Search Icon
Nav Arrow

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए बढ़ रही है नींबू की खपत, जानें कैसे गमले में उगा सकते हैं इसे

बालकनी या टेरेस पर गमले में नींबू उगाना चाहते हों तो यह जानकारी आपके लिए बेहद महत्त्वपूर्ण हो सकती है।

Advertisement

विटामिन सी से भरपूर नींबू में ढेर सारे औषधीय गुण होते हैं। कोरोना महामारी के इस दौर में नींबू की मांग बढ़ी है क्योंकि यह इम्युनिटी पावर बढ़ाता है। यही वजह है कि बहुत से लोग अपने घर में ही नींबू उगाना चाह रहे हैं। लेकिन इसमें भी समस्या शहरों में रहने वाले लोगों को है, जिनके पास जगह की कमी है। लेकिन अगर आप चाहें तो आप अपने घर की बालकनी या टेरेस पर गमले में नींबू उगा सकते हैं। लेकिन यह कैसे संभव है?

गमले में नींबू उगाने के बारे में 14 साल की उम्र से गार्डनिंग कर रहे गार्डनिंग एक्सपर्ट आकाश जायसवाल ने द बेटर इंडिया के साथ महत्वपूर्ण जानकारी साझा की है। आकाश कानपुर के रहने वाले हैं और उन्होंने अपने टेरेस गार्डन में 250 से अधिक विभिन्न प्रजातियों के पौधे उगाए हैं। इनमें सब्जी, फल, सजावटी पौधे आदि शामिल हैं। वह गमलों के साथ ही ग्रो बैग्स का इस्तेमाल पौधे उगाने के लिए करते हैं। गमले में नींबू उगाने के बारे में उन्होंने विस्तार से जानकारी दी।

ऐसे करें पौधे का चयन

Grow lemons at home
सही पौधे का चयन भी ज़रूरी है

यदि आप अपने गमले में नींबू की अच्छी पैदावार चाहते हैं तो सबसे पहले नर्सरी से बेहतर क्वालिटी का पौधा लें। ध्यान रखें कि यह पौधा कम से कम साल भर पुराना हो। इसकी पहचान इस तरह से कर सकते हैं कि जिस पौधे पर ज्यादा फूल होंगे, वह अधिक फलित होगा।

इस तरह करें गमले का चुनाव

नींबू के पौधे की शाखाएं फैलती हैं, लिहाजा इसे छोटे कंटेनर या गमले में न लगाएँ। सही रहेगा कि अगर आप  नींबू के पौधे को 16 से 18 इंच के गमले में लगाएं ताकि इसकी जड़ों को फैलने की पूरी जगह मिल सके और यह अच्छी तरह विकसित हो सकें। ऐसा नहीं करेंगे तो रूट बांडिंग की दिक्कत सामने आएगी। इससे जड़ें पूरी तरह फैल नहीं सकेंगी।

Grow lemons at home
गमले का आकार

पॉटिंग मिश्रण तैयार करते हुए यह रखें ध्यान

अब पॉटिंग मिश्रण पर आते हैं। आप जब नींबू उगा रहे हैं तो यह ध्यान रखें कि इसकी मिट्टी में 40 फीसदी जैविक खाद, वर्मी कंपोस्ट या गाय के गोबर की खाद होनी चाहिए, बाकी 60 फीसदी गार्डनिंग सॉइल यानी बालू मिश्रित मिट्टी होनी चाहिए।

इसके अलावा मिश्रण की गुणवत्ता पर भी खास ध्यान रखना होगा।

इस तरह करें देखभाल

सबसे पहले इस बात पर ध्यान दें कि गमला जिस स्थान पर रखें, वह सतह उबड़-खाबड़ न हो, बल्कि समतल हो।

यह भी सावधानी बरतें कि जिस जगह गमला रखा हो, वह छाया में न हो। गमला जिस स्थान पर रखा जाए उस सतह पर सूरज की रोशनी सीधी पड़े। इसे बहुत तेज हवा और या फिर अत्यधिक पानी से बचाएँ।

इसमें हर दूसरे तीसरे दिन नियमित रूप से थोड़ा पानी डालें। आपको यह भी ध्यान रखना होगा कि इसकी हरी पत्तियों को तोड़ें नहीं। नींबू का पौधा लगाने के करीब सवा महीने बाद इसमें हल्की गोबर की खाद डालें। इससे पौधा अच्छी तरह पनप जाएगा।

Grow lemons at home

Advertisement

फूल कम आएं तो यह करें

यदि पौधे में फूल छोटे आएँ हों तो पौधे को पानी देने के बाद शहद छिड़कें। इससे बेहतर पॉलिनेशन होगा और सभी जानते हैं कि इससे अधिक फूल आने की स्थिति बनेगी।

साल भर फल देता है नींबू

नींबू की कई किस्म हैं। जैसे कि कागजी नींबू, बीजरहित, ग्राफ्टेड नींबू आदि। सबसे पहले फलने वाले नींबू में सीडलेस यानी बीजरहित नींबू शामिल है। यह महज दो साल में फल जाता है, वहीं यदि देशी नींबू की बात करें तो उसको फलने में पांच साल तक लग जाते हैं।

इन दिनों सीडलेस नींबू खूब उगाया जा रहा है। नींबू साल भर फल देता रहता है। खास तौर पर इस कोरोना संक्रमण काल में नींबू जैसे महत्वपूर्ण फल जैसा फल कोई दूसरा नहीं।

Grow lemons at home

गरम पानी में नींबू डालकर पीने से कई रोगों से दूर रहा जा सकता है। जैसा कि अभी बताया कि इसे बेहद आसानी से घर में ही उगाया जा सकता है।

कई लोग सीडलेस थाई नींबू, सजावट के लिए चाइनीज नींबू भी उगाते हैं। इन चाइनीज नींबू की खासियत यह है कि यह आकार में छोटे होते हैं और देखने में बेहद खूबसूरत लगते हैं।

नींबू से जुड़े टिप्स पर आधारित वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें।

वैसे एक्सपर्ट आकाश जायसवाल बीते तीन साल से अपना यूट्यूब चैनल चला रहे हैं। गार्डनिंग लवर्स विद आकाश नाम के उनके इस चैनल के इतने कम समय में ही करीब साढ़े छह लाख से भी अधिक सब्सक्राइबर्स हैं।

आकाश हर दिन गार्डनिंग से जुड़े टिप्स अपने चैनल के माध्यम से लोगों से साझा करते हैं। वह कहते हैं कि लोगों को गार्डनिंग के टिप्स देकर उन्हें संतुष्टि मिलती है।

Grow lemons at home
एक्सपर्ट आकाश का टेरेस गार्डन जहाँ वह गमले में नींबू उगाते हैं

आकाश जायसवाल से आप उनकी ई-मेल आईडी aakashjaiswal0808@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें- Grow Tomatoes: जानिए जैसे घर में ही उगा सकते हैं ऑर्गेनिक टमाटर

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

Advertisement
_tbi-social-media__share-icon