Search Icon
Nav Arrow
Grow Beetroot At Home, Learn Planting It In Pots With Video Guide

Grow Beetroot: खुद तैयार करें बीज और घर पर ही आसानी से उगाएं चुकंदर

बेंगलुरु की स्वाति द्विवेदी ने अपने घर में ही लगभग दो सौ से ज्यादा पौधे उगा रखे हैं। बैकयार्ड गार्डनिंग नाम से उनका एक यू ट्यूब चैनल भी है। उन्होंने, गमलों में ऑर्गेनिक चुकंदर उगाने के कुछ आसान से तरीके बताए।

Advertisement

बेंगलुरु की रहने वाली 35 वर्षीया स्वाति द्विवेदी को बचपन से ही बागवानी का शौक़ रहा है। नौकरी करने के बावजूद, उन्होंने अपने इस शौक़ को मरने नहीं दिया। स्वाति ने घर के बैकयार्ड में, 200 से ज्यादा पौधे लगाए हैं। वह, सभी पौधों की पूरी देखभाल खुद ही करती हैं और यूटयूब पर गार्डनिंग के वीडियोज़ डालकर अपने शौक़ को आगे बढ़ा रही हैं। हाल ही में स्वाति ने घर पर चुकंदर उगाने (grow beetroot at home) को लेकर भी एक वीडियो बनाई है। जिसमें बाज़ार से खरीदे गए चुकंदर से बीज बनाकर, इसे ऑर्गेनिक तरीके से गमलों में उगाने के बारे में विस्तार से बताया गया है।

हिमोग्लोबिन बढ़ाता है चुकंदर

स्वाति कहती हैं, “हालांकि, इस तरीके से चुकंदर उगाने में थोड़ा ज्यादा समय लगता है। लेकिन आप घर पर ही रसायन का इस्तेमाल किए बिना, ऑर्गेनिक तरीके से उन्हें गमलों में उगा सकते हैं। जब ये तैयार हो जाते हैं, तो आपको घर पर उगे ताज़े और सेहतमंद चुकंदर खाने को मिलते हैं।” उनका कहना है कि यह एक कम कैलोरी वाला फूड है, जिसे स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा माना जाता है।

हाल ही में किए गए अध्ययन से भी यह साबित होता है कि चुकंदर को सब्जी के रूप में खाने या फिर उसका जूस पीने से रक्त संचार और हिमोग्लोबिन बढ़ता है। यह ब्लड प्रेशर को भी कम करता है, लेकिन ये फायदे तभी मिलेंगे, जब चुकंदर को बिना रसायन के ऑर्गेनिक तरीके से उगाया गया हो।

जानें चुकंदर से ओर्गेनिक बीज बनाने का तरीकाः

इन चीजों की होगी जरूरत:

  1. एक चुकंदर
  2. एक कटोरी या फिर कम गहरी प्लेट
  3. पानी
  4. पॉटिंग मिक्स
  5. एक डिब्बा

चुकंदर से बीज तैयार करने के स्टेप्स: 

  • जिस चुकंदर को आपने बाज़ार से खरीदा है, उसकी सूखी पत्तियों को हटा दें।
Take a store-bought beetroot and remove the dry leaves from the top to grow beetroot at home
Remove the dried leaves on top.
  • अब इसके ऊपरी हिस्से को काट लें। यह वह हिस्सा है, जिस पर पत्तियां लगी होती हैं और वह शाखा से जुड़ा होता है।
Slice the top half along with the shoots and leaves to grow beetroot at home
Cut the top half of the beetroot.
  • अब इस कटे हुए हिस्से को कटोरी या फिर कम गहरी प्लेट में रखकर, इसमें पानी डाल दें।
beetroot slice in a bowl with little water
Place the slice in a bowl with little water

नोटः ध्यान रहे ऊपरी हिस्सा पानी में डूबने न पाए, वर्ना यह सड़ने लगेगा। 

  • इसे किचन काउंटर या खिड़की के पास रखें, जहां सीधी धूप ना मिले।
  • तीन या 4 दिन के बाद आप देखेंगे कि चुकंदर में ताज़ी पत्तियां आनी शुरू हो गई हैं।
Beetroot greens for salads, soup or pasta
At this stage beetroot leaves can be harvested for salads too

नोटः हर तीसरे दिन आपको इसका पानी बदलना होगा। 15 दिन के बाद इसके पत्ते बड़े होने लगेंगे, तब आप इसे गमले में पॉटिंग मिक्स के साथ रोप सकते हैं, लेकिन इसे छाया में ही रखें। 

  • अगले तीन या चार महीने तक इसे पानी देते रहें। फिर इसमें फूल आने शुरू हो जाएंगे।
  • अब इसके तने और फलों को काटकर, छाया में सुखा लें, बस बीज तैयार है।
  • चुकंदर लगाने के लिए सर्दियों का मौसम सही रहता है, तब तक आप इसके बीज को स्टोर करके रख सकते हैं।

गमले में चुकंदर उगाने का आसान तरीका 

चुकंदर का बीज तैयार करने के बाद, बारी आती है गमलों में चुकंदर उगाने की। वैसे अगर आप चाहें, तो बाजार से सीधे, चुकंदर के बीज खरीदकर भी ला सकते हैं। 

Advertisement
  • नम मिट्टी में बीजों को डालें। ध्यान रहे, हर बीज के बीच कम से कम एक इंच की दूरी हो।
  • अब ऊपर से कुछ मिट्टी डालकर इन्हें दबा दें, और थोड़ा पानी का छिड़काव करें।
  • 24 दिन के अंदर बीज अंकुरित हो जाएंगे।
  • अब आप इस नन्हें पौध को किसी बड़े गमले या फिर अपने बगीचे की मिट्टी में रोप सकते हैं।

चुकंदर को ज्यादा धूप की जरूरत नहीं होती। इसे ऐसी जगह पर रखें, जहां सिर्फ 4-5 घंटे की धूप आती हो। हफ्ते में सिर्फ एक बार पानी दें और घर पर बनी खाद का इस्तेमाल करें। पौधा जब बढ़ने लगे, तो उसके कुछ हफ्तों बाद ही, उसमें खाद डालें। 90 दिन के अंदर चुकंदर बढ़कर तैयार हो जाएंगे।

यहां देखें वीडियोः

मूल लेखः रोशनी मुथुकुमार

संपादनः अर्चना दुबे

यह भी पढ़ेंः गायों की तो सब सेवा करते हैं, पर ये युवक 2000 बैलों तक रोज़ पहुंचाते हैं खाना

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

Advertisement
close-icon
_tbi-social-media__share-icon