Search Icon
Nav Arrow

UPSC की तैयारी के लिए कुछ जरूरी टिप्स साझा कर रहे हैं 2013 बैच के IPS आकाश तोमर

IPS अधिकारी आकाश तोमर ने 2012 में अपने पहले ही प्रयास में UPSC को 138वें रैंक के साथ क्रैक कर लिया था। यहाँ पढ़िए उनके कुछ जरूरी टिप्स!

यूपीएससी दुनिया की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है। इस परीक्षा में सफल होना, देश के करोड़ों युवाओं का सपना होता है। तो, यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा – 2012 में, 138वाँ रैंक हासिल करने वाले आईपीएस अधिकारी आकाश तोमर आपसे कुछ टिप्स साझा करने जा रहे हैं, जो आपकी तैयारी में मददगार साबित हो सकते हैं।

फिलहाल, उत्तर प्रदेश के इटावा में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) के रूप में तैनात, आकाश ने अपने आठ महीने की तैयारी के बाद, पहली बार में ही इस परीक्षा को क्रैक कर लिया था।

 

upsc exam tips
आईपीएस आकाश तोमर

वह कहते हैं कि, यूपीएससी से जुड़ना उनका एक सपना था, क्योंकि उनके पिता भी एक आईपीएस अधिकारी बनना चाहते थे। लेकिन, किसी वजह से उनका यह सपना पूरा नहीं हो पाया। ऐसे में, अपने पिता के सपने को जी कर उन्हें गर्व महसूस होता है।

अखबार को पढ़ना अपनी आदत बनाएं

हमने यूपीएससी की तैयारी के लिए, समाचार पत्रों को पढ़ने के महत्व पर कई बार चर्चा की है। आकाश भी इसी बात को दोहराते हुए कहते हैं, “मैं  ‘द हिंदू’ और ‘इंडियन एक्सप्रेस’ जैसे दो अखबारों को नियमित रूप से पढ़ता हूँ। छात्रों के लिए अखबारों को पढ़ना, और सभी जरूरी विषयों से संबंधित नोट्स बनाना जरूरी है। इससे आपको याद रखने में आसानी होगी।”

विषयों का गहराई से अध्ययन जरूरी

आकाश कहते हैं कि, किसी एक विषय का अध्ययन करने के दौरान, इसे गहराई से कवर करना जरूरी है। इसलिए, एक पहलू को कई तरीके से सोचें। इससे आपको न सिर्फ प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा में मदद मिलेगी, बल्कि इंटरव्यू में भी यह आपके काम आएगा।

अच्छे किताबों का चयन करें

आकाश आगे कहते हैं, “कई किताबों को पढ़ने के बजाय, एक ही किताब को कई बार पढ़ना, और विषयों को समझना बेहतर है। परीक्षा नजदीक आने पर, आप किताब से बनाए नोट्स को रिवाइज करें। इस दौरान नई किताब या स्टडी मैटेरियल का अध्ययन करने से बचें।”

महत्वपूर्ण प्वाइंट को याद रखने के लिए शार्ट ट्रिक्स अपनाएं

वह बताते हैं, “मैं नोट्स बनाने के दौरान, संक्षिप्ताक्षर  (Abbreviations) का इस्तेमाल करता था। इससे आपको कई महत्वपूर्ण प्वाइंट को याद रखने में मदद मिलती है। इन शब्दों को गढ़ने के दौरान, जरूरी नहीं कि, इसका कोई ‘लॉजिकल मीनिंग’ हो। यह ऐसा होना चाहिए, जिससे आपको सिर्फ याद रखने में आसानी हो।”

वैकल्पिक पेपर को लेकर आश्वस्त रहें

कभी-कभी छात्र अपने वैकल्पिक पेपर को लेकर  काफी असमंजस में होते हैं।

upsc exam tips

इस कड़ी में आकाश कहते हैं, “छात्रों के लिए अपनी सुविधा और ज्ञान के आधार पर, वैकल्पिक पेपर का चयन करना जरूरी है। उनने विषयों को चुनने से बचें, जो ट्रेंडिंग हैं। अपनी रुचि अनुसार, विषय को चुनने के बाद आपको परीक्षा की बेहतर तैयारी करने में आसानी होगी।”

वह कहते हैं कि, वैकल्पिक पेपर को चुनना कठिन है। इसलिए, यह तय करने के लिए अपना पर्याप्त समय लें।

परीक्षा से कुछ महीने पहले आकाश ने खुद को, सभी सोशल मीडिया साइटों से दूर कर लिया था। यहाँ तक कि, इस दौरान उनके पास सिर्फ एक साधारण मोबाइल था, और वह कुछ करीबियों से ही बात करते थे।

वह बताते हैं, “मैं अपनी ऊर्जा और समय, किसी ऐसे जगह नहीं खर्च करना चाहता था। जिससे मेरी परीक्षा की तैयारी प्रभावित हो।”

विजुअलाइजेशन तकनीक का इस्तेमाल

अध्ययन किए गए विषयों को रखने के लिए चीजों को विजुअलाइज करना जरूरी है।

वह कहते हैं, “खास तौर पर, भूगोल जैसे विषयों में, जिसमें,  कि कई नक्शों को पढ़ने और याद रखने की जरूरत होती है। इसमें विजुअलाइजेशन तकनीक का इस्तेमाल कारगर है।”

वह अंत में कहते हैं कि, किसी भी तरह के प्रश्न में, समस्याओं को विजुअलाइज करने से, आपको इसका हल ढूंढ़ने में मदद मिलेगी।

यूपीएससी की तैयारी के लिए आकाश के नोट्स को पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

मूल लेख – विद्या राजा 

संपादन – प्रीति महावर 

यह भी पढ़ें – 3 वर्ष, 16 गाँव और करोड़ों लीटर जल संरक्षण, पढ़िए एक IRS की प्रेरक कहानी!

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

upsc exam, upsc exam, upsc exam, upsc exam

close-icon
_tbi-social-media__share-icon