in

नकली नोटों के झांसे से बचे; ऐसे पहचाने नए 2000 व 500 के असली नोटों को!

भी हाल ही के दिनों में चाहे वह सोशल मीडिया हो या आपके पास के चाय की टपरी हर जगह एक ही चर्चा चल रही थी और वह थी कि जब एक आदमी दिल्ली में एटीएम से पैसे निकालने गया तो वहाँ एटीएम से निकले 2,000 के 4 नकली नोट। ये नकली नोट आकार और रंग में तो असली नोटों जैसे ही थे परंतु ना तो इन पर आरबीआई की मुहर लगी थी और ये ‘चिल्ड्र्न बैंक ऑफ इंडिया’ द्वारा जारी किए गए थे।

देखते ही देखते यह खबर पूरे देश में चर्चा का विषय बन गयी और हमारे देश के कई नागरिकों ने इस बात को लेकर हमारे केन्द्रीय बैंक द्वारा जारी किए गए नए नोटों की विश्वसनीयता को लेकर चिंता जताई है।

ऐसे में हम आपके लिए लाए हैं कुछ ऐसी जानकारी जिससे आप पता लगा सकते हैं कि आपके हाथ में जो नोट हैं वह असली है या नकली।

ऐसे पहचाने 2,000 के नोट को:

  1. 2000 के नोट का आकार 66 मिमी * 166 मिमी का है।
  2. एक सबसे सही तरीका यह है कि जब आप इस नोट को प्रकाश के सामने रखेंगे तो इस नोट में बायीं ओर नीचे की तरफ लम्बाई में 2,000 लिखा होगा वहीं बायीं और नोट को 45 डिग्री के कोण पर देखने पर क्षितिज के समानान्तर अंको में 2,000 लिखा नज़र आएगा।
  3. अगर कोई दृष्टि बाधित व्यक्ति इस नए नोट को पहचानना चाहें तो वे इस पर अपनी उंगलियों पर इसके संकेत महसूस कर सकते है, गांधी जी व अशोक स्तंभ की छपाई नोट पर उभरी हुयी महसूस होती है। नोट के दोनों कोनो पर 7 ब्लीड लाइन है जो उभरी हुयी है।
  4. पुराने नोटो की तरह ही इसमें भी सिक्योरिटी थ्रेड का इस्तेमाल किया गया है जिस पर भारत, आरबीआई व अंको में 2,000 लिखा है जो कोण बदलकर देखने पर रंग बदलता है।

 

Promotion
Banner

ऐसे करे 500 के नोट की पहचान:

  1. 500, के नोट का आकार 63 मिमी * 150 मिमी रखा गया है।
  2. दृष्टि बाधित व्यक्तियों के लिए नोट के दायें तरफ एक गोले में 500 लिखा हुआ है जो उभरा हुआ है।
  3. इस नोट में 5 उभरी लकीरे हैं जिनका उभार महसूस किया जा सकता है।

 


 

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें contact@thebetterindia.com पर लिखे, या Facebook और Twitter (@thebetterindia) पर संपर्क करे।

Promotion
Banner

देश में हो रही हर अच्छी ख़बर को द बेटर इंडिया आप तक पहुँचाना चाहता है। सकारात्मक पत्रकारिता के ज़रिए हम भारत को बेहतर बनाना चाहते हैं, जो आपके साथ के बिना मुमकिन नहीं है। यदि आप द बेटर इंडिया पर छपी इन अच्छी ख़बरों को पढ़ते हैं, पसंद करते हैं और इन्हें पढ़कर अपने देश पर गर्व महसूस करते हैं, तो इस मुहिम को आगे बढ़ाने में हमारा साथ दें। नीचे दिए बटन पर क्लिक करें -

₹   999 ₹   2999

देहरादून में एक स्कूल के माध्यम से 1500 खास बच्चों की जिंदगी संवार रही है ये दो सहेलियां!

पेशे से सीए रह चुकी देविका, पशुओं के संरक्षण के लिए बना रही है चमड़ा-मुक्त जूते!