in

वीडियो: कैसे मुंबईकरों ने बचायी पानी में डूबते परिवार की जान!

फोटो: एनडीटीवी

मुंबई बारिश से बेहाल है। लेकिन इस मुश्किल समय में भी मुंबईकरों का हौंसला कम नहीं हुआ है। एक-दूसरे का हाथ थामे वे अपनी रोजमर्रा की जिंदगी को जी रहे हैं।

मुंबई निवासियों का लोगों के प्रति मानवता का एक और वाकया सामने आया है। दरअसल कल नवी मुंबई के तलोजा से एक वीडियो वायरल हुआ। इस वीडियो में आप देखेंगे कि कैसे कुछ लोग पानी में फंसे एक परिवार को बाहर निकालने में जुटे हुए हैं।

सोमवार की शाम को तलोजा के घोटगांव क्षेत्र में परिवार की कार तलोजा नदी में फंस गयी और डूबने लगी। 37 वर्षीय अशरफ खलील शेख, उनकी पत्नी हमिदा और अपने दो बच्चों के साथ जान बचाने के लिए कार की छत पर बैठ गए। जब स्थानीय लोगों ने उन्हें देखा तो वे तुरंत उनकी मदद के लिए आगे आये।

लोगों ने एक रस्सी के सहारे उन तक पहुंचकर एक-एक कर सभी सदस्यों को बाहर निकाला। पुलिस के मुताबिक किसी को भी बहुत चोटें नहीं आयी। समय रहते परिवार को सुरक्षित निकाल लिया गया।

मुंबई: आरपीएफ महिला कॉन्स्टेबलों की मदद से हुई महिला की रेलवे स्टेशन पर सुरक्षित डिलीवरी!

Promotion

यह परिवार कार में कहीं जा रहा था, जब अचानक पुल पर उनकी गाड़ी फिसल कर पानी में चली गयी। लगातार भारी बारिश के चलते पानी का स्तर बहुत ऊँचा हो गया था। इसलिए कार को डूबते देर न लगी। सौभाग्य से पत्थरों में कार अटकी रही जिसके चलते परिवार को सुरक्षित निकाला जा सका।

हम सराहना करते हैं मुंबईकरों की इंसानियत व हौंसलें की, जिन्होंने परिवार की तुरंत मदद कर उन्हें बचाया।

आप एनडीटीवी द्वारा शेयर की गयी वीडियो यहां देख सकते हैं,

 


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे।

Promotion

देश में हो रही हर अच्छी ख़बर को द बेटर इंडिया आप तक पहुँचाना चाहता है। सकारात्मक पत्रकारिता के ज़रिए हम भारत को बेहतर बनाना चाहते हैं, जो आपके साथ के बिना मुमकिन नहीं है। यदि आप द बेटर इंडिया पर छपी इन अच्छी ख़बरों को पढ़ते हैं, पसंद करते हैं और इन्हें पढ़कर अपने देश पर गर्व महसूस करते हैं, तो इस मुहिम को आगे बढ़ाने में हमारा साथ दें। नीचे दिए बटन पर क्लिक करें -

₹   999 ₹   2999

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है.

मुंबई: आरपीएफ महिला कॉन्स्टेबलों की मदद से हुई महिला की रेलवे स्टेशन पर सुरक्षित डिलीवरी!

मात्र 50 रूपये में घर बैठे बनवा पायेंगें जन्म प्रमाण पत्र जैसे सरकारी कागजात, दिल्ली सरकार की ‘डोरस्टेप सर्विस’!