in ,

दिलवालों की दिल्ली : बेसहारा कुत्तों को सर्दी से बचाने के लिए दिल्लीवाले पहना रहे हैं गर्म कपड़े!

दिल्ली की सर्दी तो जगजाहिर है। दिसंबर-जनवरी आते-आते तो दिल्लीवालों को धूप के दर्शन भी कम ही होते हैं। इस मौसम में जहाँ इंसान बिना जैकेट या मफ़लर के घर से बाहर निकलने के बारे में सोच भी नहीं सकता, वहां ज़रा सोचिये उन बेज़ुबान जानवरों का क्या होता होगा, जो हाड़-कंपा देने वाली इस सर्दी में सड़क पर खुले घूमने पर मजबूर होते हैं।

ख़ासकर, वो आवारा घूमने वाले कुत्ते, जिनके न रहने का ठिकाना होता है न खाने का। ऐसे में ठंड का मौसम इन कुत्तों के लिए सबसे ज़्यादा कठिन होता है। अक्सर जब तापमान शून्य के करीब पहुँच जाता है, तो इनमें से कई कुत्ते ठिठुरते हुए अपनी जान भी गँवा देते हैं।

लेकिन दिल्ली दिलवालों की है और शायद इसीलिए इस बार दिल्ली वालों ने ठाना, कि उनके यहाँ कोई भी सर्दी के कारण नहीं मरेगा।

तभी तो हाउस ऑफ़ स्ट्रे एनिमल्स जैसे एनजीओ इनकी मदद के लिए आगे आ रहे हैं। इस सर्दी के मौसम में ये लोग कंबल, स्वेटर और यहाँ तक कि गद्दे आदि दान करके अपने इन बेज़ुबान दोस्तों की मदद कर रहे हैं।

अगर आपके घरों में ऐसे गरम कपड़े हैं, जो आपको लगता है कि अब आपके पहनने लायक नहीं हैं तो उन्हें फेंकने की बजाय अपने आस-पास ऐसे ही किसी बेजुबान दोस्त को पहना दीजिये ताकि वे ठंड से बच सकें।

द टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए एनजीओ की एक सदस्या नियति ने बताया कि वह और उनके कुछ दोस्त हर वीकेंड पर मिलकर पुराने ऊनी कपड़ों को काटकर व फिर से सिलकर इन कुत्तों के पहनने योग्य बना रहे हैं। एनजीओ आदि के अलावा आम दिल्ली वाले इनकी मदद कर रहे हैं।

हालांकि, यह पहली बार नहीं है जब दिल्ली में जानवरों का ख्याल रखा जा रहा है। हर साल, लोग इन बेज़ुबान कुत्तों की मदद करते नज़र आते हैं। आप तस्वीरें देख सकते हैं,

 

 

 

View this post on Instagram

 

Softie and Sparkles . . . He told me how If you touch her body, you can’t feel her soul. And if you feel her soul, you can’t reach her mind. So, I walked for him, naked. Passed through the doors, and roads Without any clothes on, without any masks on, For him to see my all, for me to give him all. I may be prosecuted for indecency, But no pupper other than him, Gets the right to touch me or Give their own meanings to my actions, None. None. None. But him. . . 📸 : @randomdogsofdelhi Caption : @the.elixiroflife . . . #freedom #dogsofinstagram #streetdogsofindia #streetdogs #barkerdam #streetdogsofdelhi #shotononeplus #oneplus #oneplusphotography #writingcommunity #story #storytelling #microfiction #fiction #storytelling #buzzfeed #artistsoninstagram #love #doge #straysarelove #delhigram #photography #indieisbeautiful #dogsandpals #dogs #sleep #thegreatoutdogs #incredibleindia #lens @buzzfeedindia @dogsofinstagram @dailybarker @goatsofbangladesh @humansofny @humansofcanines @streetdogsofindia @indianstreetdogs @ttt_official @buzzfeedanimals @natgeocreative @lbbdelhincr

A post shared by Street Dogs Of Delhi (@streetdogsofdelhi) on

 

View this post on Instagram

 

Germany . . . I’ve never been to this foreign land that they’ve named me after My pals in the suburb ask me Are they trying to mock you? But whenever my hooman pats me on my head And tells me I’m a good boy I can’t help but think ‘So what if I’m not a german shepherd ! I’m the whole of germany And all its wonders and magic In a tiny four legged body, I wear my jersey proud. And my parents must have named me so Because I’m strong And also because I think Had I been a human, I’d have great choice in beer . . . Caption : @shaifalikathakur 📸: @sunehaakaul . . . #freedom #dogsofinstagram #streetdogsofindia #streetdogs #barkerdam #streetdogsofdelhi #shotononeplus #oneplus #oneplusphotography #writingcommunity #story #storytelling #microfiction #fiction #storytelling #buzzfeed #artistsoninstagram #love #doge #straysarelove #delhigram #photography #indieisbeautiful #dogsandpals #dogs #sleep #thegreatoutdogs #incredibleindia #lens @buzzfeedindia @dogsofinstagram @dailybarker @goatsofbangladesh @humansofny @humansofcanines @streetdogsofindia @indianstreetdogs @ttt_official @buzzfeedanimals @natgeocreative @lbbdelhincr

A post shared by Street Dogs Of Delhi (@streetdogsofdelhi) on

(संपादन – मानबी कटोच)


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर भेज सकते हैं।

शेयर करे

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है. निशा की कविताएँ आप https://kahakasha.blogspot.com/ पर पढ़ सकते हैं!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

दार्जीलिंग के चाय बागान की इस लाइब्रेरी में किताबें चुराकर पढ़ना कोई अपराध नहीं है!

काकोरी कांड का वह वीर जिसे अंगेज़ों ने तय समय से पहले दे दी फाँसी!