तो देर किस बात की, अगर आप यूपी में रहकर बीच पर घूमने का आनंद लेना चाहते हैं, तो चूका बीच ज़रूर जाएं। यहां की चमकीली साफ सुबह आपका दिन बना देगी और ढलती खूबसूरत शाम आपके दिन भर की थकान पूरी तरह से मिटा देगी।

यह भी पढ़ेंः गर्मियों की छुट्टियां बिताने के लिए परफेक्ट हैं भारत के ये 10 बीच

Advertisement

close-icon
_tbi-social-media__share-icon