Search Icon
Nav Arrow

आखिर कैसे, कब और क्यों बना था गेटवे ऑफ इंडिया!

Advertisement

भारत के सबसे लोकप्रिय धरोहरों में से एक गेटवे ऑफ इंडिया (Gateway of India) की आधारशिला बम्‍बई (मुम्‍बई) के राज्‍य पाल द्वारा 31 मार्च1913 को रखी गई थी।

All pictures by – Mohitt Agrawal

Gateway of India

गेटवे ऑफ़़ इंडिया का प्रवेशद्वार असिताश्म का बना हुआ स्थापत्य है, जिसकी ऊंचाई 26 मीटर है।

Gateway of India

गेटवे ऑफ़़ इंडिया की रूपरेखा जार्ज विटेट ने तैयार की थी।

Gateway of India

इसका निर्माण किंग जार्ज और क्वीन मैरी ने 1911 में करवाया था।

इस प्रवेशद्वार के पास ही पर्यटकों के समुद्र भ्रमण हेतु नौका-सेवा भी उपल्ब्ध है।

Advertisement

Gateway of India

मुंबई के कोलाबा में स्थित गेटवे ऑफ़ इंडिया (Gateway of India) वास्तुशिल्प का चमत्कार है और इसकी ऊँचाई लगभग आठ मंजिल के बराबर है।

Gateway of India

वास्तुकला के हिंदू और मुस्लिम दोनों प्रकारों को ध्यान में रखते हुए इसका निर्माण सन 1911 में राजा की यात्रा के स्मरण निमित्त किया गया।

Bombay

गेटवे ऑफ़ इंडिया (Gateway of India) ख़रीददारों के स्वर्ग कॉज़वे और दक्षिण मुंबई के कुछ प्रसिद्द रेस्टारेंट जैसे बड़े मियाँ, कैफ़े मोंदेगर और प्रसिद्द कैफ़े लियोपोल्ड के निकट है।

Gateway of India

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे।

Advertisement
close-icon
_tbi-social-media__share-icon