Search Icon
Nav Arrow
Trading Tips

एक्सपर्ट से जानिए किस तरह करें शेयर बाजार में निवेश की शुरुआत

एक्सपर्ट से जानिए शेयर बाजार में कैसे करें शुरुआत ताकि रिस्क रहे कम से कम।

Advertisement

‘शेयर बाजार’ ऐसा शब्द है, जिसे हम सब अपनी दैनिक ज़िंदगी में सुनते ही रहते हैं। लेकिन इसे लेकर सबके अपने-अपने ख्याल हैं। किसी को शेयर बाजार बेकार की चीज लगती है तो किसी के लिए यह कमाल है। क्योंकि, शेयर बाजार में निवेश करके वे अच्छा कमा रहे हैं। इनके बीच कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जिनके लिए न तो यह खराब है और न ही अच्छा। क्योंकि, उन्होंने कभी शेयर बाजार को ट्राई ही नहीं किया है। अगर कभी ट्राई करना चाहे भी, तो उन्हें लगता है कि वे इसे समझ नहीं पाएंगे। लेकिन ऐसा नहीं है। क्योंकि, शेयर बाजार के विशेषज्ञ और Finology के संस्थापक, प्रांजल कामरा कहते हैं कि शेयर बाजार को आप जितना मुश्किल समझेंगे, यह उतना ही मुश्किल लगेगा और इसे जितना सामान्य समझकर काम करेंगे, यह उतना ही आसान लगेगा। 

‘शेयर बाजार’ ऐसी जगह है, जहां पर लगभग 5000 कंपनियों में हिस्सेदारी खरीद सकते हैं। जी हां, जब आप किसी कंपनी का ‘स्टॉक’ खरीदते हैं, तो मतलब कि उस कंपनी में आपकी साझेदारी हो जाती है। यह साझेदारी कम या ज्यादा हो सकती है। 

अब अगर वह कंपनी नुकसान में रही, तो आपको भी नुकसान होगा और अगर कंपनी फायदे में आई तो आपको भी फायदा होगा। इस काम में रिस्क तो है। लेकिन प्रांजल का कहना है कि अगर आप अपने दिमाग से और सूझ-बुझ से काम लेंगे, तो इस रिस्क कम जरूर कर सकते हैं। आज इस लेख के माध्यम से प्रांजल कामरा बता रहे हैं कि अगर आप शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं, तो कैसे शुरुआत कर सकते हैं। आपको किन बातों का ख्याल रखना चाहिए, जिससे आपको बाद में कोई बड़ा नुकसान न हो। 

इस तरह करें शुरुआत

प्रांजल कहते हैं कि शेयर बाजार में कदम रखने से पहले आप कुछ नियम जरूर बना लें। जैसे आपको सबसे पहले यह तय करना चाहिए कि आप हर महीने शेयर बाजार में कितना निवेश करेंगे और जो पैसे आप निवेश करने वाले हैं, वे आपकी बचत के होंगे या फिर आपकी अतिरिक्त आय।
“अक्सर लोग दूसरों को शेयर बाजार में सफल होता देखकर लोभ में आ जाते हैं। उन्हें लगता है कि शेयर बाजार से वे भी रातों-रात अमीर हो जायेंगे। इसलिए कहीं से पैसे उधार लेकर या फिर अपने किसी खर्च के पैसे शेयर बाजार में लगाने लगते हैं। ज्यादातर मामलों में ऐसे लोगों को नुकसान होता है, क्योंकि वे सोच-समझकर इन्वेस्ट नहीं कर रहे होते हैं। इसलिए हमेशा अपनी बचत का कुछ हिस्सा आप शेयर बाजार में लगाएं ताकि रिस्क कम रहे,” उन्होंने कहा। 

Trading Tips from Pranjal Kamra
Pranjal Kamra

शेयर बाजार में निवेश करने के लिए या शेयर बेचने के लिए सबसे पहले जरुरी होता है कि आपके पास अपना बैंक अकाउंट, आधार नंबर और PAN कार्ड नंबर है। इसके बाद, आपको ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट खुलवाना होता है। ये अकाउंट आप ब्रोकर के पास खुलवाते हैं। जी हां, शेयर बाजार में आप सीधा कंपनियों से शेयर खरीदते या बेचते नहीं हैं, बल्कि आपके और कंपनी के बीच में ब्रोकर होते हैं। ‘ब्रोकर’ यानी बिचौलिए, जिनके पास से आप शेयर खरीदते हैं और जिनके जरिये आप शेयर बेचते हैं। इसलिए शेयर बाजार में निवेश करने से पहले आपको किसी ब्रोकर से जुड़ना होता है। प्रांजल कहते हैं कि ये ब्रोकर दो तरह के होते हैं। 

एक फुल सर्विस ब्रोकर और दूसरे, डिस्काउंट ब्रोकर। फुल सर्विस ब्रोकर ऑफलाइन होते हैं, जो आपको ऑफिस में एक डेस्क देते हैं, आप वहां जाकर शेयर खरीद सकते हैं। इसके अलावा, ये आपको रिलेशनशिप मैनेजर भी देते हैं। लेकिन ये सभी सुविधाएं उन लोगों के लिए ज्यादा काम की होती हैं, जो काफी समय से ट्रेडिंग कर रहे हैं या काफी बड़े निवेश करते हैं। प्रांजल कहते हैं कि अगर आप शुरुआत कर रहे हैं, तो आप डिस्काउंट ब्रोकर से जुड़ सकते हैं। डिस्काउंट ब्रोकर मतलब ऑनलाइन ब्रॉकर, जिनकी ब्रोकिंग फीस काफी कम होती है। 

“आजकल बहुत से ऑनलाइन एप्लीकेशन और सर्विसेज हैं जो आपको ट्रेडिंग की सुविधा देते हैं। जैसे ज़ीरोधा, अपस्टोक्स, एंजेल वन, आईसीआईसीआई डायरेक्ट आदि। इन सभी की मोबाइल एप्लीकेशन डाउनलोड करके आप बिना कहीं जाए, अपना अकाउंट खोल सकते हैं। लेकिन डिस्काउंट ब्रोकर से जुड़ते समय भी आपको बहुत सी बातों पर गौर करना चाहिए। क्योंकि, कई बार बाद में आपको लगता है कि किसी दूसरे डिस्काउंट ब्रोकर की सुविधाएं आपकी जरूरत के हिसाब से ज्यादा अच्छी हैं,” प्रांजल ने बताया। 

जैसे किसी डिस्काउंट ब्रोकर के साथ अकाउंट खोलने की फीस होती है, तो किसी में आप निःशुल्क अकाउंट खोल सकते हैं। लेकिन इसके साथ यह भी जानें कि कौनसा डिस्काउंट ब्रोकर आपको क्या-क्या सर्विसेज दे रहा है। जैसे किसी में आप सिर्फ ट्रेडिंग कर सकते हैं। जबकि कई डिस्काउंट ब्रोकर आपको शेयर ट्रेडिंग के साथ म्यूच्यूअल फंड आदि की सुविधा भी देते हैं। इसलिए शुरुआत में ही यह सब सोचकर अपना ट्रेडिंग अकाउंट शुरू करें। अपना ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के तीन-चार दिन बाद, आप ट्रेडिंग शुरू कर सकते हैं। 

शुरुआत में इन बातों का रखें ख्याल 

ट्रेडिंग अकाउंट तो हमने खोल लिया। लेकिन अब बहुत से लोग इस उधेड़-बुन में होते हैं कि किस कंपनी के शेयर खरीदें? इन शेयर को उन्हें कब बेचना चाहिए? उन्हें कितने पैसों से शुरू करना चाहिए? इन सब सवालों के लिए प्रांजल कहते हैं कि अगर कोई शेयर बाजार में शुरुआत कर रहा है, तो अपना निवेश हमेशा कम से कम रखने की कोशिश करें। आप एक नियम बना लीजिये कि पहले एक साल, हर महीने आप 1000 रुपए या 2000 रुपए ही शेयर बाजार में निवेश करेंगे। एक साल के बाद, दूसरे साल में आप अपनी इन्वेस्टमेंट 10 या 15% बढ़ा सकते हैं। 

किन कंपनियों के शेयर में निवेश करें

इस सवाल पर प्रांजल कहते हैं कि इसके लिए लोगों को अपनी कॉमन सेंस लगानी चाहिए। मान लीजिये, आप बैंक में काम करते हैं तो आपको बैंकिंग की अच्छी जानकारी है, क्योंकि हर दिन आप देख रहे हैं कि किस बैंक में लोग ज्यादा खाते खुलवा रहे हैं। तो आपको इसी सेक्टर में निवेश करना चाहिए। इसके अलावा, आप इस तरह से सोचिये कि आप किस चीज का बिज़नेस करना चाहते हैं? मान लीजिये आपको बाइक की कंपनी खोलने में दिलचस्पी है, क्योंकि आपको बाइक पसंद हैं। लेकिन आप कंपनी खोल नहीं सकते तो आप पहले से मौजूद बाइक की कंपनियों में निवेश करके हिस्सेदारी ले सकते हैं। 

Trading tips for beginners
Rep Image (Source)

अब बाइक की तो बहुत सी कम्पनियाँ हैं, तो किसके शेयर खरीदें। ऐसे में अपनी सामान्य समझ लगाइये कि अपने आसपास जिस कंपनी के चर्चे आप ज्यादा सुनते हैं या आपके जाननेवाले किस बाइक कंपनी की बाइक खरीदना चाहते हैं। कौनसी कंपनी आज के समय के हिसाब से गाड़ी लॉन्च करके मार्किट में आगे बढ़ रही है? इन सब बातों के आधार पर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि यह कंपनी आने वाले समय में कितनी तरक्की करेगी। उसी के आधार पर आप निवेश करें।
प्रांजल कहते हैं, “मैं हमेशा लोगों को उन कंपनियों में निवेश करने की सलाह देता हूं, जिनके उत्पाद वे खुद इस्तेमाल कर रहे हैं और अपने आसपास लोगों को इस्तेमाल करते हुए देख रहे हैं। इससे उन्हें अंदाजा लग जाता है कि जिसके उत्पादों की बाजार में मांग है, वह कंपनी अच्छी ग्रोथ ही करेगी।”

Advertisement

शेयर बेचने में न करें जल्दबाजी

प्रांजल की सलाह है कि कभी भी शेयर यह सोचकर न खरीदें कि मुझे इसे दो दिन बाद या दो हफ्ते बाद बेचना है। हमेशा लंबे समय का सोचकर निवेश करें। क्योंकि, इससे आपको ज्यादा अच्छा रिटर्न मिलेगा। अब अगर आप अपना बिज़नेस शुरू करेंगे, तो वह कोई दो-चार महीनों के लिए तो नहीं होगा। तो शेयर बाजार को भी अपने बिज़नेस की तरह लें कि किसी अच्छी कंपनी के साथ आपकी हिस्सेदारी लंबे समय तक रहे। क्योंकि, अगर कंपनी की ग्रोथ अच्छी है तो आपको उतना ही फायदा होगा। 

हालांकि, अगर बीच में आपको लग रहा है कि आपको एक जगह से निकलकर किसी और बेहतर कंपनी में निवेश करना चाहिए या कोई इमरजेंसी है तो आप शेयर बेच सकते हैं। लेकिन कभी भी जल्दबाजी न करें। 

अलग-अलग कंपनियों में करें निवेश  

प्रांजल की अगली सलाह है कि सिर्फ एक या दो कंपनियों में निवेश करने की बजाय, कोशिश करें कि आप अलग-अलग कंपनियों में निवेश करें। जैसे आप 5000 रुपए निवेश कर रहे हैं, तो इन्हें ज्यादा से ज्यादा कंपनियों के शेयर खरीदने में लगाएं। आप चाहें तो 500-500 रुपए करके 10 कंपनियों के शेयर खरीद सकते हैं। इससे आपका रिस्क कम रहेगा और आपको ज्यादा चिंता भी नहीं रहेगी। मान लीजिये कभी कोई दो कंपनी अच्छा नहीं कर रही हैं, लेकिन बाकी आठ से अच्छे रिटर्न मिल रहे हैं तो आपको नुकसान नहीं होगा। 

अपने दिमाग का करें इस्तेमाल

शेयर बाजार में निवेश करने की इच्छा रखने वाले लोगों के लिए प्रांजल की सबसे अहम सलाह यही रहती है शेयर बाजार में कभी भी दूसरों की सलाह पर आंख बंद करके पैसा नहीं लगाना चाहिए। बल्कि, अपने 100 रुपए भी किसी कंपनी के शेयर में इन्वेस्ट करने से पहले उस कंपनी के बारे में जानकारी लेनी चाहिए और अपने स्तर पर समझना चाहिए कि वह कंपनी आगे कितनी तरक्की करेगी। जब आप एक टीशर्ट या जीन्स खरीदने से पहले चार दुकानों में जाते हैं, तो किसी कंपनी में निवेश करने से पहले इसके बारे में रिसर्च करना भी बनता है। इसलिए आपको दूसरों से सलाह लेनी चाहिए, लेकिन साथ ही अपने दिमाग का भी इस्तेमाल करें। 

अगर आप शेयर बाजार के बारे में और अधिक जानकारी चाहते हैं और गहराई में इस सेक्टर को समझना चाहते हैं, तो प्रांजल कामरा का यूट्यूब चैनल फॉलो कर सकते हैं। इसके अलावा, अपने स्टार्टअप Finology के जरिए उन्होंने स्टॉक मार्किट पर कोर्स भी लॉन्च किया है। आप वह भी देख सकते हैं। तो देर किस बात की, आज ही शुरू करें शेयर बाजार पर रिसर्च। 

Disclaimer : यह आलेख पाठकों को शेयर मार्केट के बारे में जानकारी देने के लिये है। यहां लिखी जानकारी की पूर्णता और सटीकता के लिए द बेटर इंडिया प्रतिबद्ध नहीं है। पाठक निवेश संबंधी निर्णय लेने से पहले, अपने वित्तीय सलाहकार की मदद लें या फिर खुद शोध करके निर्णय लें, क्योंकि शेयर मार्केट जोखिमों के अधीन है।

संपादन- जी एन झा

कवर फोटो – India.Com

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

Advertisement
close-icon
_tbi-social-media__share-icon