in

एसी बिल को कम करने के 6 आसान उपाय और जानिए इस लॉकडाउन में पैसे बचाने का तरीका!

क्या गर्मी से राहत पाने के लिए आप पूरे दिन एसी चलाते हैं? अगर हां, तो इसे अपनी जेब पर भारी न पड़ने दें। ये कुछ आसान से टिप्स आपको पैसे के साथ ही ऊर्जा की बर्बादी कम करने में मदद कर सकते हैं! #GreenLifeHacks

जैसे-जैसे गर्मी और उमस बढ़ती जाती है फिर एसी से ही राहत मिल पाती है। लेकिन क्या गर्मी के दिनों में बिजली के बिल और ऊर्जा के फिजूलखर्ची को कम करने का कोई आसान तरीका है?

जी हां, बिल्कुल है, यहां हम 6 टिप्स बता रहे हैं जिन्हें आप फॉलो कर सकते हैं:

1. सही डिफॉल्ट टेंपरेचर सेट करें

Lower Your AC Bills

इस साल की शुरुआत में ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी (बीईई) ने एसी निर्माताओं को अपने उपकरणों के डिफॉल्ट टेम्परेचर को 24 ° C पर रखना अनिवार्य कर दिया था। इस आदेश से पहले डिफॉल्ट टेम्परेचर 20 डिग्री था।

शोध से पता चलता है कि हर एक डिग्री तापमान बढ़ाने पर लगभग 6 फीसदी बिजली की बचत होती है। आप एसी का तापमान जितना कम रखेंगे उसके कंप्रेशर्स को उतना अधिक काम करना पड़ेगा और आपके बिजली का बिल बढ़ता जाएगा।

इसलिए यदि आप एसी को उसके डिफॉल्ट तापमान पर रखते हैं तो इससे आप 24 फीसदी बिजली बचा सकते हैं। बेशक, आप अभी भी अपनी पसंद के अनुसार तापमान को कम कर सकते हैं।

2. 18 °C के बजाय इसे 24 °C पर रखें

यदि आप दिल्ली, चेन्नई, मुंबई या बेंगलुरु जैसे शहरों में रह रहे हैं, जहां दिन का औसत तापमान 34-38 ° C के बीच रहता है तो अपने AC को पहले से ही 10 डिग्री कम तापमान पर सेट करके राहत महसूस कर सकते हैं। साथ ही, हमारे शरीर का तापमान 36-37 डिग्री के बीच रहता है, इसलिए इससे कम तापमान का कोई भी कमरा हमें स्वाभाविक रूप से ठंडा महसूस होता है। हम जानते हैं कि एसी का प्रत्येक डिग्री तापमान कम करने पर हम 6 प्रतिशत अधिक बिजली का उपभोग करते हैं। इसलिए एसी के तापमान को 18 ° C से बढ़ाकर 23-24 ° C के आसपास रखने की आदत डालें। आपको जल्द ही लगने लगेगा कि इस तापमान पर भी आपका घर पूरी तरह से ठंडा हो गया है।

3. कमरे को बंद रखें और अन्य उपकरणों को बंद करके बिजली बचाएं

अगर एयर-कंडीशनर की बात करें तो सिर्फ कमरे का दरवाजा बंद रखना ही समझदारी नहीं है। बल्कि खिड़कियों को भी बंद रखना चाहिए ताकि ठंडी हवा कमरे से बाहर न निकले। पर्दे भी खींच दें ताकि धूप कमरे में प्रवेश न करे और एसी पर लोड न बढ़े।

फ्रिज, टीवी और कंप्यूटर जैसे भारी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बहुत अधिक गर्मी उत्पन्न करते हैं जिससे एसी सही तरीके से काम नहीं करता है। एसी चलाने से पहले इन उपकरणों को बंद कर दें। कमरे को थोड़ी देर ठंडा होने दें फिर इन उपकरणों को चला सकते हैं। इसके साथ ही घर के फर्नीचर को इस तरह व्यवस्थित करें जिससे एयरवेंट ब्लॉक ना हों।

Promotion
Banner

4. बिजली बचाने के लिए स्विच ऑन और स्विच ऑफ करें

Lower Your AC Bills
Source: Air-Conditioner/ Facebook.

क्या आप कभी कंपकंपी लगने से उठे हैं और आपको एसी बंद करना पड़ा है? ऐसा शायद इसलिए होता है क्योंकि एयर कंडीशनर ने आपके कमरे को रात भर में काफी ठंडा कर दिया है। ऊर्जा की बचत करने और आराम से रहने का एक तरीका यह है कि इसे रात में बंद कर दिया जाए। खासकर यदि आप पूरे दिन एसी चला रहे हैं तो आपको रात भर चलाने की आवश्यकता नहीं है।

यदि आप वातानुकूलित कमरे में लंबे समय तक रहते हैं तो इस टिप्स को आजमाएं। कुछ घंटों तक इसे चालू रखें और फिर एक या दो घंटे के लिए बंद कर दें। कमरा काफी ठंडा रहेगा और इससे बिजली की भी बचत होगी।

5. फैन + एसी = कम ऊर्जा की खपत

जब एसी चल रहा हो तो सीलिंग फैन को चालू रखें। इन्हें एक साथ चालू रखने से ये कमरे को हवादार रखते हैं और सभी कोनों में ठंडी हवा पहुंचती है। साथ ही आपको तापमान कम नहीं रखना पड़ेगा।

कम ऊर्जा का उपयोग करके कमरे को पर्याप्त ठंडा रखने के लिए पंखा चालू करें और अपने कमरे में गर्म हवा को बाहर निकलने दें और फिर एसी चालू करें। 

6. नियमित रूप से सर्विसिंग और सफाई से बिजली बचती है

जब एसी के फिल्टर में गंदगी जमा हो जाती है तो ठंडी हवा कमरे तक बहुत मुश्किल से पहुंचती है। गंदे फिल्टर को बदलकर नया लगाएं। इससे एसी की ऊर्जा की खपत 5-15 प्रतिशत कम हो जाती है। साथ ही यह डिवाइस को खराब होने या बार-बार की मरम्मत से भी बचाता है।

यह भी पढ़ें: आटे और गुड से बनी क्रॉकरी, इनमें खाना खाइए और बाद में इन्हें भी खा जाइये!

मूल लेख: तन्वी पटेल


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है, या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हो, तो हमें hindi@thebetterindia.com पर लिखें, या Facebook और Twitter पर संपर्क करें। आप हमें किसी भी प्रेरणात्मक ख़बर का वीडियो 7337854222 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं।

Promotion
Banner

देश में हो रही हर अच्छी ख़बर को द बेटर इंडिया आप तक पहुँचाना चाहता है। सकारात्मक पत्रकारिता के ज़रिए हम भारत को बेहतर बनाना चाहते हैं, जो आपके साथ के बिना मुमकिन नहीं है। यदि आप द बेटर इंडिया पर छपी इन अच्छी ख़बरों को पढ़ते हैं, पसंद करते हैं और इन्हें पढ़कर अपने देश पर गर्व महसूस करते हैं, तो इस मुहिम को आगे बढ़ाने में हमारा साथ दें। नीचे दिए बटन पर क्लिक करें -

₹   999 ₹   2999

Written by अनूप कुमार सिंह

अनूप कुमार सिंह पिछले 6 वर्षों से लेखन और अनुवाद के क्षेत्र से जुड़े हैं. स्वास्थ्य एवं लाइफस्टाइल से जुड़े मुद्दों पर ये नियमित रूप से लिखते रहें हैं. अनूप ने कानपुर विश्वविद्यालय से हिंदी साहित्य विषय में स्नातक किया है. लेखन के अलावा घूमने फिरने एवं टेक्नोलॉजी से जुड़ी नई जानकारियां हासिल करने में इन्हें दिलचस्पी है. आप इनसे anoopdreams@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं.

ज़िन्दगी की पाठशाला: न कोई कोर्स, न सिलेबस, गाँव के कारीगर और किसान हैं शिक्षक!

मोहम्मद की छत पर मिलेंगे 400+ पेड़-पौधे, वो भी पुराने जूते, जींस और टूटे बर्तनों में!