Search Icon
Nav Arrow
Poonam arora gardening

चार साल पहले तक एक पौधा भी नहीं आता था उगाना, आज फूलों की चादर से ढका रहता है इनका घर

दिल्ली की पूनम अरोरा और उनका परिवार पिछले छह सालों से प्रदूषण और शहर की भागदौड़ छोड़कर देहरादून आ गए। जगह की कमी के कारण पूनम, शहर में पौधे नहीं उगा पाती थीं, लेकिन आज उनका घर कई रंग-बिरंगे फूलों से भरा है, जिसका सीधा लाभ परिवार के स्वास्थ्य को मिला है।

फूलों की शौकीन पूनम को चार साल पहले तक गार्डनिंग का कोई ज्यादा अनुभव नहीं था, लेकिन आज उनका घर सैकड़ों पौधों से भरा हुआ है। अब वह खुद गार्डनिंग करने के साथ-साथ, कई लोगों को भी अपने यूट्यूब चैनल के जरिए गार्डनिंग सीखा रही हैं। यूट्यूब पर उनके 200 से ज्यादा वीडियोज़ हैं और तक़रीबन 50 हजार लोग उन्हें यूट्यूब पर फॉलो भी करते हैं। 

गार्डनिंग से अपने लगाव और अपने गार्डन के बारे में बात करते हुए 47 वर्षीया पूनम कहती हैं कि गार्डनिंग आज उनका फूल टाइम जॉब बन चुका है। इससे उनके जीवन में सुकून तो आया ही है, साथ ही स्वास्थ्य सम्बन्धी कई परेशानियों से भी छुटकारा मिला है। 

शहर की भाड़दौड़ छोड़ पहाड़ों में बनाया घर 

Advertisement
poonam arora in her garden

दरअसल, छह साल पहले तक अरोरा परिवार दिल्ली में रह रहा था। पूनम ने बताया, “दिल्ली में मेरे पति को हेल्थ से जुड़ी इतनी परेशानियां रहती थीं कि उन्हें अपना काम भी छोड़ना पड़ा था।  चूँकि मैं बरेली से हूँ इसलिए हमारे परिवारवाले, अक्सर हमें शहर छोड़कर बरेली आने को कहते थे। लेकिन हमने बरेली न जाकर देहरादून में बसने का फैसला किया, क्योंकि मुझे हमेशा से पहाड़ों के आस-पास रहने का शौक था।”

देहरादून आकर जब उन्होंने अपना घर बनाया, तब गार्डन बनाने पर विशेष ध्यान दिया, ताकि वह ज्यादा से ज्यादा पौधे लगा सकें। दिल्ली में रहते हुए वह चाहकर भी ज्यादा पौधे नहीं लगा पाती थीं। उन्होंने बचपन में अपनी माँ के साथ थोड़ी-बहुत गार्डनिंग की थी, बस उसी को याद करके उन्होंने गार्डनिंग की शुरुआत की और धीरे-धीरे उनकी रुचि इतनी बढ़ गई कि घर में मिट्टी तैयार करने से लेकर कम्पोस्ट बनाने तक, सारे काम वह खुद करने लगीं। 

flower plants in poonam's garden

पूनम कहती हैं, “चार साल पहले तक मुझे कई फूलों के नाम भी नहीं पता थे। लेकिन आज मेरे गार्डन में 300 से अधिक फूलों  के पौधे लगे हैं।”

Advertisement

पूनम, आर्ट और क्राफ्ट की भी शौक़ीन हैं, इसलिए उनके घर में लगे ज्यादातर प्लांटर घर की बेकार चीजों को रीसायकल करके बनाए गए हैं। यूट्यूब पर भी,  वह DIY एक्टिविटी शेयर करती रहती हैं।  उन्होंने खुद से कई हैंगिंग पॉट्स और गार्डन के लिए फाउंटेन भी तैयार किए हैं। इस काम में उनके पति और दोनों बच्चे भी  उनकी मदद करते हैं।  

प्रकृति से जुड़कर हुआ स्वास्थ्य बेहतर 

 पूनम ने जहां गार्डनिंग और इससे जुड़े वीडियोज़ बनाने को ही अपना फुल टाइम काम बना लिया है, वहीं उनके पति के स्वास्थ्य पर भी इसका बड़ा अच्छा और सकारात्मक असर पड़ा है। पूनम ने बताया कि उनके पति की  हेल्थ अब बिल्कुल अच्छी रहती है और उन्होंने धीरे-धीरे फिर से काम करना भी शुरू कर दिया है। आज उनके पति भी अपने आस-पास हरियाली देखकर खुश रहते हैं। 

Advertisement
home garden of Poonam Arora with lots of flowers

पूनम के घर में तरह-तरह के सुंदर फूल लगे हैं, लेकिन उनके घर की बाहरी दीवारों पर लगे ऑरेंज ट्रम्पेट वाइन से उनके घर का नज़ारा इतना सुन्दर लगता है कि हर आने-जाने वाला एक बार रुककर जरूर इसे देखता है।  

पूनम अपने गार्डन में ऑर्गेनिक फ़र्टिलाइज़र और कीटनाशक का इस्तेमाल करती हैं, जिसे वह ऑनलाइन अमेज़न से मंगवाती हैं। इसके अलावा, वह कुछ प्लांटर्स भी ऑनलाइन खरीदती हैं।  

बैम्बू प्लांटर्स खरीदने के लिए यहां क्लिक करें
आर्गेनिक फ़र्टिलाइज़र ऑनलाइन अमेज़न से खरीदने के लिए यहां क्लिक करें

Advertisement

आप फूलों की देखभाल और पौधों से जुड़ी  ज्यादा जानकारी के लिए उनके यूट्यूब चैनल को फॉलो कर सकते हैं। 

हैप्पी गार्डनिंग!

यह भी पढ़ें –पटना का यह घर नहीं है किसी टूरिस्ट प्लेस से कम, 88 वर्षीय कलाकार की मेहनत का है नतीजा

Advertisement

close-icon
_tbi-social-media__share-icon