Search Icon
Nav Arrow

Grow Coffee: जानिए कैसे अपने घर में ही उगा सकते हैं कॉफ़ी

कॉफ़ी का पौधा उगाने के लिए आप किसी पुरानी बाल्टी, गमले या ग्रो बैग का इस्तेमाल कर सकते हैं!

Advertisement

हमारे आसपास ऐसे बहुत से लोग होते हैं जो अपने दिन की शुरूआत कॉफी से करते हैं। वहीं कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो थकान मिटाने के लिए कॉफी पीते हैं। मुझे अक्सर ठंड के मौसम में कॉफी पीना पसंद है और वह भी कोई किताब पढ़ते हुए। लेकिन कॉफी का मजा तभी है जब यह बिल्कुल आपके टेस्ट के मुताबिक बनी हो।

जी हाँ, अलग-अलग ब्रांड की कॉफ़ी और उनके बनाने के तरीकों से कॉफ़ी का स्वाद बहुत अलग-अलग हो सकता है। लेकिन सोचिए यदि कॉफी बाजार से न खरीदकर आप खुद ही उगाएं।

भले ही आपको सुनकर ताज्जुब हो कि घर में भी कॉफी उगाई जा सकती है। शुरू में यह सुनकर मुझे भी अटपटा सा लगा। लेकिन जब मेरी मुलाकात इंदिरा अशोक शाह से हुई तो समझ में आया कि घर में भी कॉफी उगाई जा सकती है।

इंदिरा पिछले कई सालों से अपने घर पर ही कॉफी उगा रहीं हैं। यहाँ आपको यह बताना जरूरी है कि इंदिरा असम, कुर्ग या फिर चिकमंगलूर में नहीं रहती हैं, वह बेंगलुरू में रहती हैं और टैरेस गार्डन में कॉफी उगा रहीं हैं।

इससे पहले उन्होंने हमें छत पर ड्रैगन फ्रूट उगाना सिखाया था और आज वह कॉफी उगाना सिखा रहीं हैं।

इंदिरा का कॉफी प्लांट ज़मीन से लगभग 10 फीट लंबा है और इस पर ढ़ेरों कॉफी बेरीज लगतीं हैं। उनके इस पेड़ को 6 साल हो गए हैं और इससे उन्हें हर साल लगभग एक किलो कॉफी पाउडर मिलता है।

 

Coffee Plant
Coffee plant in Bucket

आज वह द बेटर इंडिया के ज़रिए बता रहीं है कि कैसे आप उगा सकते हैं घर पर ही कॉफी प्लांट!

क्या-क्या चाहिए:

  • 20 लीटर की बाल्टी
  • खाद
  • कोकोपीट
  • मिट्टी
  • छोटे-छोटे पत्थर
  • छायादार जगह

स्टेप 1:

> जिस बाल्टी में कॉफी के पौधे आप उगाने वाले हैं उसमें सबसे पहले तीन छेद करें। इससे ड्रेनेज अच्छा होगा जो बहुत ज्यादा ज़रूरी है। मिट्टी भरने से पहले इन छेदों पर पत्थर रख दें।
> छेद को बिल्कुल न ढक दें, इतनी जगह होनी चाहिए कि एक्स्ट्रा पानी इसमें से निकल जाए।
> अब बाल्टी में मिट्टी, कोकोपीट और खाद बराबर मात्राओं में मिलाकर भरें।

स्टेप 2:

> अपने कॉफी प्लांट के लिए ऐसी जगह चुनें जहाँ धूप सीधी न पड़ती हो यानी कि छांव वाली जगह चुनें।
> ध्यान रहे कि कॉफी प्लांट को सीधी धूप बर्दाश्त नहीं होती है।
> आप इन्हें अपने घर के अंदर भी ऐसी जगह रख सकते हैं, जहां इन्हें अप्रत्यक्ष धूप मिले।

Advertisement

स्टेप 3:

> कॉफी प्लांट को नमी पसंद है और इसलिए आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि मिट्टी हमेशा थोड़ी नम हो और सूख न जाए।
> यह जाँचने के लिए कि मिट्टी में पर्याप्त नमी है या नहीं, मिट्टी में एक छड़ी डालें। यदि यह आसानी से मिट्टी में चला जाता है, तो मिट्टी की नमी अच्छी है।
> ध्यान रहे कि मिट्टी में नमी हो लेकिन इसमें पानी ठहरे नहीं क्योंकि ज्यादा पानी होने से पौधा गल जाता है।
> नमी बनाए रखने के लिए ही मिट्टी में कोकोपीट मिलाया जाता है।

कैसे लगाएं कॉफी बीन (How to Grow Coffee) : 

  • कॉफी बीन्स को अच्छे से पकने दें। जब यह सूख जाए तो आप इन्हें उसी बाल्टी में लगा दें।
  • इन्हें लगाने के बाद बाल्टी को ऐसी जगह रखें जहाँ अप्रत्यक्ष धूप इसे मिले।
  • आप कॉफी एयर लेयरिंग तरीके से भी उगा सकते हैं, इसके लिए आप यह वीडियो देखें:


अन्य ज़रूरी बातें:

  • हर 10-15 दिन में खाद मिलाते रहें।
  • पौधे में किसी भी तरह के रासायनिक उर्वरक, कीटनाशक का प्रयोग न करें।
  • अगर पेस्ट का अटैक हो तो नीम स्प्रे का उपयोग करें या अदरक-लहसुन-हरी मिर्च (जीजीजी) का मिश्रण बनाएं।
  • अदरक-लहसुन-हरी मिर्च मिश्रण बनाने के लिए, तीनों की समान मात्रा लें, एक पेस्ट बनाएं, इसे छान लें और पौधों पर इसका उपयोग करें।
  • जब बेरीज ब्राउन होने लगे तो आप इन्हें हार्वेस्ट कर सकते हैं।
  • इसके बाद आप इन्हें लोकल कॉफी ब्लेंडर के पास ले जा सकते हैं।
  • कॉफी को और समृद्ध बनाने के लिए इंदिरा इसमें चिकोरी मिलाती हैं, उनके पाउडर में अक्सर 20% चिकोरी और 80% कॉफी होती है।
  • आप भारत में कहीं भी कॉफी उगा सकते हैं, बस आपको इसे छांव में लगाना होगा।
  • किसी भी मौसम में आप कॉफी का पौधा लगा सकते हैं।
  • कॉफी बीन आपको लोकल नर्सरी में मिल जाएंगी। यहाँ आपको अगर ग्राफ्ट मिल जाता है तो बेहतर है आप वह लगाएं ताकि आपको दो-ढाई साल में कॉफी मिलना शुरू हो जाए।
  • अगर आप एकदम जीरो से कॉफी लगाते हैं तो आपको फल मिलने में लगभग 6 साल लगते हैं। इसलिए धैर्य बहुत ज़रूरी है।
  • हर दिन ज़रूरत के हिसाब से पौधे को पानी दें।
  • आप घर पर भी कोकोपीट बना सकते हैं। इसके लिए आप सूखे नारियल की छाल का इस्तेमाल करें।

कब करें कॉफी बीन्स की हार्वेस्टिंग:

 

How to Grow Coffee
Coffee Beans
  • बेरीज के पकने और भूरा होने का इंतजार करें।
  • पकी हुई बेरीज तोड़ें और इनके ऊपर का छिलका हटा दें।
  • अब इन्हें पानी में भिगो दें और तब तक रहने दें जब तक बीज पल्प से अलग न हो जाए।
  • अब इन बीजों को लें और धूप में सुखाएं जब तक कि पूरी नमी न निकल जाए।
  • इसके बाद आप इनका पाउडर बना सकते हैं।

इंदिरा का कहना है कि यदि आप गार्डनिंग करते हैं तो एक बार कॉफी उगाने की कोशिश जरूर करनी चाहिए। इसके लिए खुद खाद बनाएं और केमिकल्स से दूर रहें।

यदि आप कॉफी उगाने के बारे में इंदिरा से संपर्क करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें

मूल लेख: विद्या राजा
संपादन – जी. एन झा 

यह भी पढ़ें: कर्ज में डूबे ऑटो चालक के लिए मसीहा बना समाज, जानिए पूरी कहानी

 

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

How to Grow Coffee, How to Grow Coffee, How to Grow Coffee

Advertisement
_tbi-social-media__share-icon