More stories

  • in

    अकेले इंसान ने जब उजाड़ भूमि को हरा-भरा जंगल बना दिया

    तीन दशक पहले एक नवयुवक ने धूप में झुलस कर, छाया के अभाव में, हज़ारों जल-थल-चरों को मरते देख बाँस के पौधे लगाने शुरु किये थे| वहाँ, जहाँ बाढ़ की तबाही ने सारी हरियाली छीन ली थी, आज १३६० एकड़ का ‘मोलाई’ जंगल फैला है, उस नौजवान ‘जादव मोलाई पयंग’ के अथक एकांगी प्रयास से| द […] More