ऑफर सिर्फ पाठकों के लिए: पाएं रू. 200 की अतिरिक्त छूट ' द बेटर होम ' पावरफुल नेचुरल क्लीनर्स पे।अभी खरीदें
X
कोरोना से जंग जीतने के बाद भी मालिक ने नहीं रखा काम पर, तो चेन्नई पुलिस ने दिलाया काम!
कोरोना से जंग

कोरोना से जंग जीतने के बाद भी मालिक ने नहीं रखा काम पर, तो चेन्नई पुलिस ने दिलाया काम!

चेन्नई के केके नगर के एक कॉम्प्लेक्स में 10 साल से अधिक समय तक घरेलू सहायिका के रूप में काम करने वाली अम्मा इस वायरस से जूझने के बाद लगभग एक महीने तक काम पर नहीं जा सकीं। यह काम उनकी आजीविका का एकमात्र स्रोत था।

जहाँ एक ओर कोरोना वायरस से सफलतापूर्वक उबरना आजकल सबसे बड़ी खुशी है तो वहीं 50 वर्षीय राधे अम्मा के लिए यह ख़ुशी एक परेशानी का सबब बन गई। परेशानी कुछ इस कदर थी कि कोरोना से जूझने के बाद जब राधे अम्मा ठीक होकर वापस लौटीं तो उनके मालिक ने उन्हें नौकरी पर वापस रखने से साफ मना कर दिया।

चेन्नई के केके नगर के एक कॉम्प्लेक्स में 10 साल से अधिक समय तक घरेलू सहायिका के रूप में काम करने वाली अम्मा इस वायरस से जूझने के बाद लगभग एक महीने तक काम पर नहीं जा सकीं। यह काम उनकी आजीविका का एकमात्र स्रोत था।

अम्मा की दुर्दशा जल्द ही डीसीपी (टी नगर) हरि किरण तक पहुंची। वह बताते हैं, “डीसीपी अडयार के वी विक्रमण के पास एक कॉल आई जिसके जरिये किसी ने कहा कि राधे अम्मा नाम की एक महिला को कोरोना हुआ था और वह काम पर नहीं जा पाई थीं। अब जब वह ठीक हो चुकी हैं, तो भी उन्हें संक्रमण फ़ैलाने की आशंका में नहीं आने दिया जा रहा है।“

Chennai Police helps

हालाँकि चेन्नई पुलिस विभाग ने अम्मा की आर्थिक रूप से मदद करने की पेशकश की, लेकिन अम्मा ने यह कहते हुए इसे अस्वीकार कर दिया कि वह घरेलू कामगार के रूप में अपनी नौकरी पर वापस जाना चाहती हैं।

“डीसीपी बताते हैं, “वह एक अकेली महिला हैं और उनके पास कोई दूसरा सहारा नहीं है। क्योंकि केके नगर मेरे क्षेत्र में आता है, मेरे दौरे के दौरान मुझे स्थिति के बारे में बताया गया और मैं व्यक्तिगत रूप से राधे अम्मा के घर गया और उन्हें मदद का आश्वासन दिया।“

अम्मा के साथ अपनी बातचीत के बाद, किरण ने कॉम्प्लेक्स का दौरा किया और निवासियों से बात की और उनसे उन्हें वापस काम पर रखने का अनुरोध किया।

जिसके बाद उन्हें आश्वासन मिला कि जल्द ही अम्मा को कॉम्प्लेक्स में काम पर वापस रख लिया जायेगा। जब यह जानकारी राधे अम्मा को दी गई, तो वह बहुत खुश हुईं और पुलिस को धन्यवाद दिया।

यह भी पढ़ें – इलाज के लिए आने वाले 1000 से भी ज्यादा मरीजों को रोजाना फ्री में खाना बाँटता है यह छात्र

Let’s be friends :)
सब्सक्राइब करिए और पाइए ये मुफ्त उपहार
  • देश भर से जुड़ी अच्छी ख़बरें सीधे आपके ईमेल में
  • देश में हो रहे अच्छे बदलावों की खबर सबसे पहले आप तक पहुंचेगी
  • जुड़िए उन हज़ारों भारतीयों से, जो रख रहे हैं बदलाव की नींव