Search Icon
Nav Arrow

मिलिए मुंबई के इस टैक्सी ड्राइवर से, जिसने अपने बेटे के साथ पास की ग्रेजुएशन!

Advertisement

मुंबई में टैक्सी चलाने वाले मोहम्मद फारुख शेख दसवी के बाद पढ़ाई छोड़ चुके थे! पर अपने बेटे को देख उनमें भी ग्रेजुएशन करने की इच्छा जागी!
कॉलेज में उनके सहपाठी व शिक्षक सब उन्हें ‘अंकल’ कहते थे। लेकिन फिर भी अपने बेटे की उम्र के शिक्षकों से पढ़ने में उन्हें कोई हिचकिचाहट नहीं हुई।

Advertisement

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे।

Advertisement
_tbi-social-media__share-icon