ऑफर सिर्फ पाठकों के लिए: पाएं रू. 200 की अतिरिक्त छूट ' द बेटर होम ' पावरफुल नेचुरल क्लीनर्स पे।अभी खरीदें
X
दिल्ली: माँ ने बेटे के लिए शुरू किया घर में आइसक्रीम बनाने का काम, अब लाखों होती है कमाई

दिल्ली: माँ ने बेटे के लिए शुरू किया घर में आइसक्रीम बनाने का काम, अब लाखों होती है कमाई

दिल्ली की रहने वाली प्रेरणा ने आइसक्रीम बनाने के बिजनेस को लॉकडाउन के बीच शुरू किया। उनका बनाया आइसक्रीम पूरी तरह से ग्लूटेन-फ्री है, जिसे प्राकृतिक सामग्रियों से बनाया जाता है।

लॉकडाउन के दौरान हम सभी को अपने-अपने घरों में ही बंद रहना पड़ा। बाजार बंद रहने की वजह से कई लोग घर में ही खाने-पीने की ऐसी चीजें बनाने लगे, जिसके लिए पहले बाजार जाना पड़ता था। आज हम आपको दिल्ली की ऐसी महिला की कहानी सुनाने जा रहे हैं, जिन्होंने शुरूआत में तो अपने बेटे के लिए घर में आइसक्रीम बनानी शुरू की लेकिन धीरे-धीरे यह उनका बिजनेस बन गया।

यह प्रेरक कहानी दिल्ली की रहने वाली प्रेरणा पुरी की है, जिन्होंने यूट्यूब के जरिए घर में ही आइसक्रीम बनाना सीखा और अब वह इस काम से लाखों रूपये कमा रहीं हैं।

प्रेरणा ने द बेटर इंडिया को बताया, “हम अपने जीवन में कई चीजें पहली बार करते हैं, लेकिन मुझे जो सबसे ज्यादा पसंद था, वो है आइसक्रीम बनाना।”

उन्होंने आइसक्रीम बनाने के बिजनेस को कोरोना महामारी की वजह से जारी लॉकडाउन के बीच शुरू किया। प्रेरणा का हाथ से बनाया आइसक्रीम पूरी तरह से ग्लूटेन-फ्री है, जिसे प्राकृतिक सामग्रियों से बनाया जाता है।

Delhi Woman
प्रेरणा

इस कड़ी में प्रेरणा ने बताया, “मेरा एक 12 साल का बेटा है, जिसे आइसक्रीम काफी पसंद है। लॉकडाउन के दौरान, हम आइसक्रीम नहीं खरीद सकते थे, क्योंकि स्थानीय वेंडर द्वारा साफ-सफाई का कोई खास ध्यान नहीं रखा जाता है। इसलिए, मैंने अपने बेटे के चेहरे पर मुस्कान देखने के लिए, इसे घर पर ही बनाने की कोशिश की।”

इसके बाद, उन्होंने कई यूट्यूब चैनल देखकर घर में आइसक्रीम बनाना सीखा। इसी दौरान उन्हें आइसक्रीम बनाने में, स्टेबलाइजर्स और एमुल्सिफाइर के बारे में पता चला, जिससे आइसक्रीम को निश्चित आकार और शेल्फ लाइफ देने में मदद मिलती है।

41 वर्षीय प्रेरणा को इसी दौरान एहसास हुआ कि जमे हुए आइसक्रीम उनके बच्चे के स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। इस तरह, उनकी घर में प्राकृतिक सामग्रियों से ग्लूटेन-फ्री आइसक्रीम बनाने की यात्रा शुरू हुई।

वह कहतीं हैं, “मैंने आइसक्रीम बनाने के लिए घर पर उपलब्ध सामग्रियों के साथ, कुछ दिनों तक अपना शोध और प्रयोग किया। जिससे मुझे शाकाहारी और कम वसा युक्त उत्पाद मिला और इसमें आर्टिफिशियल प्रिजर्वटिव, स्वाद, और रंगों का इस्तेमाल नहीं किया गया था।”

Delhi Woman
प्रेरणा द्वारा निर्मित आइसक्रीम

वह कहतीं हैं कि किसी भी आर्टिफिशियल प्रिजर्वटिव का इस्तेमाल करने के बाद, उनके आइसक्रीम की शेल्फ लाइफ काफी कम होती। फ्रूट फ्लेवर में बना उनका आइसक्रीम कमर्शियल फ्रीजर में 20 दिनों तक रहता है, जबकि अन्य फ्लेवर 60 दिनों तक।

अपने बेटे आर्यन पुरी के लिए प्रेरणा ने जो सबसे पहली आइसक्रीम बनाई, वह उनकी पसंदीदा चॉकलेट आइसक्रीम थी।

वह हँसते हुए कहती हैं, “यह उसे काफी पसंद आया। और, वह मेरी हाथ से बनाए आइसक्रीम का टेस्टर इन चीफ है।”

कैसा रहा सफर

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी से ग्रेजुएट प्रेरणा ने कभी नहीं सोचा था कि वह किसी ऐसे बिजनेस को शुरू करेंगी, जिसका डिजाइनिंग से कोई लेना-देना नहीं है।

वह बताती हैं, “मैं एक इंटीरियर डिजाइनिंग कंसल्टेंट के रूप में काम कर रही थी। लेकिन, लॉकडाउन के दौरान अपने परिवार के साथ समय बिताने के लिए, मैंने काम करना बंद कर दिया और नई नौकरी खोजने की मेरी कोई योजना नहीं थी। लेकिन, अब मेरा अपना आइसक्रीम बिजनेस है।”

अब तक के अपने सफर के बारे में प्रेरणा कहती हैं, “मैंने मार्च में पहली बार आइसक्रीम बनाने की कोशिश की। इसे मेरे परिवार के लोगों और दोस्तों द्वारा काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिली, जिससे मेरा हौसला बढ़ा। अंततः जून में, मैंने इसे पेशेवर रूप से अपनाने का फैसला करते हुए, मॉर्डन बाजार से संपर्क किया, जो दिल्ली की एक प्रीमियम रिटेल चैन है। उन्हें मेरा उत्पाद काफी पसंद आया और उन्होंने इसे स्टॉक करने का फैसला किया।”

आज प्रेरणा का चॉकलेट, बादाम और चॉकलेट, कॉफी, वेनिला और नट्स, काले किशमिश, नारियल, बादाम मार्जिपन फ्लेवर में निर्मित आइसक्रीम दिल्ली-एनसीआर में आसानी से उपलब्ध है। इसके अलावा, उनके उत्पाद नेचर बास्केट आइसक्रीम चैन द्वारा, यह पुणे और मुंबई में भी उपलब्ध है।

वह कहती हैं, “शुरुआती दिनों में, मैं अपने आइसक्रीम को किसी उपकरण के बजाय, हाथों से बनाती थी। जैसे-जैसे मेरे पास ऑर्डर बढ़ते गए, मैंने अपने पति और सास से मदद माँगी। इसके बाद, हमने ब्लेंडर खरीदे। लेकिन, अब भी मेरे आइसक्रीम हैंडक्राफ्टेड ही हैं, क्योंकि इसे बनाने में, मैं उपकरणों का काफी सीमित उपयोग करती हूँ। मेरी कोशिश है कि यह ऐसा ही बना रहे।”

कितनी है कमाई

प्रेरणा गर्व कहती हैं, “हर महीने, मेरी बिक्री दोगुनी हो रही है। फिलहाल, हमारा उत्पाद 25 प्रीमियम स्टोर में मौजूद है। हमने अपने आइसक्रीम से लगभग 7 लाख रुपए का कारोबार किया।” 

प्रेरणा के पास हर दिन 35 से 40 टब आइसक्रीम का उत्पादन होता है, जिसके लिए उन्होंने 16 लोगों को रोजगार भी दिया है।

वह कहती हैं, “मेरा मानना है कि आइसक्रीम का टेस्ट और टेक्सचर, साधारण सामग्रियों से भी प्राप्त किया जा सकता है। हमारा ब्रांड आइसक्रीम छह टेस्ट में उपलब्ध है, जबकि आम और लीची, दो अन्य मौसमी स्वाद है।”

प्रेरणा के आइसक्रीम की मूल्य सीमा 75 एमएल के लिए 95 रुपये और 500 एमएल के लिए 650 रुपये है।

यदि आप भी प्रेरणा द्वारा बनाई गई आइसक्रीम का स्वाद लेना चाहते हैं तो इस नंबर पर कॉल करके अपना ऑर्डर दे सकते हैं – 8595663209

मूल लेख – SANJANA SANTHOSH

यह भी पढ़ें – माता-पिता के कैंसर को देख बेटे ने शुरू किया आर्गेनिक फूड बिजनेस, जुड़े हैं 12000+ ग्राहक

संपादन: जी. एन. झा

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें।

Delhi Woman, Delhi Woman, Delhi Woman, Delhi Woman, Delhi Woman

कुमार देवांशु देव

राजनीतिक और सामाजिक मामलों में गहरी रुचि रखनेवाले देवांशु, शोध और हिन्दी लेखन में दक्ष हैं। इसके अलावा, उन्हें घूमने-फिरने का भी काफी शौक है।
Let’s be friends :)
सब्सक्राइब करिए और पाइए ये मुफ्त उपहार
  • देश भर से जुड़ी अच्छी ख़बरें सीधे आपके ईमेल में
  • देश में हो रहे अच्छे बदलावों की खबर सबसे पहले आप तक पहुंचेगी
  • जुड़िए उन हज़ारों भारतीयों से, जो रख रहे हैं बदलाव की नींव