Search Icon
Nav Arrow
Source

घर पर बनाएं #DIY सोलर ड्रायर, फल-सब्जियां सुखाकर सालभर के लिए कर सकते हैं स्टोर

सोलर ड्रायर के इस्तेमाल से ऐसे फल और सब्जियों को बेकार होने से बचाया जा सकता है, जिनकी शेल्फ-लाइफ ज्यादा नहीं होती है!

बहुत बार सही तरह से स्टोरेज न हो पाने पर फल और सब्जियां खराब हो जातीं हैं। गृहिणी से लेकर किसान तक, हर कोई इस समस्या से परेशान है। हम सबने देखा कि कैसे लॉकडाउन में किसानों की फसल न बिक पाने के कारण उन्हें परेशानी हुई।

कोलार जिले में टमाटर किसानों ने या तो अपनी उपज को बहुत ही कम दाम पर बिचौलियों को बेचा या फिर उनकी फसल बेकार हो गई। यह स्थिति पूरे देश में थी लेकिन फिर ऐसे भी उदाहरण सामने आए जहां लोगों ने समझदारी दिखाते हुए अपनी फसल को बचा लिया।

कोलार जिले में ही सौर ऊर्जा का सही उपयोग करके ग्राम विकास संगठन ने दो गांवों की मदद की। उन्होंने एक गाँव के टमाटर किसानों से उन्होंने सही दाम में टमाटर खरीदे जिससे उनकी उपज बच गई। दूसरे गाँव में उन्होंने 35 महिलाओं को इन टमाटर और प्याज के स्लाइसेस करके धूप में सुखाने के लिए ट्रेन किया। इन स्लाइसेस को नमक के पानी में धोकर छतों पर एक कपड़े पर सुखाया और फिर इन्हें एक कपड़े से ढ़का गया। तीन-चार दिन में जब ये स्लाइसेस सुखकर फ्लैक्स बन गए तो इन्हें एयर टाइट डिब्बों में स्टोर किया गया।

ग्राम विकास के अध्यक्ष एम वी एन राव कहते हैं कि अब इन गाँव वालों को छह महीने तक बाहर से टमाटर-प्याज खरीदने की ज़रूरत नहीं है। हालांकि, उन्होंने इस प्रक्रिया के लिए किसी सोलर ड्रायर का भी उपयोग नहीं किया। लेकिन अगर आप सोलर ड्रायर का उपयोग करते हैं तो आप कम समय में, उत्पादों का पोषण बरकरार रखते हुए उन्हें प्रोसेस कर सकते हैं।

Neha Upadhyay is helping farmers with solar dryer technique in the processing of apricots

हाल ही में, ‘गुण आर्गेनिक्स’ की फाउंडर नेहा उपाध्याय से बात हुई तो उन्होंने सोलर तकनीक और प्रोसेसिंग पर काफी ज्यादा महत्व दिया और बताया की किस तरह लद्दाख के ग्रामीण इलाकों में उन्होंने खुबानी, अखरोट आदि की प्रोसेसिंग शुरू करवा कर किसानों की समस्यायों को हल किया है। नेहा बताती हैं कि उन्होंने किसानों को सोलर ड्रायर से अवगत करवाया।

पहले किसानों को सोलर ड्रायर का महत्व बताया और फिर उन्हें इसकी तकनीक सिखाई गई। सोलर ड्रायर से उत्पादों को सुखाकर, स्टोर किया जा सकता है।

नेहा कहतीं हैं कि सोलर ड्रायर की कई अलग-अलग तकनीकें लोग विकसित कर रहे हैं। इनमें से कई पेटेंट वाली भी हैं। लेकिन इसके साथ ही, कुछ बेसिक डिज़ाइन भी हैं सोलर ड्रायर की, जिन्हें लोग अपने घरों में बनाकर इस्तेमाल कर रहे हैं।

आज हम आपको बता रहे हैं कि आप कैसे घर पर भी #DIY सोलर ड्रायर बना सकते हैं या फिर किसी बढ़ई आदि से बनवा सकते हैं!

1. घर पर कैसे बनाएं:

क्या चाहिए: टीवी या कंप्यूटर पैक करने वाला कोई कार्टन, ट्रांसपेरेंट प्लास्टिक, सुई-धागा, काला पेंट, कार्डबोर्ड, नेट, पेंटिंग ब्रश, कैंची

Source

क्या करें:

  • सबसे पहले बॉक्स को एक तरफ से तिरछा काटें, ध्यान रहे कि आप नीचे से 10 सेंटी-मीटर हिस्सा छोड़ दें।
  • अब बॉक्स को अंदर से काले रंग से पेंट कर दें।
  • पेंट को सूखने के बाद, आप इसके अंदर कार्ड बोर्ड और नेट की मदद से अंदर लगाने के लिए ट्रे बनाएं। इस ट्रे को बॉक्स के अंदर लगा दें।
  • अब जो हिस्सा आपने काटा था, उस पर ट्रांसपेरेंट प्लास्टिक की शीट को अच्छे से चिपका दें। कहीं से भी यह खुली न रहे।
  • डिब्बे के पीछे के हिस्से में से एक टुकड़ा काटकर एक दरवाजा बनाएं, जिससे कि आप ट्रे में चीजें रख सकें। लेकिन यह दरवाजा आपको ऐसे बनाना है कि इसे बंद करके के बाद, हवा पास न हो।
  • इसके बाद, डिब्बे की दो साइड्स में आप छोटे-छोटे छेद करदे ताकि नमी पास हो सके।
  • आपका सस्ता और काफी उपयोगी सोलर ड्रायर तैयार है।
  • इसमें आप टमाटर, प्याज आदि के फलैक्स बना सकते हैं।

2. किसी कारीगर से फ्रेम बनवाकर करें इस्तेमाल:

अगर आप एक प्रोफेशनल सोलर ड्रायर बनाना चाहते हैं तो आपको थोड़ा एडवांस लेवल जाना होगा। अगर आप लकड़ी या लोहे का थोड़ा-बहुत काम करना जानते हैं तो आप यह घर पर ही बना सकते हैं। अगर नहीं तो आप किसी कारीगर से बनवा सकते हैं।

DIY Solar Dryer
Source

लकड़ी या लोहे से सोलर ड्रायर बनाने के कई तरीके हैं, जिन्हें आप अपनी ज़रूरत के हिसाब से माप देकर बनवा सकते हैं। जैसा कि राजस्थान के जोधपुर में एक गाँव के रहने वाले मनोज पुष्करणा ने किया। मनोज पुष्करणा बताते हैं कि उन्हें नयी-नयी चीजें इस्तेमाल करने का शौक है और खासकर ऐसी चीजें को पर्यावरण के अनुकूल हों और ग्रामीणों के लिए फायदेमंद। वह गाँव के लोगों की आय बढ़ाने के लिए सस्ते और आसानी से होने वाले तरीके तलाशते रहते हैं।

उन्होंने पहले गोबर की लकड़ी बनाने का #DIY तरीका ढूंढा था और अब वह, हमें बता रहे हैं कम लागत में बनने वाले सोलर ड्रायर के बारे में।

  • मनोज बताते हैं कि उन्होंने एक कारीगर से 3 फीट चौड़ा और 6 फीट लम्बा एक लोहे का डिब्बा बनवाया।
  • इस डिब्बे को अंदर से काले रंग से पेंट कराया गया है।
  • इस डिब्बे को उन्होंने एक स्टैंड पर ऐसे सेट कराया कि यह एक तरफ से उठा रहे और एक तरफ से नीचे रहे।
  • इससे सूर्य की किरणें अच्छी तरह से इस पर पड़ेंगी।
  • इस डिब्बे के ढक्कन में उन्होंने ट्रांसपेरेंट प्लास्टिक शीट लगवाई है।
  • पीछे की तरफ दो छोटे-छोटे एग्ज़ोस्टर फैन लगवाए गए हैं।
  • डब्बे के अंदर फल-सब्जियों के स्लाइसेस रखने के लिए एक जालीनुमा ट्रे सेट करायी गई है, जिस पर एक कपड़ा बिछाकर आप चीजों को रख सकते हैं।
  • मनोज पुष्करणा बताते हैं कि उन्हें सोलर ड्रायर की कीमत साढ़े चार हजार रुपये पड़ी है। लेकिन अगर कोई छोटा बनवाते हैं तो मुश्किल से 2-ढाई हज़ार रुपये की लागत आएगी।

इस सोलर ड्रायर में आप कुछ भी ड्राई करके स्टोर कर सकते हैं।

“हमें आज घरेलू स्तर के उद्यमों के बारे में सोचना चाहिए और सोलर ड्रायर की तकनीक ऐसी है जिसमें आप कई तरह से कमा सकते हैं। अगर आप मैकेनिक हैं तो सोलर ड्रायर बनाकर बेच सकते हैं। अगर आप किसान हैं तो आप सोलर ड्रायर बनवाकर छोटे स्तर पर प्रोसेसिंग शुरू कर सकते हैं। यह तरह से फायदेमंद है,” मनोज ने बताया।

अधिक जानकारी के लिए आप वीडियो देख सकते हैं:

कवर फोटो


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

_tbi-social-media__share-icon