Search Icon
Nav Arrow

बेटी के बालों से डैंड्रफ हटाने के लिए घर पर बनाया तेल, यही बन गया लाखों का बिज़नेस

तिरुवनंतपुरम, केरल की रहने वाली श्रीविद्या एम.आर. ने अपनी बेटी के बालों से डैंड्रफ हटाने के लिए एक पारंपरिक विधि से तेल बनाया था। आज इसी तेल को वह ‘नंदीकेशम’ ब्रांड नाम से बेचकर लाखों का बिज़नेस कर रहीं हैं।

आज के जमाने में शायद ही कोई होगा, जिसे बालों से संबंधित कोई परेशानी नहीं होगी। कोई बालों के झड़ने से परेशान है, तो कोई इनके जल्दी सफेद होने से। बहुत से लोग बालों में डैंड्रफ की समस्या को लेकर काफी परेशान रहते हैं। तरह-तरह के उपाय करने के बाद भी उन्हें अच्छे परिणाम नहीं मिलते हैं। जैसा कि, केरल की रहने वाली श्रीविद्या की बेटी गायत्री के साथ हो रहा था। 

तिरुवनंतपुरम में रहने वाली श्रीविद्या एम. आर. अपनी बेटी के बालों में डैंड्रफ की समस्या से काफी ज्यादा परेशान थीं। उन्होंने इस परेशानी से निजात पाने के लिए, तरह-तरह की चीजें इस्तेमाल की पर कोई हल नहीं निकला। लेकिन, कहते हैं ना कि माँ अगर कुछ ठान ले तो उसे करती जरूर है। ऐसा ही कुछ श्रीविद्या के मामले में हुआ, उन्होंने न सिर्फ अपनी बेटी की परेशानी का हल ढूंढा बल्कि वह आज लाखों लोगों को, उनके बालों की समस्या का हल दे रही हैं। 

यह कहानी साल 2016 में शुरू हुई, जब गायत्री को बालों में बहुत ज्यादा डैंड्रफ होने लगा। तब गायत्री आठवीं कक्षा में थी। श्रीविद्या बतातीं हैं, “जब भी मैं किसी डैंड्रफ हटाने वाले शैम्पू, तेल जैसे उत्पाद का विज्ञापन देखती तो तुरंत उसे गायत्री के लिए खरीदती थी। मैंने बहुत से शैम्पू, तेल खरीदे जो  डैंड्रफ  को जड़ से हटाने का दावा करते थे लेकिन, कोई फर्क नहीं पड़ा।”

इस दौरान, श्रीविद्या ने अपनी माँ से पूछा कि वह क्या करे?  तब उनकी माँ ने उन्हें घर में बनने वाले एक तेल की पारंपरिक विधि के बारे में बताया। वह बतातीं हैं, “मुझे बचपन में कभी डैंड्रफ नहीं हुआ और शायद यह इसी तेल का कमाल था, जिसे मेरी माँ बनाती थीं। इसलिए, मैंने भी इस तेल को अपनी बेटी के लिए बनाने की बात सोची।”

यह तेल बनाने के लिए उनकी माँ ने, उन्हें एक किलो ताजा नारियल का दूध, एलोवेरा, आंवला, गुड़हल और कुछ अन्य सामग्रियां खरीदने के लिए कहा। वह बतातीं हैं कि तेल बनाने के लिए, सभी सामग्रियां उचित मात्रा में मिलानी होती हैं। हर एक चीज का अपना महत्व है और वह तभी काम करती है, जब आप सही मात्रा में इसे मिलाते हैं। इसलिए, उन्होंने सभी चीजें अपनी माँ के कहे अनुसार मिलाई।

Kerala

वह आगे कहती हैं, “गायत्री को डैंड्रफ के कारण बहुत ज्यादा खुजली होती थी। इसलिए, मैं उसके लिए सबसे अच्छा तेल तैयार करना चाहती थी। इस तेल को तैयार करने में तीन घंटे का समय लगा। मन में चिंता भी थी कि अगर इस तेल ने भी काम नहीं किया तो क्या होगा?”

श्रीविद्या ने अपनी माँ के साथ मिलकर यह तेल तैयार किया। हैरत की बात यह थी कि इस तेल के इस्तेमाल से, चंद हफ्तों के भीतर ही गायत्री के बालों से डैंड्रफ एकदम गायब हो गया। उसके बाल स्वस्थ रूप से बढ़ने लगे। वह कहती हैं कि पहले गायत्री के बाल गहरे भूरे रंग के थे पर इस पारंपरिक तेल के इस्तेमाल के बाद, उसके बाल काले होने लगे।  गायत्री के बालों में बदलाव देखकर, उसकी सहेलियां तथा शिक्षिकाएं भी उससे पूछने लगीं की यह कैसे संभव हुआ? गायत्री ने उन्हें अपनी माँ के खास तेल के नुस्खे के बारे में बताया। 

बेटी के साथ से बढ़ीं आगे:

जल्दी ही, श्रीविद्या को उनकी बेटी की सहेलियां और शिक्षिकाएं भी तेल के लिए सम्पर्क करने लगीं। वह बतातीं हैं, “वैसे तो यह तेल मैंने अपनी बेटी की डैंड्रफ की समस्या को खत्म करने के लिए बनाया था लेकिन, उसकी शिक्षिकाओं ने बताया कि इससे उनके बाल भी तेजी से बढ़ने लगे हैं। यह सुनकर मुझे बहुत अच्छा लगा कि मेरे तेल से सिर्फ मेरी बेटी की नहीं बल्कि औरों की भी मदद हो रही है।”

 श्रीविद्या भी अपनी बेटी के साथ इस तेल को इस्तेमाल करने लगीं और उनके दोस्त तथा रिश्तेदार भी इसके बारे में पूछने लगे। इस तरह एक घरेलू तेल की विधि, एक बेहतरीन तेल के रूप में विकसित होने लगी और साल 2018 में, श्रीविद्या ने अपने स्टार्टअप की शुरुआत की। वह बताती हैं, “मैंने अपने एक दोस्त के साथ इस बिजनेस का विचार साझा किया। उन्होंने मुझे तेल के उत्पादन के लिए सहयोग किया।” अपना स्टार्टअप शुरू करने के लिए उन्होंने चार लाख रुपए का पर्सनल लोन लिया। 

पहले उनका तेल सिर्फ स्थानीय स्टोर पर जा रहा था लेकिन, अब यह पूरे केरल में उपलब्ध है। 

Homemade Hair Oil

42 वर्षीया श्रीविद्या याद करते हुए कहतीं हैं, “जब हमने स्टार्टअप शुरू किया तो फेसबुक से हमारी काफी मदद हुई। मुझे याद है, जब मैंने तेल की शीशी की पहली फोटो पोस्ट की तो चंद दिनों में ही लोग, मुझसे इसके बारे में पूछने लगे थे। बहुत से ग्राहकों ने इसे इस्तेमाल करने के बाद, हमारे पेज पर रिव्यु भी लिखे और उन्हें देखकर अधिक ग्राहक जुड़ने लगे।” इस स्टार्टअप के अंतर्गत अभी सिर्फ एक ही उत्पाद ‘नंदीकेशम’ तेल बिक रहा है। लेकिन, ग्राहकों की मांग पर वह हर्बल शैम्पू, सफेद हो रहे बालों के लिए इंडिगो तेल और सैनिटाइजर भी बनाती हैं। 

वह कहतीं हैं, “100 मिली तेल की कीमत 350 रुपये, 200 मिली तेल की कीमत 680 रुपये और 500 मिली की कीमत 1700 रुपये है।”

सभी तरह के बालों के लिए कारगर: 

वह आगे बतातीं हैं कि जब उनके तेल की मांग बढ़ने लगी तो उन्होंने तिरुवनंतपुरम के पल्लीमुक्कू में अपनी एक इकाई स्थापित की। यहां पर उनके साथ तीन कर्मचारी काम करते हैं। उनके सभी उत्पादों के परीक्षण का काम उनकी बेटी गायत्री करती है, जो उनके ब्रांड की ‘टेस्टर-इन-चीफ’ है। 

वह कहतीं हैं, “मेरी बेटी उत्पादों के बारे में हमेशा सही समीक्षा देती है। आलोचक होने के साथ-साथ वह मेरा सबसे बड़ा हौसला भी है।” तेल के बारे में वह आगे कहतीं हैं कि उनकी बेटी को इस तेल से तनाव-मुक्त रहने में भी मदद मिलती है। कई बार ज्यादा परेशान होने पर उसे नींद नहीं आती है तो वह यह तेल लगाती है और उसे वाकई आराम मिलता है। श्रीविद्या कहतीं हैं कि अपनी बेटी के चेहरे पर ख़ुशी देखकर, उन्हें अपने उत्पाद पर काफी ज्यादा गर्व होता है। यह उत्पाद सभी के लिए है। 

Homemade Hair Oil

बच्चों से लेकर बड़ों तक अपने किसी भी तरह के बालों के लिए, इस तेल का प्रयोग कर सकते हैं। वह बतातीं हैं कि सभी सामग्रियां स्थानीय तौर पर ही जैविक किसानों से खरीदी जाती हैं। जैसे- नील का पौधा, कपूर का पौधा, गुड़हल, आंवला आदि। साथ ही, उनका कहना है कि उनके सभी उत्पाद डॉक्टरों द्वारा जांच करने बाद ही ग्राहकों तक पहुँचते हैं।  

वह कहतीं हैं, “अपने उत्पादों को बेचने पर मुझे 3 लाख रूपये प्रति महीने आमदनी होती है। मुनाफे का इस्तेमाल बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए किया जा रहा है। मैं इस साल आयुर्वेदिक साबुन और फेस वॉश भी बनाना चाहती हूँ।” उनके उत्पादों की मांग कर्णाटक, मुंबई, दिल्ली और हैदराबाद जैसी जगहों पर भी हो रही है। 

उनके उत्पाद खरीदने के लिए आप अमेज़न वेबसाइट पर जा सकते हैं। या फिर उनकी अपनी वेबसाइट और फेसबुक पेज पर भी उनसे संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा, आप उन्हें 9446774222, 9497060310 पर भी कॉल कर सकते हैं। 

मूल लेख: संजना संतोष 

संपादन – जी एन झा

यह भी पढ़ें: जानिये कैसे! ‘ऑल-विमन कैंटीन’ ने बढ़ाया 3 हजार रूपये के बिजनेस को 3 करोड़ रूपये/वर्ष तक

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

Homemade Hair Oil, Homemade Hair Oil, Homemade Hair Oil, Homemade Hair Oil

close-icon
_tbi-social-media__share-icon