Search Icon
Nav Arrow
5 places

पाँच ऑनलाइन स्टोर जहाँ से आप खरीद सकते हैं उम्दा क्वालिटी के ऑर्गेनिक बीज

महामारी के इन दिनों में लोग ज़्यादातर घर पर ही सब्जियां व फल उगाने का प्रयास कर रहे हैं, ऐसे में घरों से न निकलते हुए बीजों को ऑनलाइन आर्डर किया जा सकता है।

महामारी के इस समय में खेती-किसानी कर रहे लोगों को और खासकर शहरों में बागवानी करने वालों को सबसे अधिक परेशानी बीज हासिल करने में हुई है। 

बेंगलुरु में बागवानी करने वाली सौम्या के. बताती हैं, “आजकल हममें से ज़्यादातर लोग अपने घरों में ही सब्जियाँ उगा रहे हैं। इन दिनों यह हर जगह प्रचलन में है। लेकिन महामारी के दौरान बागवानी के लिए अच्छी किस्म के ऑर्गेनिक बीज हासिल करने में हर किसी को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। भले ही यह आवश्यक सेवाओं की सूची में आता है, लेकिन लोगों को परेशानी हुई।”

ऐसे में घर तक बीज उपलब्ध कराने के लिए कई संगठन सामने आए हैं जो यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि हर किसी के दरवाजे तक अच्छी क्वालिटी के ऑर्गेनिक बीज पहुँच पाएँ। 

Advertisement

आज हम आपको ऐसे ही पाँच संगठनों के बारे में बता रहे हैं :

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हॉर्टिकल्चर रिसर्च (आईआईएचआर), बेंगलुरु 

बेंगलुरु स्थित द इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हॉर्टिकल्चर(IIHR) ने लोगों के दरवाजों तक बीजों को पहुंचाने के लिए एक पोर्टल लॉन्च किया है। इनके पास फूल, सब्जियों व फलों की अधिक उपज देने वाली बीजों के 60 से अधिक प्रकार मौजूद हैं । 

Advertisement

आर्कावथी तट पर स्थित इस संस्थान ने अपने ब्रांड का नाम ‘अर्का’ रखा है। ऑनलाइन पेमेंट के माध्यम से यह पोर्टल देश के हर कोने में बीज पहुंचा रहा है। 

बीज की खरीददारी करने के लिए यहाँ क्लिक करें। 

नवदान्या 

Advertisement

जानी मानी पर्यावरणविद वंदना शिवा द्वारा स्थापित नवदान्या का नेटवर्क देश के 22 राज्यों में फैला है जिनमें बीज संरक्षण व जैविक उत्पादक शामिल है। 

1987 से ले कर अब तक इस नेटवर्क ने 122 बीज बैंक की स्थापना की है और साथ ही नॉन जीएमओ (आनुवांशिक रूप से संशोधित जीव ) व खुले परागण (open pollination) वाले बीजों को बचाया व संरक्षित किया है। 

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें। 

Advertisement

उगाओ 

स्वीट पी, चेरी टमाटर, तुलसी व अजमोद की मूल क़िस्मों से ले कर आर्टिचोक और अजीरेटम जैसे फूलों तक, आपको उगाओ में कई प्रकार के जैविक बीज की बेहतरीन किस्म मिल जाएंगी। इनकी खासियत है कि ये अधिक उपज वाले बीज उपलब्ध करवा रहे हैं जो कीट व बीमारी से लड़ने में सक्षम होते हैं। इस कारण यह बागवानी के क्षेत्र में अनुभवी व नए लोगों, दोनों के बीच लोकप्रिय हैं।

हर पैकेट के साथ खरीददार को एक नोट मिलता है, जिसमें इन पौधों से संबन्धित निर्देश व अन्य जानकारियाँ विस्तार से लिखी होती है। कितनी दूरी में बीज बोना है, कितना पानी देना है, जैसे हर छोटे बड़े सवाल का उत्तर दे कर उगाओ आपकी बागवानी के अनुभव के हर कदम में मार्गदर्शन करता है । 

Advertisement

बीजों की खरीददारी आप यहाँ कर सकते हैं। 

सहजा सीड्स 

सहजा जैविक उत्पादकों, किसानों और बागबानों का एक नेटवर्क है जो 150 से अधिक क़िस्मों के बीज है जो इसने देश भर के किसान समुदायों से संपर्क कर इकट्ठे किए हैं। 

Advertisement

यह ओपेन सोर्स सिस्टम के विचार पर आधारित है,जो खुले परागण (open pollination) को बढ़ावा देता है। यह नॉन-जीएमओ है जो स्वाद व पोषण मूल्य से कोई समझौता नहीं करते। 

आप इनसे यहाँ संपर्क कर सकते हैं। 

अन्नदाना सॉयल एंड सीड सेवर 

यह एक गैर लाभकारी संस्था है जो स्थायी कृषि पर केन्द्रित है और भारत की विस्तृत व समृद्ध बीज-विरासत को संरक्षित करने के उदेश्य से बनायी गई है। इनकी कोशिश है कि ये किसानों को टिकाऊ और रसायन मुक्त कृषि- पद्धति को अपनाने में मदद करें । ये 19 सालों से सब्जियों की क़िस्मों के जैविक बीजों के संरक्षण, उत्पादन, गुणन और विनिमय को बढ़ावा दे रहे हैं। इस साल इन्होंने 57 ‘ओपन पोलीनेटेड’ क़िस्मों की बीजों को पुनर्जीवित किया है। 

आप इनसे यहाँ  संपर्क कर सकते हैं। 

मूल लेख-

यह भी पढ़ें- गार्डनगिरी: न बीज की ज़रूरत, न पौधे की, जानिये कैसे घर पर उगा सकते हैं अपनी फेवरेट सब्ज़ी

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

close-icon
_tbi-social-media__share-icon