in

बहुत आसान है नारियल का पौधा उगाना, बस फॉलो करें ये स्टेप्स

नारियल से पौधा लगाते समय ध्यान रखें कि इसकी आँख को कोई नुकसान न पहुंचे क्योंकि इसी में से नए अंकुर फूटते हैं!

नारियल को हमारे यहाँ बहुत-से कामों में इस्तेमाल में लिया जाता है। कच्चा नारियल का पानी और मलाई का कोई जवाब नहीं तो वहीं थोड़ा सख्त छिलके वाला नारियल, हर शुभ काम में इस्तेमाल होता है। और फिर इसके सूखने के बाद, इससे नारियल पाउडर आदि बनाया जाता है।

दक्षिण भारत में तो शायद आपको हर एक घर में नारियल का पेड़ मिले और वहां इसकी खेती भी होती है। उत्तर भारत में भी इसे लगाया जा सकता है। आप अपने घर में या फिर आसपास कहीं भी खुली जगह में इसे लगा सकते हैं। नारियल का पेड़ आप पूजन वाले नारियल से उगा सकते हैं।

बहुत ही आसान स्टेप्स हैं नारियल का पौधा उगाने के लिए, जो अगर आप सही तरह से फॉलो करें तो आपको सफलता अवश्य मिलेगी।

ऐसे उगाएं नारियल का पौधा:

1 – सबसे पहले एक अच्छा पानी से भरा हुआ नारियल लीजिये, आकार में थोड़ा बड़ा हो।

2- अब उस नारियल की सभी जटाएं/छिलके निकाल दीजिये, ध्यान रखिये की नारियल की आंख को कोई नुकसान न पहुचे।

Grow Coconut Plant
Take a Coconut and remove all the coir from it

3- अगर आप नारियल को हमेशा पॉट की मिट्टी से बाहर रखना चाहते है तो उसको किसी फ़ाइल या कानश या सैंड पेपर/ रेगमाल से घिस के चिकना कर लीजिए। और अगर नही तो इस स्टेप को स्किप कर सकते है।।। नारियल को पॉट से बाहर सिर्फ बोन्साई बनाने वाले रखते है।

Grow Coconut Plant

4 – अब एक बकेट में गुनगुना पानी लीजिये ओर उसमे इस नारियल को डूबा के रख दीजिए। चूँकि नारियल पानी मे तैरता है इसलिए आपको कोई वजन रखना होगा ताकि नारियल नीचे बैठा रहे। नारियल को कम से कम 4 से 5 दिन तक पानी मे रखना है। और ध्यान रखना है कि नारियल की आंखे ऊपर की ओर रहे। ऐसे तो पानी बदलने की आवश्यकता नही है पर अगर पानी मे लार्वा हो जाये तो बदल सकते है। पानी गुनगुना होना चाहिए ज्यादा गर्म नही।

Put it in lukewarm water

5 – 4 से 5 दिनों के बाद आप देखेगे की नारियल का साइज थोड़ा बढ़ गया है और उसका कलर भी डार्क हो गया है। बस अब ये नेक्स्ट स्टेप के लिए तैयार हैं।

6 – अब इस नारियल को किसी कटोरी पर रख के किसी एयरटाइट पॉलिथीन में रख दीजिए। और कटोरी में ओर पॉलिथीन में थोड़ा पानी डाल लीजियेगा।

Put it on a bowl filled with water

7 – 30 से 45 दिन बाद आपको किसी एक आंख में से एक छोटा सा वाइट रुट निकलता हुआ दिखेगा। अभी इसको ओर ऐसे ही रहने देना हैं।

8 – जब तक ये रुट 4 से 5 इंच का न हो जाये इसको पॉट में शिफ्ट नही करना है। और हाँ जब पॉलिथीन में रखा हो तो इसको ज्यादा हिलाना डुलाना नही है। नहीं तो इसके अंकुरित होने की संभावना कम हो जाएगी।

Promotion
Banner
Put this coconut and bowl in an airtight polybag filled with some water.

9 – जब आपको लगे कि रुट 4 से 5 इंच की हो गयी है या ओर एक दो रुट आ गयी है तो आप इसे पॉट में शिफ्ट कर सकते है।

10 – पॉट में आप 60% रिवर सैंड (रेत) ओर 30% गार्डन साइल (दोमट मिट्टी) और 10% गोबर खाद ले कर इसको लगा दीजिये। कोकोपीट थोड़ा ले सकते है पर ज्यादा नही। नारियल को मिट्टी में पानी ठहरने की जरूरत नहीं होती है।

11 – अगर बोन्साई जैसे ग्रो करना चाहते है तो किसी कटी हुई प्लास्टिक की बोतल की सहायता से पॉट से ऊपर रख के लगा सकते है।

Put it in a pot

12 – अगर बारिश के अलावा किसी ओर मौसम में लगा रहे है तो गमले को किसी एयरटाइट पॉलिथीन से कवर कर दीजिए पहली बार अच्छे से पानी देकर।

13 – अगर लगता है कि पानी सूख रहा है गमले का तो गमले में नीचे ट्रे रख के पानी दीजिये। बारिश में जरूरत नही है मौसम में वैसे ही नमी रहती है।

14 – स्टेप 12 में जो पॉलिथीन लगाई है उसको जब तक नही निकलना है जब तक कि नई शूट न निकल आये और ये 5से 6 इंच की न हो जाये।

15 – गर्मी के दिनों में मल्चिंग कर दीजिए ताकि गमले की मिट्टी में नमी रहे।

Grow Coconut Plant
Coconut Plant

16 – मेरे पहले 3 नारियल मे से 2 अंकुरित हुए थे और ये एक अभी 4 से 5 दिन पहले लगाया है। समय समय पर आपको अपडेट देता रहुगा इसकी।

17 – नारियल उगाना बहुत धैर्य का काम है इसलिए प्राम्भिक असफलता पर निराश न हो, लगे रहे। सफलता अवश्य मिलेगी। मेरा भी पहला प्रयास असफल रहा था। पर उसके बाद के सभी सफल।

एक बात और अगर आप नारियल को सीधा रखते है तो मतलब आंखे ऊपर की तरफ़ तो नारियल कभी खराब नही होगा।

लेखक: मनीष शर्मा 


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

Promotion
Banner

देश में हो रही हर अच्छी ख़बर को द बेटर इंडिया आप तक पहुँचाना चाहता है। सकारात्मक पत्रकारिता के ज़रिए हम भारत को बेहतर बनाना चाहते हैं, जो आपके साथ के बिना मुमकिन नहीं है। यदि आप द बेटर इंडिया पर छपी इन अच्छी ख़बरों को पढ़ते हैं, पसंद करते हैं और इन्हें पढ़कर अपने देश पर गर्व महसूस करते हैं, तो इस मुहिम को आगे बढ़ाने में हमारा साथ दें। नीचे दिए बटन पर क्लिक करें -

₹   999 ₹   2999

‘बांस एक, उपयोग अनेक:’ बांस उगाइये, बांस से बनाइए, बांस में पकाइए और बांस को भी खाइए

घर से ही शुरू होती है बच्चों की पहली पाठशाला इसलिए ध्यान रखें ये बातें