Search Icon
Nav Arrow
फोटो: यूट्यूब

सब्ज़ियों का रस – लाभ, हानि और सावधानियां!

Advertisement

मारे यहां हरी सब्ज़ियों का रस पीना स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। पर सही तरीके से न पीने से कभी-कभी यह हमारे शरीर के लिए हानिकारक भी हो सकते हैं। अक्सर आपने लोगों को सुबह पार्क में टहलने के बाद करेला आदि का जूस पीते देखा होगा, तो क्या आप मानेंगे कि पिछले साल पुणे में एक महिला की मौत लौकी का रस पीने से हुई।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, 12 जून, 2018 को उस महिला ने लौकी का रस पिया था, जिसके बाद उसे उल्टियां और दस्त हुए। धीरे-धीरे तबियत और बिगड़ गयी। बाद में पता चला कि लौकी का रस जहरीला था। दरअसल, लौकी का रस निकालने से पहले जाँच करनी चाहिए थीं कि लौकी कड़वा तो नहीं है।

हरी सब्ज़ियाँ जैसे लौकी, खीरा, करेला आदि में कुकुरबिटासिन नामक तत्व होता है, जो हमारे शरीर में जहर फैला सकता है। यदि सब्जी की बिना जांच के आप उसका रस पी रहें हैं तो यह खतरनाक हो सकता है।

गाजर, पालक आदि का रस भी यदि अत्यधिक मात्रा में पिया जाये तो शरीर को हानि पहुंचाता है। आँखों के लिए उपयुक्त बताये जाने वाला गाजर का रस अधिक मात्रा में सेवन करने से शरीर में शुगर बढ़ा देता है, जिससे हमारी त्वचा का रंग नारंगी हो सकता है। इसके अलावा यदि आप गोभी का सेवन अत्यधिक मात्रा में करते हैं, तो किडनी संबंधित परेशानियाँ हो सकती है।

Advertisement

तो यदि आप सब्ज़ियों के रस पीने के शौक़ीन हैं तो बिल्कुल पीजिये, लेकिन अपने स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए और ज़रूरी सावधानियों के साथ। कहते हैं न अति किसी भी चीज़ की बुरी होती है।

( संपादन – मानबी कटोच )


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे।

Advertisement
_tbi-social-media__share-icon