दिलवालों की दिल्ली : बेसहारा कुत्तों को सर्दी से बचाने के लिए दिल्लीवाले पहना रहे हैं गर्म कपड़े!

दिल्ली की सर्दी तो जगजाहिर है। दिसंबर-जनवरी आते-आते तो दिल्लीवालों को धूप के दर्शन भी कम ही होते हैं। इस मौसम में जहाँ इंसान बिना जैकेट या मफ़लर के घर से बाहर निकलने के बारे में सोच भी नहीं सकता, वहां ज़रा सोचिये उन बेज़ुबान जानवरों का क्या होता होगा, जो हाड़-कंपा देने वाली इस सर्दी में सड़क पर खुले घूमने पर मजबूर होते हैं।

ख़ासकर, वो आवारा घूमने वाले कुत्ते, जिनके न रहने का ठिकाना होता है न खाने का। ऐसे में ठंड का मौसम इन कुत्तों के लिए सबसे ज़्यादा कठिन होता है। अक्सर जब तापमान शून्य के करीब पहुँच जाता है, तो इनमें से कई कुत्ते ठिठुरते हुए अपनी जान भी गँवा देते हैं।

लेकिन दिल्ली दिलवालों की है और शायद इसीलिए इस बार दिल्ली वालों ने ठाना, कि उनके यहाँ कोई भी सर्दी के कारण नहीं मरेगा।

तभी तो हाउस ऑफ़ स्ट्रे एनिमल्स जैसे एनजीओ इनकी मदद के लिए आगे आ रहे हैं। इस सर्दी के मौसम में ये लोग कंबल, स्वेटर और यहाँ तक कि गद्दे आदि दान करके अपने इन बेज़ुबान दोस्तों की मदद कर रहे हैं।

अगर आपके घरों में ऐसे गरम कपड़े हैं, जो आपको लगता है कि अब आपके पहनने लायक नहीं हैं तो उन्हें फेंकने की बजाय अपने आस-पास ऐसे ही किसी बेजुबान दोस्त को पहना दीजिये ताकि वे ठंड से बच सकें।

द टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए एनजीओ की एक सदस्या नियति ने बताया कि वह और उनके कुछ दोस्त हर वीकेंड पर मिलकर पुराने ऊनी कपड़ों को काटकर व फिर से सिलकर इन कुत्तों के पहनने योग्य बना रहे हैं। एनजीओ आदि के अलावा आम दिल्ली वाले इनकी मदद कर रहे हैं।

हालांकि, यह पहली बार नहीं है जब दिल्ली में जानवरों का ख्याल रखा जा रहा है। हर साल, लोग इन बेज़ुबान कुत्तों की मदद करते नज़र आते हैं। आप तस्वीरें देख सकते हैं,

(संपादन – मानबी कटोच)

मूल लेख: तन्वी पटेल


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर भेज सकते हैं।