Search Icon
Nav Arrow
Amit, the viral video child who asked to wear mask was made a mascot by himachal police at dharamshala

Viral Video में भीड़ को डंडा दिखाकर मास्क पहनने को कह रहा था बच्चा, पुलिस ने बनाया मैस्कॉट

5 साल का अमित, अपने माता-पिता की आर्थिक मदद करने के लिए गुब्बारे बेचता है। मैकलोडगंज के पास भागसुनाग की सड़कों पर खड़े अमित के पांव में चप्पल नहीं है। लेकिन अपनी और दूसरों की परवाह इतनी कि खुद तो मास्क लगाया ही है, दूसरों से भी मास्क पहनने की अपील कर रहे हैं।

एक ओर जहां दिन-ब-दिन कोरोना गाइडलाइंस में मिल रही छूट के साथ लोग लापरवाह हो रहे हैं। वहीं हिमाचल प्रदेश से एक ऐसा viral video सामने आया, जिसने देखनेवालों के चेहरों पर मुस्कान ला दी। इस नन्हे ‘कोविड वॉरियार’ ने लोगों को डंडे के साथ, मास्क और उनके जीवन का महत्व समझाया।

Viral Video में दिख रहे बच्चे का नाम अमित है। अमित के माता-पिता गुजरात के रहनेवाले हैं। वे गैस-स्टोव ठीक करने का काम करते हैं। अमित के 3 और भाई भी हैं। दो भाई उनसे छोटे और एक बड़ा है। 7 साल का अमित और उनके भाई, अपने माता-पिता की आर्थिक मदद करने के लिए गुब्बारे बेचते हैं।

Amit, the Viral Video chold asking to wear mask with his brothers in Dharamshala
Amit & his brothers

नंगे पांव खड़े रहकर की, मास्क पहनने की अपील

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेज़ी से वायरल हो रहा है, जिसमें एक छोटा बच्चा भीड़-भाड़ वाली गली में, लोगों को मास्क पहनने के लिए कहता नज़र आ रहा है। इस वीडियो को देख, हम-आप एक बार मुस्कुरा कर भले ही आगे बढ़ जाएं। लेकिन परिवार की आर्थिक मदद करने के साथ-साथ इस बच्चे ने छोटी-सी उम्र में जो बड़ी जिम्मेदारी उठाई, वो काबिल-ए-तारीफ है।

View this post on Instagram

A post shared by Dharamshala Triund Mcleodganj™ (@dharamshalalocal)

मैकलोडगंज के पास भागसुनाग की सड़कों पर खड़े अमित के पांव में चप्पल नहीं है। लेकिन अपनी और दूसरों की परवाह इतनी, कि खुद तो मास्क लगाया ही है, दूसरों से भी मास्क पहनने की अपील कर रहे हैं।

COVID के कारण बंद हुए स्कूल, छिन गई किताबें

इस वीडियो को शेयर करनेवाले अभय ने द बेटर इंडिया को बताया, “हम बच्चे के साथ उसके घर गए थे। हमने अमित और उनके भाइयों को जूते दिलवाए। वहां हमें बताया गया कि अमित स्कूल जाते थे, लेकिन कोरोना के कारण स्कूल बंद हैं, तो वह अपने माता-पिता की मदद कर रहे हैं। उनके माता-पिता के पास फोन नहीं है जिससे वे ऑनलाइन क्लास ले सकें।”
अभय ने बताया, “अभी तक काफी लोग अमित की मदद के लिए आगे आए हैं। हमारी कोशिश है कि उनके माता-पिता को कोई नौकरी मिल जाए, जिससे वे बच्चों को पढ़ा सकें और अमित व उनके भाइयों को काम न करना पड़े।”

यह वीडियो हम सबके लिए बेहद ज़रूरी संदेश दे रहा है। हाल ही में, मनाली में सैलानियों की उमड़ी भीड़ की वायरल फोटो को देखते हुए, यह हम सबकी ज़िम्मेदारी बनती है कि हम मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें। देश जब भी लॉकडाउन की तरफ बढ़ता है, तो हममें से ज्यादातर लोग वर्क फ्रॉम होम कर लेते हैं। आप पर हो सकता है, उतना असर न पड़े, लेकिन लॉकडाउन का जो असर इनके ऊपर पड़ता है, शायद ये वही दर्द है, जिसने इस बच्चे को ऐसा करने पर मजबूर कर दिया।

पुलिस ने बनाया मैस्कॉट

Dharamshala Police gave Amit food & energy drinks for asking people to wear mask
Police gave him breakfast

इस वीडियो को इंस्टाग्राम के Dharamshala Local नाम के पेज से शेयर किया गया। सोशल मीडिया पर काफी लोगों ने इसे देखा और इस छोटे से बच्चे के बड़े प्रयास को बहुत सराहा। स्थानीय पुलिस ने प्रशंसा करते हुए, अमित को सम्मानित किया और अपना मैस्कॉट बनाया है। पुलिस ने उन्हें एक पहाड़ी टोपी, नाश्ता और एक एनर्जी ड्रिंक भी भेंट की।

देश ने इस साल कोरोना के कारण मौत का जो तांडव देखा, उसके बाद भी इस तरह की लापरवाही करना उचित नहीं। ऐसा करने से, कोविड के मामले बढ़ेंगे और ऐसा हुआ, तो आपके कारण देश फिर लॉकडाउन तक जाएगा। अमित जैसे कई बच्चों के लिए विपरित स्थिति पैदा होगी और तब इसकी ज़िम्मेदारी भी आपकी होगी।

दो गज की दूरी का पालन करें। किसीके डर के कारण नहीं, अपनी और अपनों की सुरक्षा के लिए  मास्क ज़रूर लगाएं।  

ये भी पढ़ेंः हर वीकेंड सड़कों की सफाई करते हैं यह इंजीनियर, 150 किलो प्लास्टिक कर चुके हैं जमा

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

close-icon
_tbi-social-media__share-icon