पढ़िए होम गार्डनिंग शुरू करने से पहले किन बेसिक चीजों की पड़ती है जरूरत

अगर आप पहली बार गार्डनिंग कर रहे हैं, तो कुछ चीजों की तैयारी करके, आप अपना काम आसान बना सकते हैं।

Basic tools & tips to start gardening

जिस तरह हमारी गार्डनिंग की कहानियां पसंद की जा रही हैं, उससे यह बात तो साफ है कि कई लोग गार्डनिंग में रुचि रखते हैं। हालांकि बहुत सारे लोग पहले से ही घर पर पौधे उगा रहे हैं। लेकिन अगर आप उन लोगों में से हैं, जिन्होंने अभी तक शुरुआत नहीं की है। तो यकीन मानिए यह लेख आपके लिए ही लिखा गया है।  

जी हाँ, बहुत से लोग ऐसे हैं, जो अपने घर की बालकनी या छत पर कुछ उगाना तो चाहते हैं, लेकिन अभी भी झिझक रहे हैं। 

ऐसे ही लोगों को ध्यान में रखकर हमने दिल्ली की गार्डनिंग एक्सपर्ट और तक़रीबन 15 सालों से गार्डनिंग कर रहीं, रश्मि शुक्ला से जाना कि कैसे गार्डनिंग को सबके लिए आसान बनाया जाए।

रश्मि बताती हैं, “आजकल इंटरनेट और ऑनलाइन शॉपिंग के दौर ने सारे कामों को आसान बना दिया है। ऐसे में गार्डनिंग भी इतनी मुश्किल नहीं। आपको बस अपना मन बनाना है और कुछ छोटी-छोटी तैयारियों के साथ आप गार्डनिंग शुरू कर सकते हैं।”

सबसे पहले अपने घर के अनुसार आपको गार्डनिंग की जगह सुनिश्चित करनी होगी। अगर आपके पास समय है, तो आप गार्डनिंग के लिए जरूरी सारा सामान घर में ही तैयार कर सकते हैं। लेकिन अगर आपके पास बिल्कुल भी समय नहीं है, तो आप ऑनलाइन भी इन चीजों को खरीद सकते हैं। रश्मि ने दोनों ही विकल्पों के बारे में जानकारी साझा की। 

Planter Stands

जगह के अनुसार चुनें गमले

अगर आपके पास छत है, तो आप वहां गार्डन बनाएं और अगर बालकनी है, तो वहां गमले रखें। रश्मि बताती हैं, “छत या बालकनी में पौधे लगाने के लिए ग्रो बैग सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है। इसे आप आराम से ऑनलाइन खरीद सकते हैं। अगर आप ग्रो बैग्स पर पैसे नहीं खर्च करना चाहते, तो आप घर पर पड़ी बेकार बाल्टी या पेंट के डिब्बों को इस्तेमाल में ले सकते हैं। 

कम जगह में गार्डनिंग करने के लिए वर्टिकल गार्डन बनाया जा सकता है, जिसके लिए आप प्लांट स्टैंड खरीदकर गमलों को उसपर रख सकते हैं। इसके साथ ही बालकनी के लिए हुक प्लांटर या हैंगिंग पॉट्स भी अच्छे विकल्प होते हैं। आपको ये प्लांटर्स आराम से ऑनलाइन मिल जाएंगे। हालांकि शुरुआत में रश्मि, ज्यादा प्लांटर्स खरीदने की सलाह नहीं देतीं। उनका कहना है कि अगर आप पहली बार गार्डनिंग कर रहे हैं, तो कम पौधों से शुरुआत करें। 

दूसरी सबसे जरूरी चीज़ है मिट्टी

Plant In Grow Bag

पौधे उगाने के लिए सही मिट्टी या पॉटिंग मिक्स तैयार करना बेहद जरूरी है। एक बार सही मिट्टी तैयार करने के बाद, आपका काम बेहद आसान हो जाएगा। रश्मि कहती हैं कि पॉटिंग मिक्स में कोकोपीट का उपयोग करना सही रहता है, इससे गमले का वज़न भी नहीं बढ़ता और यह आसानी से मिल भी जाता है। सबसे अच्छी पॉटिंग मिक्स तैयार करने के लिए, वह सामान्य मिट्टी, वर्मी कम्पोस्ट, कोकोपीट और थोड़ी सी रेत को आपस में मिलाने की सलाह देती हैं।

उन्होंने बताया कि एक बार अच्छी मिट्टी तैयार हो जाने पर, साल में सिर्फ तीन बार ही कम्पोस्ट का उपयोग करने की जरूरत पड़ती है।  

घर पर कम्पोस्ट बनाना, बेहद आसान और सस्ता तरीका होता है। लेकिन अगर आपके पास इसके लिए समय नहीं है, तो आप ऑनलाइन वर्मी कम्पोस्ट और कोकोपीट दोनों खरीद सकते हैं। वहीं, स्थानीय मिट्टी के लिए आप पास की नर्सरी जा सकते हैं। 

पौधे या बीज का चुनाव

Hanging Plants

जगह और गमले का चुनाव करने के बाद, सही पौधे का चयन करना भी बहुत ज़रूरी होता है। रश्मि, पहली बार गार्डनिंग करने वालों को हार्डी प्लांट्स लगाने की सलाह देती हैं। लेकिन अगर आपके घर में अच्छी धूप आती है, तो आप कुछ पत्तेदार सब्जियां या हर्ब्स आदि लगाकर भी शुरुआत कर सकते हैं। आप इनके बीजों को ऑनलाइन खरीद सकते हैं। 

अगर आप सजावटी पौधे लगा रहे हैं, तो अपने पास की नर्सरी से उन पौधों को चुनें जो आपके इलाके में अच्छे से विकसित होते हों। यानी स्थानीय जलवायु को ध्यान में रखकर ही पौधे लें। हालांकि आजकल पौधे भी ऑनलाइन मिलते हैं, लेकिन इसके लिए सही जानकारी होना बेहद जरूरी है। सिर्फ सुंदरता देखकर पौधे चुनना कभी-कभी गलत साबित हो जाता है। 

गार्डनिंग टूल्स

गार्डन में काम को आसान करने के बहुत सारे ऐसे छोटे-छोटे उपकरण भी हैं, जिससे गार्डनिंग करने में मदद मिलती है। शुरुआत में एक प्रूनिंग कटर और छोटी सी खुरपी आपके काम आ सकती है, इसे ऑनलाइन खरीदने के लिए यह लिंक देखें। 

आप धीरे-धीरे कुछ और टूल्स भी खरीद सकते हैं। जैसे-पौधे में पानी और दवा का छिड़काव करने के लिए एक स्प्रे बॉटल, हाथों के दस्ताने आदि।  

कीटनाशक

अक्सर पौधों में छोट-छोटे कीड़े लगने लगते हैं। इसके कारण पत्तियां सूखने लगती हैं और पौधों का विकास रुक जाता है। इन समस्याओं से निजात पाने के लिए रश्मि, नीम के तेल के छिड़काव का सुझाव देती हैं। उन्होंने बताया कि दूध और खट्टी छाछ भी कीटनाशक का काम करते हैं। 

दूध और छाछ तो आसानी से घर पर मिल जाएंगे, लेकिन अगर आप नीम के तेल का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो आप इसे भी ऑनलाइन खरीद सकते हैं। 

Gardening Tools

इस तरह बेहद आसानी से आप गार्डन का जरूरी सामान तैयार करके गार्डनिंग शुरू कर सकते हैं। अगर आप इन चीजों को अलग-अलग नहीं खरीदना चाहते, तो एक आसान गार्डनिंग किट भी ले सकते हैं। जिसमें आपको सारा बेसिक सामान एक किट के रूप में मिल जाएगा। 

यानी गार्डनिंग शुरू करने के लिए बस आपको मन तैयार करने भर की देर है। बाकी की जरूरी चीजें आपको आसानी से घर बैठे भी मिल सकती हैं। 

तो अब कम समय और कम जगह में भी आप अपने गार्डनिंग के शौक़ को पूरा करें।  

गार्डनिंग से जुड़ी ज्यादा जानकारी के लिए आप, रश्मि शुक्ला के यूट्यूब चैनल या उनके इंस्टा पेज पर संपर्क कर सकते हैं। 

हैप्पी गार्डनिंग!

संपादनः अर्चना दुबे

यह भी पढ़ें: Indoor Hanging Plants: हर पल ताजगी और आकर्षक डेकॉर के लिए घर में लगाइए ये पांच पौधे

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।