in

द बेटर इंडिया बुलेटिन – कारगिल के जांबाज़!

कारगिल विजय के 19 साल हो गए हैं। आज भी देश के वीर जवानों की शहादत की कहानियां हर भारतीय का सीना फख्र से चौड़ा कर देती हैं।

इन जवानों ने अपने सीने पर गोलियां खाकर देश की रक्षा की। शहादत के बाद वो जवान अपने पीछे छोड़ गए बहादुरी की शौर्य गाथाएं। कारगिल विजय दिवस पर हम आपको बता रहे हैं उन वीरों की कहानियां, जो हमारे देश के इतिहास में दर्ज हो गईं।

शेयर करे

Written by मानबी कटोच

मानबी बच्चर कटोच एक पूर्व अभियंता है तथा विप्रो और फ्रांकफिंन जैसी कंपनियो के साथ काम कर चुकी है. मानबी को बचपन से ही लिखने का शौक था और अब ये शौक ही उनका जीवन बन गया है. मानबी के निजी ब्लॉग्स पढ़ने के लिए उन्हे ट्विटर पर फॉलो करे @manabi5

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

कारगिल हीरो: दुश्मन को हराने के लिए बर्फीली पहाड़ियों पर इस सैनिक ने की थी नंगे पैर चढ़ाई!

साल 1999 में बेटा हुआ था कारगिल में शहीद, अब पोती को देखना चाहते हैं आर्मी में!