ऑफर सिर्फ पाठकों के लिए: पाएं रू. 200 की अतिरिक्त छूट ' द बेटर होम ' पावरफुल नेचुरल क्लीनर्स पे।अभी खरीदें
X

स्कूल ऑफ होप एंड एम्पावरमेंट (School of Hope and Empowerment, SHE), एक मल्टीमीडिया, बहु-हितधारक प्रभावी संचार पहल है, जो डिजिटल कनेक्टिविटी की ताकत से दुर्गम क्षेत्रों से आने वाली महिलाओं का सहयोग कर रही है। यह एक ऐसा इको-सिस्टम है, जिसका उद्देश्य शिक्षा और प्रशिक्षण के ज़रिये महिलाओं को प्रेरित करके उन्हें सशक्त बनाना है, ताकि वे अपने समुदाय में खुद को एक उद्यमी या लीडर के रूप में स्थापित कर सकें।

SHE के ज़रिये, टाटा कम्युनिकेशन्स और द बेटर इंडिया का लक्ष्य, भारत के छोटे शहरों और गांवों में रहने वाली महिला उद्यमियों के लिए एक सक्षम वातावरण तैयार करना है। फिलहाल, अपने पहले चरण में SHE, झारखंड में धनबाद, बोकारो, पूर्वी सिंहभूम, हज़ारीबाग और रांची के अविकसित क्षेत्रों में कम-आय, गरीब और अति- गरीब तपके से आने वाली, 18-35 वर्ष की आयु की महिला उद्यमियों को सशक्त बनाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है।

बिज़नेस ग्रांट के लिए यहां क्लिक करें

Click here

प्रेरित रहें, शिक्षित रहें

प्रेरित रहें, जागरुक रहें

To know more about entrepreneurship call the toll free number 9953663222
To apply for a business grant click here

कंटेंट/नॉलेज तथा डिस्ट्रीब्यूशन पार्टनर:

बहु-हितधारक पहल के रूप में SHE, महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए चल रहे स्थानीय प्रयासों की भी सराहना करता है। हम साथ मिलकर, एक ऐसा मजबूत, अनुकूल, टिकाऊ और सहयोगात्मक नेटवर्क बनाने की भावना रखते हैं, जहां हम ज़्यादा से ज़्यादा महिलाओं तक पहुँचने और उनका सहयोग करने के लिए एक-दूसरे को सशक्त बना सकें। अगर कोई संगठन, झारखंड में महिला उद्यमशीलता के क्षेत्र में काम कर रहा है और हमारे साथ जुड़ना चाहता है, तो हमें she@thebetterindia.com पर मेल करें।

हमारा उद्देश्य:

महिला उद्यमियों को ऐसा वातावरण देना, जो उन्हें सफल बनाने में मदद करें।
कंटेंट की ताकत का इस्तेमाल कर, दुर्गम क्षेत्रों की महिलाओं को प्रेरित करना।
मीडिया और टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके महिला उद्यमशीलता में बड़े स्तर पर सामाजिक बदलाव लाना।
महिलाओं को उद्योग शुरू करने के लिए परामर्श, फंडिंग और सहयोग देना।
Let’s be friends :)
सब्सक्राइब करिए और पाइए ये मुफ्त उपहार
  • देश भर से जुड़ी अच्छी ख़बरें सीधे आपके ईमेल में
  • देश में हो रहे अच्छे बदलावों की खबर सबसे पहले आप तक पहुंचेगी
  • जुड़िए उन हज़ारों भारतीयों से, जो रख रहे हैं बदलाव की नींव