in ,

झारखंड के आदिवासी किसान के बेटे ‘गोरा हो’ ने एशिया कप आर्चरी में जीता गोल्ड!

गोरा की कहानी आधुनिक युग के एकलव्य जैसी हैं! पर हमे गर्व है कि आज के एकलव्य को आगे बढ़ने का पूरा मौक़ा मिल रहा है!

झारखंड के एक आदिवासी किसान परिवार से आने वाले गोरा ने बैंकॉक में आयोजित एशिया कप स्टेज आई आर्चरी मीट में गोल्ड मेडल जीत लिया है।

इस मेडल को पाने में गोरा तीन सदस्यीय टीम का हिस्सा थे। गोरा ने अपने पार्टनर आकाश और गौरव के साथ मिलकर यह उपल
ब्धि हासिल की। इन तीनों खिलाड़ियों ने मंगोलिया को हराकर प्रतियोगिता में पहला स्थान हासिल किया।

शेयर करे

Written by मानबी कटोच

मानबी बच्चर कटोच एक पूर्व अभियंता है तथा विप्रो और फ्रांकफिंन जैसी कंपनियो के साथ काम कर चुकी है. मानबी को बचपन से ही लिखने का शौक था और अब ये शौक ही उनका जीवन बन गया है. मानबी के निजी ब्लॉग्स पढ़ने के लिए उन्हे ट्विटर पर फॉलो करे @manabi5

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

वरिष्ठ कवि के. डी शर्मा और प्रमोद तिवारी को विनम्र श्रधांजलि!

किसान लंबी यात्रा के दौरान किसानों ने कुछ ऐसे जुगाड़ से किया मोबाइल चार्ज