Search Icon
Nav Arrow
Summer Vegetables

Grow Summer Vegetables: जानिए कैसे उगायें गर्मियों में सब्जियां और कैसे करें इनकी देखभाल

गर्मियों के मौसम में आप अपने घर की छत या बालकनी में उगा सकते हैं, लौकी, पेठा, तोरई, करेला, टिंडा जैसी बेल वाली सब्जियां। इसके साथ, भिंडी, टमाटर, चौलाई साग आदि उगा सकते हैं।

Advertisement

गर्मी ने दस्तक दे दी है और शुरुआत हो गयी है, गर्मियों की सब्जियों (Summer Vegetables) को उगाने की। जो लोग अपने घर में बागवानी करते हैं और खुद अपनी सब्जियां उगाते हैं, वे फरवरी-मार्च में इस मौसम की सब्जियों के बीज लगाना शुरू कर देते हैं। इस मौसम में आप टमाटर, हरी मिर्च, लौकी, पेठा, तोरई, खीरा, ककड़ी, भिंडी, मक्का, जुकीनी, टिंडा, बैंगन, शिमला मिर्च, फलियां जैसे सेम, लोबिया, बरबटी आदि लगा सकते हैं। 

हरियाणा में करनाल के रहने वाले गार्डनिंग एक्सपर्ट रामविलास आज हमें बता रहे हैं कि गर्मी के मौसम में आप, किस तरह हरी-भरी सब्जियां गमले में उगा सकते हैं। 

रामविलास कहते हैं, “अगर आप इस महीने में बीज लगा रहे हैं तो अप्रैल के अंत तक सब्जियां आने लगेंगी। इस मौसम में ज्यादातर बेल वाली हरी सब्जियां लगती हैं। इसके अलावा आप फलियां, पालक, पुदीना, धनिया जैसी सब्जियां और तरबूज तथा खरबूज जैसे फल भी लगा सकते हैं।” 

नियमित रूप से देखभाल और सही समय से पानी दिया जाये तो 60 से 70 दिनों में, आपको अपने बगीचे से ताज़ी सब्जियां (Summer Vegetables) मिलने लगेंगी। वह आगे कहते हैं कि कुछ सब्जियां आप सीधा गमले में लगा सकते हैं तो कुछ सब्जियों की पौध तैयार करके लगा सकते हैं। इसके साथ ही वह सलाह देते हैं, “अक्सर लोगों को लगता है कि बेल वाली सब्जियां 10-12 इंच के गमलों में आसानी से लग जाती हैं। लेकिन, पौधे लगाते समय हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि किस पौधे की जड़, कैसे बढ़ती है। बेल वाली लगभग सभी सब्जियों की जड़ फैलती है इसलिए, इन्हें ज्यादा जगह की जरूरत होती है। जो जगह उन्हें छोटे गमलों में नहीं मिल पाती। अगर आप इन्हें गमलों में लगाएंगे तो आपको सब्जियों की अच्छी उपज नहीं मिलेगी। इसलिए, हमेशा ऐसा कंटेनर लें जो गहराई और चौड़ाई में कम से कम एक-डेढ़ फ़ीट का हो। बाकी कुछ भिंडी जैसी सब्जियां, जिनके पौधों की जड़े सीधा बढ़ती हैं, इन्हें आप 10-12 इंच के गमलों में लगा सकते हैं।”  

पौध तैयार करने के लिए कैसे बनाएं पॉटिंग मिक्स

वह बताते हैं कि हर एक सब्जी के लिए, आपको पौध तैयार करने की जरूरत नहीं है। लेकिन, जिन सब्जियों की पौध आपको तैयार करनी है, उनके लिए आप पॉटिंग मिक्स ऐसा बनाएं जो हल्का हो। इसके लिए, आप मिट्टी में राख (उपले या लकड़ी की राख) या धान की भूसी, गोबर की खाद या वर्मीकंपोस्ट, पत्थर का चूरा और नीमखली मिला लें। इस पॉटिंग मिक्स में बीजों को लगाने से पहले, आप बीजों को एक रात पानी में भिगोकर रखें।

उन्होंने बताया, “बीज लगाते समय भी एक बात का ख़ास ध्यान रखना होता है। अक्सर लोग, जिस तरफ से बीज खुलता है, उस सिरे को ऊपर की तरफ रखते हैं। लेकिन, बीज का वह सिरा नीचे की तरफ होना चाहिए क्योंकि, वहाँ से जड़ें निकलती हैं। इसी प्रकार, दूसरा सिरा ऊपर की तरफ होना चाहिये क्योंकि, वहां से बीज अंकुरित होता है।” 

उगा सकते हैं गर्मियों की ये सब्जियां (Summer Vegetables): 

1. मक्का: 

Summer Vegetables
मक्का (स्त्रोत)

आप बाजार से लाए मक्के को भी, घर पर लगा सकते हैं। आप मक्के के कुछ दाने लें और इन्हें एक रात पानी में भिगोकर रखें या फिर आप इन्हें किसी गीले कपड़े में भी बांधकर रख सकते हैं और दो दिन में जब ये अंकुरित हो जाएं तो आप इन्हें लगा सकते हैं। 

  • मक्का लगाने के लिए आप ऐसा गमला/ग्रो बैग या कंटेनर लें, जिसकी गहराई अच्छी हो। 
  • मिट्टी तैयार करने के लिए आप सामान्य बगीचे की मिट्टी में रेत, खाद, और नीमखली मिला लें। 
  • अब गमलों में मिट्टी भर दें और बराबर दूरी पर बीजों को लगा दें और ऊपर से गमलों में पानी दें। 
  • लगभग एक हफ्ते में बीज अंकुरित होने लगेंगे। 
  • जब पौधे 25-30 दिन के हो जाएँ तो आप इनमें और खाद या अन्य पोषक तत्व दे सकते हैं। 
  • पानी देने का पूरा ख्याल रखें। 
  • लगभग 40 दिन बाद पौधों में नर फूल आने लगते हैं। मादा फूलों के आने में 50 दिन का समय लग जाता है। 
  • पौधों में मक्का तभी बनेगी, जब पोलीनेशन अच्छा होगा और इसके लिए, जरुरी है कि हवा से परागकण उड़कर मादा फूलों पर गिरें। 
  • अगर आप ने पौधे कम लगाएं हैं तो आप खुद भी पौधों को हल्का-सा हिला सकते हैं। 
  • लगभग दो महीने बाद पौधों में मक्का बनने लगती हैं, जिन्हें आप 70-75 दिन बाद तोड़ सकते हैं। 

2. टिंडा: 

Grow Summer Vegetables
टिंडा (स्त्रोत)

टिंडा लगाने के लिए आपको काफी चौड़ा और गहरा गमला या कंटेनर की जरूरत होती है। टिंडे के बीजों को आप सीधा भी लगा सकते हैं या इनकी पौध भी तैयार कर सकते हैं। 

  • अगर आप पौध तैयार करके लगा रहे हैं तो कम से कम दो हफ्तों बाद, आप इन्हें बड़े गमलों में लगा दें। 
  • नियमित रूप से पानी देते रहें और गमलों को धूप में रखें। 
  • टिंडे की बेल जब लगभग छह इंच की हो जाए तो आप इसमें और खाद या पोषक तत्व डाल सकते हैं। 
  • डेढ़ महीने बाद बेल में नर फूल आने लगेंगे और इनके कुछ दिनों बाद मादा फूल। 
  • अगर आपको लगता है कि बेल में प्राकृतिक रूप से पोलीनेशन नहीं हो रहा है तो आप खुद भी अपने हाथ से पोलीनेशन कर सकते हैं। 
  • लगभग 70 दिनों बाद आप देखेंगे कि बेल में टिंडे लगने लगे हैं। 
  • जब टिंडों का आकार काफी बड़ा हो जाये तो आप इन्हें तोड़ना शुरू कर सकते हैं। 

3. फ्रेंच बीन्स: 

फ्रेंच बीन्स की पौध तैयार करके आप इन्हें लगा सकते हैं। 

Summer Vegetables
फ्रेंच बीन्स (स्त्रोत)

  • पौध तैयार करने के लिए आप बीज को एक रात भिगोकर रखें और किसी सीडलिंग ट्रे या छोटे गमलों में पॉटिंग मिक्स भरकर लगा दें।
  • लगभग एक हफ्ते में पौध तैयार हो जाएगी और इन पौधों को लगभग दो हफ्तों बाद, आप बड़े गमलों में लगा सकते हैं। 
  • फ्रेंच बीन्स के लिए, आप 10-12 या 16 इंच का गमला या ग्रोबैग ले सकते हैं। 
  • इसमें आप सामान्य बगीचे की मिट्टी, खाद, रेत और नीमखली मिला लें। 
  • बड़े गमलों में मिट्टी भरकर, अब इनमें पौधों को लगा दें। 
  • ध्यान रहे कि आप पौधों को नियमित रूप से पानी दें और इन्हें धूप भी पर्याप्त मात्रा में मिले। 
  • पौधे जब छह इंच के हो जाएँ तो आप गमलों में और खाद मिलाएं। 
  • लगभग ढाई महीने में पौधों पर फलियां लगने लगती हैं। 

4. भिंडी: 

Advertisement

भिंडी की पौध तैयार करने की जरूरत नहीं होती है। आप भिंडी के बीज को सीधा गमलों में लगा सकते हैं। इसके लिए आप 10-12 या 16 इंच का गमला ले लें। 

Summer Vegetables
भिंडी (स्त्रोत)

  • गमले के तले में छेद होना चाहिए, जिस पर आप कोई छोटा पत्थर या दिया रख दें। 
  • अब गमले में मिट्टी भरें, जिसमें आप सामान्य बगीचे की मिट्टी, रेत, पत्थर का चूरा, खाद, नीमखली मिला लें। 
  • अब बराबर दूरी पर भिंडी के बीज लगा दें। 
  • बीज लगाने के बाद इसमें पानी सीधा ना डालकर, छिड़काव करें ताकि मिट्टी बहे नहीं।
  • लगभग एक हफ्ते में बीज अंकुरित होकर, पौधे तैयार होने लगेंगे। 
  • गमलों को अच्छी धूप में रखें और पानी का पूरा ध्यान रखें ताकि मिट्टी में नमी बनी रहे। 
  • नियमित पानी देने के साथ-साथ पौधों के पोषण का भी ख्याल रखें। 
  • जब आपके पौधे लगभग छह इंच के हो जाएं तो इनकी जड़ों से हल्की-हल्की मिट्टी हटाकर पत्तों की खाद या गोबर की खाद डालें। 
  • इसके अलावा, आप तरल खाद भी पौधों को देते रहें। 
  • लगभग ढाई महीने में आपके पौधों में भिंडीयां लगने लगेंगी। 

5. चौलाई साग:

Grow Summer Vegetables
चौलाई साग (स्त्रोत)

चौलाई साग आप बीजों से या फिर कटिंग से भी लगा सकते हैं। बहुत ज्यादा गर्मी वाले महीने को छोड़कर, आप किसी भी महीने में इसके बीज, अपने बगीचे में लगा सकते हैं। 

  • चौलाई साग लगाने के लिए आप बड़े गमले या ग्रो बैग का इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • पॉटिंग मिक्स बनाने के लिए सामान्य बगीचे की मिट्टी में आप रेत और खाद मिला लें। 
  • अब चौलाई के बीजों को गमलों में पॉटिंग मिक्स भरकर लगा दें और ऊपर से पानी दें। 
  • सात से 10 दिन में बीज अंकुरित होने लगते हैं। 
  • पौधों की जरूरत के हिसाब से पानी देते रहें। 
  • लगभग 45-50 दिनों में पौधे इतने बड़े हो जाते हैं कि आप इनकी कटाई कर सकते हैं। 

6. अरबी: 

अरबी (स्त्रोत)

अरबी को भी आप गमलों में उगा सकते हैं और वह भी बाजार से लाई हुई अरबी से ही। इसके लिए, आपको अरबी की वह गांठे लेनी हैं, जिनमें बड निकली हुई हो। 

  • इसके लिए आप लगभग 16 इंच का गमला लें और गमले की चौड़ाई अच्छी हो तो बेहतर रहेगा।
  • पॉटिंग मिक्स बनाने के लिए आप सामान्य बगीचे की मिट्टी में रेत और खाद मिला लें। 
  • अब आप गमलों में बराबर दूरी पर अरबी की बड वाली गांठे लगा दें और ऊपर से पानी दें। 
  • अरबी एक कंद (जड़ वाली सब्जी) है इसलिए, ध्यान रखें कि गमले में पानी बहुत ज्यादा न हो। 
  • अरबी को पनपने में लगभग एक महीने का समय लगता है। 
  • आप नियमित तौर पर पानी, धूप और खाद का खास ख्याल रखें। 
  • लगभग पाँच से छह महीने में अरबी की फसल तैयार हो जाती है। 

इन सबके अलावा आप लौकी, करेला, खीरा, और पेठा आदि कैसे उगा सकते हैं, यह जानने के लिए यहां क्लिक करें!

कैसे बनाएं पोषक खाद:

रामविलास कहते हैं कि सब्जियों को ठोस खाद देने से बेहतर है, तरल खाद देना। इसके लिए, गोबर की खाद या सरसों खली को पाँच-छह दिन पानी में भिगोकर रखें। इसे बीच-बीच में चलाते रहें। इस घोल को पानी में मिलाकर नियमित अंतराल पर पौधों में दें। इसके अलावा, घर से निकलने वाले जैविक कचरे जैसे केले, संतरा, नींबू आदि के छिल्कों को भी पानी में भिगोकर रखा जा सकता है और फिर, इस पानी को पौधों को दे सकते हैं। पौधों पर कोई कीट नहीं लगे इसके लिए, आप नीम तेल का छिड़काव भी सभी पौधों पर कर सकते हैं। 

तो देर किस बात की, आप भी शुरू करें गर्मियों में (Summer Vegetables) गमले में सब्जियों की खेती। अगर आपको भी है बागवानी का शौक और आप ने भी अपने घर की बालकनी, किचन या फिर छत को बना रखा है, पेड़-पौधों का ठिकाना तो हमारे साथ साझा करें अपनी #गार्डनगिरी की कहानी। तस्वीरों और सम्पर्क सूत्र के साथ हमें लिख भेजिए अपनी कहानी hindi@thebetterindia.com पर!

संपादन- जी एन झा

यह भी पढ़ें: Grow Cucumber: गमले या ग्रो बैग में इस आसान तरीके से उगा सकते हैं खीरा

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

Summer Vegetables, Summer Vegetables, Summer Vegetables

Advertisement
_tbi-social-media__share-icon