क्विक बाइट्स (ख़ास खबरों में से चुनी हुई खबरे) हमारा देश - हमारे गाँव

पुणे: इस आइएएस अफ़सर की पहल से आज अपने शौचालय से लाखों में कमा रहे हैं गांववाले!

महाराष्ट्र के पुणे की खेड़ तालुका के गांवों में खुले में शौच की समस्या थी, क्योंकि बहुत से लोग सरकार के बनाये हुए शौचालयों का इस्तेमाल नहीं कर रहे थे। इस समस्या को हल करने के लिए यहाँ के आइएएस ऑफिसर आयुष प्रसाद ने एक पहल शुरू की। आज उनके प्रोजेक्ट के जरिये गांववाले अच्छी आमदनी कमा रहे हैं।

किसान

पीएचडी कर चुके इस युवक ने सोशल मिडिया के ज़रिये की देश के किसानों को जोड़ने की अनोखी पहल!

महाराष्ट्र के सांगली जिले में अष्टा गाँव से ताल्लुक रखने वाले डॉ अंकुश चोरमुले अपनी पहल ‘होय आम्ही शेतकरी’ के जरिये लाखों किसानों से जुड़कर उनकी मदद कर रहे हैं। वे व्हाट्सअप ग्रुप और फेसबुक पेज के माध्यम से किसानों के लिए लाइव विडियो करते हैं।

नायक हमारा देश - हमारे गाँव हमारी धरोहर

खुद भुखमरी से जूझने के बावजूद, अपनी सारी फसल चिडियों के लिए छोड़ देता है ये किसान!

अशोक सोनुले और उनके परिवार को बड़ी मुश्किल से दो वक्त की रोटी नसीब होती है। उनके परिवार में कुल १२ सदस्य है। आसपास के सभी किसानो की ज़मीने सूखे की वजह से बंजर पड़ी है। पर अशोक के खेत में ज्वार की फसल लहलहा रही है। आईये जानते है कैसे हुई ये फसल और क्या करते है अशोक इस फसल का!