Search Icon
Nav Arrow
Purnima Pandey, Commonwealth Championships,

पुर्णिमा पांडे: कैसे तय किया बनारस की इस बिटिया ने स्वर्ण पदक तक का सफर

कॉमनवेल्थ वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में बनारस की पूर्णिमा पांडेय ने देश के लिए गोल्ड मेडल जीत लिया है। इससे पहले जेरेमी लालरिनुंगा ने पुरुष वर्ग की वेटलिफ्टिंग में शानदार प्रदर्शन करते हुए भारत के लिए गोल्ड जीता था।

उज्बेकिस्तान में हो रहे राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप में भारतीय भारोत्तोलकों का शानदार प्रदर्शन जारी है। पिछले हफ्ते जेरेमी लालरिनुंगा ने भारत की झोली में गोल्ड मेडल डाला था और अब महिला वर्ग में पूर्णिमा पांडेय (Purnima Pandey) ने भी देश के लिए गोल्ड जीत लिया है।

कॉमनवेल्थ वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में गाय घाट, वाराणसी की पूर्णिमा पांडेय (Purnima Pandey) ने स्वर्ण पदक हासिल करन के साथ ही साल 2022 में बर्मिंघम में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम का टिकट भी हासिल कर लिया है। पुर्णिमा ने 86+ भार वर्ग में कुल 229 किलो वज़न उठाकर यह जीत अपने नाम की। उन्होंने इस बीच कुल आठ राष्ट्रीय रिकॉर्ड भी बनाए। इनमें से स्नैच में दो और क्लीन-जर्क व कुल भार वर्ग में तीन-तीन राष्ट्रीय रिकॉर्ड शामिल हैं।

पूर्णिमा की यह पहली स्वर्णिम जीत है। इससे पहले वह दो बार कॉमनवेल्थ वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप (Commonwealth Weightlifting Championship) में रजत और कांस्य पदक जीत चुकी हैं, लेकिन उनकी हमेशा से यह जिद रही कि वह भारत के लिए स्वर्ण पदक जीतें और उन्होंने यह कर भी दिखाया।

3 साल बाद बनारस के किसी खिलाड़ी ने लिया हिस्सा

तीन साल बाद बनारस के किसी खिलाड़ी ने कॉमनवेल्थ गेम में हिस्सा लिया। इससे पहले साल 2018 में स्वाती सिंह और पूनम यादव, कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा ले चुकी हैं।

जेरेमी लालरिनुंगा और पुर्णिमा के अलावा, लवप्रीत सिंह ने पुरुषों के 109 किग्रा भार वर्ग में 348 किग्रा (161 किग्रा और 187 किग्रा) भार उठाकर रजत पदक जीता। महिलाओं के 87 किग्रा भार वर्ग में अनुराधा पावुनराज ने 195 किग्रा (90 किग्रा और 105 किग्रा) भार के साथ कांस्य पदक हासिल किया।

यहां देखें वीडियो

सभी खिलाड़ियों को द बेटर इंडिया की ओर से ढेरों शुभकामनाएं!

यह भी पढे़ंः पिता-भाई की मौत ने झकझोरा, वकालत छोड़ शुरु की नैचुरल फार्मिंग, बने रोल मॉडल

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

close-icon
_tbi-social-media__share-icon