Search Icon
Nav Arrow
Terrace Garden

गमले में कटहल और अंगूर? इनसे जानिए कैसे संभव है

अपने 1,200 वर्ग फुट छत पर 100 किस्म की फल-सब्जियां उगाने वाले मैंगलोर के ब्लैनी डिसूजा, गमले में कटहल और अंगूर तक उगा लेते हैं।

क्या आपने कभी कटहल या अंगूर को गमले में उगाया है? या फिर कभी आपने किसी को ऐसा करते हुए देखा या सुना है? अगर नहीं! तो आज हम आपको एक ऐसे ही शख्स से मिलवाने जा रहे हैं, जो अपने गमलों में न सिर्फ कटहल और अंगूर उगा रहे हैं बल्कि अपने टेरेस गार्डन में 100 किस्मों की फल तथा सब्जियां भी उगा रहे हैं।

यह कहानी मैंगलोर के टेरेस गार्डनर ब्लैनी डिसूजा की है। जब ब्लैनी डिसूजा ने लोगों को बताया कि वह एक गमले में कटहल उगाने की कोशिश कर रहे हैं, तो लोग उन पर हँसते थे। ठीक एक साल बाद, वही लोग उनसे अनुरोध करने लगे कि उन्हें भी वह गमले में कटहल उगाने की तरकीब सिखा दें।

jackfruit in hindi

ब्लैनी डिसूजा सोशल मीडिया पर खूब लोकप्रिय हैं। उन्हें शुरुआत से गार्डनिंग का शौक रहा है। वह छह साल तक गल्फ में, एक फाइव स्टार होटल में इनकम ऑडिटर के तौर पर काम करते थे।लेकिन 1998 में वह देश लौट आए, जिसके बाद वह गार्डनिंग करने लगे।

वह अपने 1200 वर्ग फुट की छत पर हर तरह के फल और साग- सब्जी उगाते हैं। आपको यह जानकर ताज्जुब होगा कि हर महीने उनके टेरेस गार्डन से लगभग 150 से 200 किलोग्राम कुंदरू की उपज होती है, जिसे वह न केवल बाजार में बेचते हैं, बल्कि पड़ोसियों को भी बांटते हैं।

Terrace Garden

ब्लैनी अपनी छत पर अंगूर भी उगाते हैं। इसके बारे में उन्होंने बताया कि एक स्थानीय नर्सरी को केरल से अंगूर के कुछ पौधे भेजे गए थे। नर्सरी के मालिक को ब्लैनी के गार्डनिंग के प्रति लगाव के बारे में पता था, इसीलिए उन्होंने ब्लैनी से पूछा कि क्या वह इन्हें लेना पसंद करेंगे?

ब्लैनी ने पूरे उत्साह के साथ इन्हें स्वीकार किया और उसे अपने घर के बैकयार्ड (पिछले हिस्से) में लगा दिया। जल्द ही, वे छत के चारों ओर फैल गए और उन्हें लगाने के लगभग एक-डेढ़ साल के बाद, फल देने लगे। अब हर साल यहाँ 25 से 30 किलोग्राम लाल अंगूर की उपज हो जाती है।

Terrace Garden

आज, ब्लैनी अपनी छत पर लगभग 100 किस्मों के फल तथा सब्जियां उगाते हैं, जिनमें उनके नवीनतम प्रयोग जैसे- गमलों में कटहल तथा लीची उगाना तक शामिल हैं। वह अपने बगीचे में किसी भी रासायनिक उर्वरक या कीटनाशकों का उपयोग नहीं करते हैं। इनके बजाय, वह पौधों में रोग और कीटों के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए एक नीम के मिश्रण का उपयोग करना पसंद करते हैं। दिलचस्प बात यह है कि उनके सभी फलदार पेड़, पूरे वर्ष अच्छी उपज देते हैं!

उन्होंने ‘हिंदू बिजनेस लाइन’ को बताया, “हमने पिछले आठ वर्षों में बाजार से कोई सब्जियां नहीं खरीदी हैं।”

लोगों को टेरस गार्डन शुरू करने के लिए, ब्लैनी उन्हें हर संभव मदद करते हैं। आज वह अपने गार्डनिंग की वजह से पूरे मैंगलोर में मशहूर हैं। शहर के कई स्कूलों और अन्य संस्थानों में भी उनकी मदद से टेरेस गार्डन तैयार किए गए हैं।

jackfruit in hindi

ब्लैनी, जहाँ लोगों को टेरेस गार्डन बनाने में मदद करते हैं, वहीं दूसरी ओर गार्डन के रखरखाव आदि के लिए, उन्हें गाइड भी करते हैं। उनकी पहल ‘ग्रो योर ओन वेज’ (अपना खाना खुद उगाएं) के सिलसिले में, वह कई स्कूलों और कॉलेजों में भी जाते हैं, जहाँ वह छात्रों को घर में बागवानी करने के गुर सिखाते हैं और उन्हें अपने गार्डन का दौरा करने के लिए आमंत्रित भी करते हैं।

मैंगलोर के विभिन्न हिस्सों में 100 से अधिक टेरेस गार्डन की स्थापना करने वाले ब्लैनी कहते हैं, “यह मेरे लिए कोई व्यवसाय नहीं है। मैं चाहता हूँ कि अधिक से अधिक लोग फल-सब्जियों को अपने घरों में उगाएं। इससे मुझे काफी खुशी मिलती है।”

टेरेस गार्डनिंग के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप ब्लैनी डिसूजा से यहाँ संपर्क कर सकते हैं।

मूल लेख: संचारी पाल

संपादन- जी एन झा

यह भी पढ़ें: मौसमी सब्जियों के साथ सीताफल, केला, ड्रैगन फ्रूट और गन्ना तक, छत पर उगा रहीं हैं यह गृहिणी

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

jackfruit in hindi, jackfruit in hindi, jackfruit in hindi, jackfruit in hindi, jackfruit in hindi

Terrace Garden Terrace Garden Terrace Garden Terrace Garden Terrace Garden Terrace Garden Terrace Garden Terrace Garden Terrace Garden Terrace Garden

_tbi-social-media__share-icon