in

एक पैर के दम पर दौड़े 10 किलोमीटर मैराथन, पुणे के जावेद हैं लोगों के लिए प्रेरणा!

बास्केट बॉल खेलते हुए जावेद चौधरी

हाराष्ट्र के पुणे में 24 वर्षीय जावेद चौधरी ने रविवार को 10 किलोमीटर हाफ-मैराथन खत्म किया और इसके बाद वे जमकर नाचे। उनके डांस का यह विडियो सब जगह वायरल हो रहा है और लोगों के दिलों को छू रहा है। लेकिन इस विडियो में ऐसी क्या खास बात है?

दरअसल, जावेद ने तीन साल पहले अपना एक पैर एक रोड एक्सीडेंट में गंवा दिया था। जिसके बाद उन्हें ज़िन्दगी एक पैर पर ही बितानी थी। लेकिन उन्होंने अपनी ज़िन्दगी को निराशा की जगह आशा और उम्मीदों से भरा। पुणे मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक, जावेद न केवल मैराथन में भाग लेते हैं बल्कि वे गिटार भी बजाते हैं और साथ ही डांस भी करते हैं।

जावेद चौधरी

बीते रविवार को, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के रीजनल आउटरीच ब्यूरो ने रोड रुन्नर्स ग्रुप और कुछ अन्य संगठनों के साथ मिलकर 10 किलोमीटर का एक हाफ मैराथन आयोजित किया था। जिसमें जावेद चौधरी ने भी भाग लिया और जैसे ही उन्होंने इसे पूरा किया, वे सभी के साथ मिलकर नाचने लगे।

उनका यह डांस विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

जावेद ने बताया, “मैं एक्सीडेंट से पहले भी डांस और कोरियोग्राफी करता था। लेकिन इसके बाद भी मैंने यह करना नहीं छोड़ा और मैंने बच्चों को सिखाना शुरू किया। अब तक मैं लगभग 2500 लोगों को डांस सिखा चूका हूँ।”

‘मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट’ जावेद चौधरी

जावेद एक अच्छे खिलाड़ी भी हैं। कुछ समय पहले ही उन्होंने एक इंटर-स्टेट व्हीलचेयर बास्केटबॉल टीम इवेंट में ‘मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट’ का ख़िताब भी जीता था। जावेद अपने घर का वह पहला सदस्य है जिसने ग्रेजुएशन की है।

हम जावेद के हौंसले व हिम्मत को सलाम करते हैं और उम्मीद है कि बहुत से लोग उनसे प्रेरणा लेकर अपनी ज़िन्दगी को एक और मौका देंगे।


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर भेज सकते हैं।

शेयर करे

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है. निशा की कविताएँ आप https://kahakasha.blogspot.com/ पर पढ़ सकते हैं!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

विजय पांडुरंग भटकर: वह वैज्ञानिक जिसने बनाया भारत का पहला सुपरकंप्यूटर!

पेरिन बेन कैप्टेन: दादाभाई नौरोजी की पोती, जिन्होंने आजीवन देश की सेवा की!