in ,

Indian Railways: खत्म होगी वेटिंग लिस्ट की समस्या, रेलवे ने चलाई 40 क्लोन ट्रेन

पढ़िए क्लोन ट्रेनों की पूरी लिस्ट, कहाँ से कहाँ तक चलेंगी ये ट्रेनें!

भारतीय रेलवे ने 21 सितंबर 2020 से 20 जोड़ी यानी कि नई 40 क्लोन ट्रेनों की शुरुआत की है। ये 40 ट्रेनें उन रुट्स पर चलाई गई हैं जहाँ पर यात्रियों की संख्या ज्यादा होने के कारण वेटिंग लिस्ट लंबी होती है। वेटिंग लिस्ट में फंसे यात्रियों की मदद के लिए ये क्लोन ट्रेन चलायीं गई हैं।

‘क्लोन’ किसी भी मुख्य/ओरिजिनल ट्रेन से नाम से और हिसाब से चलने वाली दूसरी ट्रेन को कहा जाता है। इन्हें किसी खास रूट पर बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए चलाया जाता है। रेलवे रूट पर दूसरी कोई ट्रेनें शुरू करने की बजाय पहले से चल रही ट्रेन के नाम पर वैसी ही एक और ट्रेन चला दी जाती है, जिसे ‘क्लोन ट्रेन’ कहते हैं। इससे यात्रियों के लिए सुविधा रहती है।

इस बात को ध्यान में रखते हुए ही भारतीय रेलवे ने 40 क्लोन ट्रेन चलाई हैं। भारतीय रेलवे के मुताबिक, ये क्लोन ट्रेन ज़्यादातर थर्ड एसी ट्रेन होंगी और इनके रास्ते में पड़ने वाले हॉल्ट स्टेशन कम होंगे मतलब कि इन ट्रेनों को मुख्य ट्रेन की बजाय रास्ते में कम रुकना पड़ेगा। इस तरह से ये 2-3 घंटे पहले ही गंतव्य तक पहुँच जाएंगी। ये ट्रेन, बिहार, पश्चिम बंगाल, उत्तर-प्रदेश, और दिल्ली, आंध्र-प्रदेश, कर्नाटक के बीच चलेंगी।

इन ट्रेनों के लिए बुकिंग यात्रा वाले दिन से 10 दिन पहले से शुरू होगी। 19 जोड़ी क्लोन ट्रेनों में 18-18 डिब्बे होंगें, वहीं एक जोड़ी क्लोन ट्रेन जो दिल्ली-लखनऊ के बीच चलेगी, उनमें 22 डिब्बे होंगे। 19 जोड़ी क्लोन ट्रेन हमसफर एक्सप्रेस के हिसाब से चलेंगी तो इनका किराया भी वैसे ही लिया जाएगा। वहीं दिल्ली-लखनऊ के बीच चलने वाली ट्रेनों का किराया जन-शताब्दी एक्सप्रेस के मुताबिक लिया जाएगा। इन ट्रनो के लिए किराया घटेगा या बढ़ेगा, इस पर अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

कहां के लिए कितनी क्लोन ट्रेन:

  • 05 जोड़ी ट्रेन बिहार-दिल्ली के बीच पूर्व-मध्य रेलवे चलाएगा।
  • 02 ट्रेन का संचालन उत्तरपूर्व फ्रंटियर रेलवे करेगा बिहार के कटिहार से दिल्ली के लिए।
  • 05 जोड़ी ट्रेन उत्तर रेलवे चलाएगा दिल्ली-बिहार, दिल्ली-प. बंगाल, दिल्ली-उत्तर प्रदेश के बीच।
  • 02 ट्रेन बिहार के दानापुर से सिकंराबाद के लिए दक्षिण मध्य रेलवे चलाएगा।
  • 03 जोड़ी ट्रेन गोवा-दिल्ली, कर्नाटक-बिहार और कर्नाटक-दिल्ली के बीच दक्षिण पश्चिम रेलवे की होंगी।
  • 05 जोड़ी ट्रेन का संचालन पश्चिम रेलवे बिहार (दरभंगा) से गुजरात (अहमदाबाद), दिल्ली से गुजरात, मुबई से पंजाब, बिहार (छपरा) से गुजरात (सूरत), गुजरात (अहमदाबाद) से बिहार (पटना) तक करेगा।

इस तरह से है ट्रेनों की सूची:

1. नई दिल्ली- सहरसा- नई दिल्ली

2. नई दिल्ली-राजगीर-नई दिल्ली

3. नई दिल्ली- दरभंगा- नई दिल्ली

4. दिल्ली-मुजफ्फरपुर-दिल्ली

5. नई दिल्ली-राजेंद्र नगर-नई दिल्ली

6. दिल्ली-कटिहार-दिल्ली

7. न्यू जलपाईगुड़ी-अमृतसर-न्यू जलपाईगुड़ी

Promotion
Banner

8. जयनगर-अमृतसर-जयनगर

9. वाराणसी-नई दिल्ली-वाराणसी

10. बलिया-दिल्ली- बलिया

11. नई दिल्ली-लखनऊ-नई दिल्ली

12. सिकंदराबाद-दानापुर-सिकंदराबाद

13. वास्को-निजामुद्दीन-वास्को

14. बेंगलुरु-दानापुर- बेंगलुरु

15. यशवंतपुर-निजामुद्दीन-यशवंतपुर

16. अहमदाबाद-दरभंगा-अहमदाबाद

17. अहमदाबाद-दिल्ली-अहमदाबाद

18. सूरत-छपरा-सूरत

19. बांद्रा-अमृतसर-बांद्रा

20. अहमदाबाद-पटना-अहमदाबाद

इन सभी क्लोन ट्रेनों के लिए बुकिंग 19 सितंबर 2020 से शुरू हो चुकी है। भारतीय रेलवे इन 40 क्लोन ट्रेनों से पहले लगभग 310 स्पेशल ट्रेन भी शुरू कर चुका है। लॉकडाउन के दौरान भारतीय रेल बंद होने से जो रफ़्तार रुकी थी, वह 1 मई 2020 को श्रमिक स्पेशल ट्रेन से शुरू हुई। इसके बाद, रेलवे की लगातार कोशिशें जारी हैं कि यात्रियों के लिए सफर को और सुविधाजनक बनाया जा सके।

यह भी पढ़ें: भारतीय रेलवे का जुगाड़, पुरानी साइकिल से बना दी ‘रेल साइकिल’, कर्मचारियों का काम हुआ आसान

कवर फोटो


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

Promotion
Banner

देश में हो रही हर अच्छी ख़बर को द बेटर इंडिया आप तक पहुँचाना चाहता है। सकारात्मक पत्रकारिता के ज़रिए हम भारत को बेहतर बनाना चाहते हैं, जो आपके साथ के बिना मुमकिन नहीं है। यदि आप द बेटर इंडिया पर छपी इन अच्छी ख़बरों को पढ़ते हैं, पसंद करते हैं और इन्हें पढ़कर अपने देश पर गर्व महसूस करते हैं, तो इस मुहिम को आगे बढ़ाने में हमारा साथ दें। नीचे दिए बटन पर क्लिक करें -

₹   999 ₹   2999

Written by निशा डागर

बातें करने और लिखने की शौक़ीन निशा डागर हरियाणा से ताल्लुक रखती हैं. निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन और हैदराबाद विश्वविद्यालय से मास्टर्स की है. लेखन के अलावा निशा को 'डेवलपमेंट कम्युनिकेशन' और रिसर्च के क्षेत्र में दिलचस्पी है.

bengaluru boy

ट्रक ड्राइवर पिता का बेटा घरों में बाँटता था अखबार, CAT क्वालीफाई कर पहुँचे IIM Kolkatta

गुजरात: सहजन की खेती व प्रोसेसिंग ने दीपेन शाह को बनाया लखपति किसान